आप यहाँ है :

नवरात्र के दौरान डाक विभाग ने वाराणसी परिक्षेत्र में 188 गाँवों को बनाया ‘सम्पूर्ण सुकन्या समृद्धि ग्राम’

प्रधानमंत्री के ‘बेटी बचाओ, बेटी पढ़ाओ’ अभियान को डाक विभाग दे रहा मूर्त रूप, 188 गाँवों में सभी सुयोग्य बेटियों के खोले सुकन्या समृद्धि खाते

नवरात्र पर्व के दौरान प्रधानमंत्री श्री नरेन्द्र मोदी जी के संसदीय क्षेत्र वाराणसी में डाक विभाग ने पहल करते हुए नई इबारत लिखी है। प्रधानमंत्री श्री मोदी द्वारा ‘बेटी बचाओ, बेटी पढ़ाओ’ के तहत आरम्भ ‘सुकन्या समृद्धि योजना’ में तमाम कन्याओं के खाते खुलवाकर उनका भविष्य सुनिश्चित करने की पहल करते हुए नवरात्र पर्व की सार्थकता सिद्ध की है। वाराणसी परिक्षेत्र के पोस्टमास्टर जनरल श्री कृष्ण कुमार यादव की पहल पर नवरात्र के दौरान वाराणसी डाक परिक्षेत्र के 188 गाँवों में 10 साल तक की सभी सुयोग्य कन्याओं के सुकन्या खाते खुलवाकर उन्हें ‘सम्पूर्ण सुकन्या समृद्धि ग्राम’ बनाया गया है। इसी क्रम में वाराणसी के तपोवन शाखा डाकघर में आयोजित कार्यक्रम में पोस्टमास्टर जनरल श्री कृष्ण कुमार यादव ने तमाम सुकन्याओं को पासबुक के साथ उपहार देकर सम्मानित किया। प्रवर डाक अधीक्षक सुमीत कुमार गाट, डाक अधीक्षक राम मिलन, महंत दीन बंधु दास जी महराज, पार्षद वंदना सिंह, सहायक निदेशक शम्भू राय ने भी इन सुकन्याओं के सुखद भविष्य की कामना की।

इस अवसर पर अपने संबोधन में पोस्टमास्टर जनरल श्री कृष्ण कुमार यादव ने कहा कि भारतीय संस्कृति में नारी शक्ति का स्थान अहम है। सुकन्या समृद्धि योजना सिर्फ निवेश का ही एक माध्यम नहीं है, बल्कि यह बालिकाओं के उज्ज्वल व समृद्ध भविष्य से भी जुड़ा हुआ है। वाराणसी परिक्षेत्र में अब तक 1 लाख 72 हजार से ज्यादा बालिकाओं के सुकन्या समृद्धि खाता खुलवाये जा चुके हैं। श्री यादव ने कहा कि,

इस योजना के आर्थिक के साथ-साथ सामाजिक आयाम भी महत्वपूर्ण हैं। इसमें जमा धनराशि पूर्णतया बेटियों के लिए ही होगी, जो उनकी शिक्षा, कैरियर एवं विवाह में उपयोगी होगी। यह योजना बालिकाओं के सशक्तिकरण के द्वारा भविष्य में नारी सशक्तिकरण को भी बढ़ावा देगी।

वाराणसी पूर्वी मंडल के प्रवर अधीक्षक डाकघर श्री सुमीत कुमार गाट ने कहा कि, किसी भी डाकघर में न्यूनतम 250 ₹ से दस साल तक की बालिकाओं का सुकन्या समृद्धि खाता खुलवाया जा सकता है। इसमें एक वित्तीय वर्ष में न्यूनतम 1,000 और अधिकतम डेढ़ लाख रूपये जमा किये जा सकते हैं। वहीं, वाराणसी पश्चिमी मंडल के अधीक्षक डाकघर श्री राम मिलन ने बताया कि, सुकन्या की उम्र 18 वर्ष होने पर जमा राशि का 50 प्रतिशत व सम्पूर्ण राशि 21 वर्ष पूरा होने पर निकाली जा सकती है। सहायक निदेशक श्री शम्भू राय ने बताया कि सुकन्या समृद्धि योजना में ब्याज दर 7.6 प्रतिशत है और जमा धनराशि में आयकर छूट का भी प्रावधान है।

तपोवन क्षेत्र की सभासद सुश्री वंदना सिंह ने कहा कि नवरात्र पर्व के दौरान बेटियों के हित में डाक विभाग की यह अनूठी पहल स्तुत्य है। इससे बालिकाओं का भविष्य उज्ज्वल व सुरक्षित होगा।

तपोवन आश्रम के महंत श्री दीन बंधु दास जी महराज ने कहा कि, नवरात्र में कन्या पूजन की परंपरा रही है और इस शुभ पर्व के दौरान डाक विभाग ने इन सुकन्याओं के खाते खुलवाकर उन्हें और भी समृद्ध बनाया है।

इस अवसर पर प्रवर डाक अधीक्षक श्री सुमीत कुमार गाट, डाक अधीक्षक श्री राम मिलन, महंत श्री दीन बंधु दास जी महराज, पार्षद सुश्री वंदना सिंह, सहायक निदेशक श्री शम्भू राय, सहायक अधीक्षक आरके चौहान, डाक निरीक्षक ब्रजेश कुमार शर्मा, एसपी गुप्ता, जनसंपर्क निरीक्षक अरविंद पांडेय, ब्रांच पोस्टमास्टर श्यामलाल प्रसाद, अनिल कुमार, मुंशी राम, चंदन तिवारी सहित तमाम लोग उपस्थित रहे।

image_pdfimage_print


सम्बंधित लेख
 

Back to Top