Monday, April 22, 2024
spot_img
Homeप्रेस विज्ञप्तिऔरंगाबाद के डॉ. हेडगेवार हॉस्पिटल को 'सबसे प्रतिबद्ध गैर सरकारी संगठन '...

औरंगाबाद के डॉ. हेडगेवार हॉस्पिटल को ‘सबसे प्रतिबद्ध गैर सरकारी संगठन ‘ का अवार्ड मिला

मुंबई।
जाने मने संगठन बी ए वी पी द्वारा संचालित डॉक्टर हेडगेवार हॉस्पिटल को ‘सबसे प्रतिबद्ध गैर सरकारी संगठन ‘ का अवार्ड कॉर्पोरेट सोशल रिस्पॉन्सिबिल्टी सम्मिट एंड अवार्ड्स 2023 के सातवें अधिवेशन में दिया गया। मुंबई में रखे गए ये अवार्ड्स सबसे ज्यादा प्रतिष्ठित और सम्माननीय हैं। कॉर्पोरेट सोशल रिस्पॉन्सिबिल्टी के अंतर्गत सभी कॉर्पोरेट इस सम्मान और अवार्ड की अपेक्षा रखते हैं।

“ये सब टीम वर्क और सभी डॉक्टर्स, कार्यकर्ता एवं सहकर्मियों के सतत प्रयास के कारण ही सम्भव हो पाया है। मैं अपने सी एस आर परियोजना के उन सभी लाभार्थियों का भी आभारी हूँ जो विकास की संभावनाओं को समझ कर उसे अपने लाभ के लिए इस्तेमाल कर सके हैं,” डॉ अनंत पांधारे, हेडगेवार हॉस्पिटल के मेडिकल डायरेक्टर ने कहा।

डॉ बाबासाहेब अम्बेडकर वैद्यनाथ प्रतिष्ठान (बी ए वी पी ) एक चैरिटेबल ट्रस्ट है जो भारत के आर्थिक रूप से कमजोर वर्ग को अच्छी स्वास्थ्य सेवाएं उनकी सामर्थ्य के अनुसार उपलब्ध करती है।

1989 में जो अस्पताल 10 बिस्तर वाले अस्पताल के रूप में कुछ सेवाभाव वाले डॉक्टर्स के द्वारा शुरू हुआ था वह आज तीन परत वाला अस्पताल बन चुका है जिसमे अब तक 90 लाख से ज्यादा मरीजों का इलाज हो चुका है, जिसके नीचे एशिया का सबसे बडे ब्लड बैंक के साथ नर्सिंग कॉलेज चल रहा है, और जिसमे १०० से अधिक चिकित्स्क सेवार्थ हैं। यही नहीं वे सैंकड़ों बस्तियों और गाँवो में सामजिक विकास के कई कार्यक्रम चला रहे हैं। इसके अंतर्गत स्वास्थ्य, स्त्री सशक्तता, शिक्षा, प्राकृतिक संसाधनों का सही उपयोग, कार्य कौशल का विकास तथा बहुत सारे अन्य उपयोगी योजनाएं सम्मिलित हैं।

बी ए वी पी अब औरंगाबाद में एक मेडिकल कॉलेज खोलने की अपनी योजना का आरम्भ करने की दिशा की ओर बढ़ रहा है। बी ए वी पी के अंतर्गत औरंगाबाद शहर में इस समय डॉक्टर हेडगेवार हॉस्पिटल, बाबासाहेब अम्बेडकर मेडिकल रिसर्च सोसाइटी, दत्ताजी भाले ब्लड बैंक, सावित्री बाई फुले महिला एकात्म समाज मंडल और डॉक्टर हेडगेवार नर्सिंग कॉलेज चल रहा है। इसके अतिरिक्त असम में स्वर्गदेओ सिउ- का -फ मुलती स्पेशलिटी अस्पताल है और नासिक में श्री गुरु रुग्णालय है।

image_print

एक निवेदन

ये साईट भारतीय जीवन मूल्यों और संस्कृति को समर्पित है। हिंदी के विद्वान लेखक अपने शोधपूर्ण लेखों से इसे समृध्द करते हैं। जिन विषयों पर देश का मैन लाईन मीडिया मौन रहता है, हम उन मुद्दों को देश के सामने लाते हैं। इस साईट के संचालन में हमारा कोई आर्थिक व कारोबारी आधार नहीं है। ये साईट भारतीयता की सोच रखने वाले स्नेही जनों के सहयोग से चल रही है। यदि आप अपनी ओर से कोई सहयोग देना चाहें तो आपका स्वागत है। आपका छोटा सा सहयोग भी हमें इस साईट को और समृध्द करने और भारतीय जीवन मूल्यों को प्रचारित-प्रसारित करने के लिए प्रेरित करेगा।

RELATED ARTICLES
- Advertisment -spot_img

लोकप्रिय

उपभोक्ता मंच

- Advertisment -spot_img

वार त्यौहार