आप यहाँ है :

अब डाकघर के जरिये मिलेगा रोजगार

बेरोजगार युवाओं के लिए पहल करते हुए पोस्ट ऑफिस अब उन्हें रोजगार उपलब्ध कराने की सहूलियत भी प्रदान करेगा। बेरोजगार युवकों के पंजीकरण हेतु डाकघरों में शीघ्र ही रोजगार पंजीयन केंद्र खोले जायेंगे। लोगों को इसके लिए अब सेवायोजन या रोजगार कार्यालय के चक्कर नहीं लगाने होंगे। राजस्थान पश्चिमी क्षेत्र, जोधपुर के निदेशक डाक सेवाएँ कृष्ण कुमार यादव ने बताया कि इसके लिए भारतीय डाक विभाग एवं श्रम व रोजगार मंत्रालय ने एक एमओयू पर हस्ताक्षर किये हैं, जिसके तहत डाकघर आने वाले दिनों में रोजगार पंजीकरण केंद्र के रूप में भी कार्य करेंगे। प्रधानमंत्री के निर्देश पर गवर्नेंस में नवाचार आइडिया के तहत विभिन्न विभागों के सचिवों की कमेटी के सुझाव के आधार पर इसे लागू किया जा रहा है।

डाक निदेशक कृष्ण कुमार यादव ने बताया कि बेरोजगार युवक डाकघर में जाकर नेशनल कैरियर सर्विस (www.ncs.gov.in) ऑनलाइन पोर्टल पर अपना पंजीकरण करवा सकेंगे। डाकघरों में नए बेरोजगार पंजीकरण हेतु 15 रुपए, पंजीकृत प्रोफ़ाइल को अपडेट करवाने हेतु 5 रुपए और आवेदन-पत्र के प्रिंटआउट के लिए 10 रुपए लगेंगे। श्री यादव ने बताया कि पंजीकरण होने के पश्चात डाकघर द्वारा एक प्रिन्टआउट दिया जाएगा जिसमें रजिस्ट्रेशन नंबर और अन्य जानकारी दर्ज होगी। पंजीकरण हेतु किसी भी प्रकार के दस्तावेज बेरोजगार युवक-युवतियों को नहीं देने होंगे।

निदेशक डाक सेवाएँ कृष्ण कुमार यादव ने बताया कि यह पोर्टल रोजगार के इच्छुक, रोजगार प्रदाता, स्किल प्रवाइडर्स, कैरियर काउंसलर इत्यदि सभी के सम्बन्ध में जानकारी उपलब्ध कराती है। इस पोर्टल पर पंजीकृत होने के बाद बेरोजगार युवक 52 सेक्टरों में उपलब्ध 3,000 तरह के व्यवसायों की अपडेट जानकारी सकेंगे। पोर्टल के जरिये यह जानकारी भी मिलेगी कि किस कोर्स के लिए कौन सा सैक्टर ठीक होगा तथा रोजगार के अवसर कहाँ उपलब्ध है। इसके जरिये स्किल डेवलेपमेंट तथा कैरियर विकल्प बताए जायेंगे। श्री यादव ने कहा कि यह पोर्टल नेट कनेक्टेड शहरी क्षेत्र तथा नॉन कनेक्टेड ग्रामीण क्षेत्रों में बेरोजगारों के बीच सेतु का कार्य करेगी। इस सुविधा से जहाँ बेरोजगार युवकों को घर के पास ही पंजीकरण की सुविधा उपलब्ध होगी, वहीं डाक विभाग को भी आमदनी होगी।

गौरतलब है कि केंद्र सरकार के द्वारा आंध्रप्रदेश तथा तेलंगाना में 12 फरवरी, 2017 को रोजगार पंजीयन केंद्र खोलने का पायलट प्रोजेक्ट शुरू किया गया था। वहाँ मिली सफलता के बाद इसे अब राजस्थान सहित देश के नौ डाक सर्किल के प्रधान डाकघरों में आरंभ किया जाएगा। डाक निदेशक कृष्ण कुमार यादव ने बताया कि इसके लिए स्टाफ को ट्रेनिंग दी जा चुकी है और इसके शुभारंभ की औपचारिक तिथि आते ही सभी प्रधान डाकघरों में पंजीकरण का कार्य आरंभ कर दिया जाएगा। राजस्थान के साथ ही उत्तर प्रदेश, बिहार, महाराष्ट्र, मध्यप्रदेश, छत्तीसगढ़, गुजरात, तमिलनाडु, जम्मू कश्मीर तथा उत्तर पूर्वी राज्य के प्रधान डाकघरों में रोजगार पंजीयन केंद्र खोले जायेंगे। शेष राज्यों में दूसरे चरण में यह केंद्र खोले जाएंगे।

Print Friendly, PDF & Email


सम्बंधित लेख
 

ईमेल सबस्क्रिप्शन

PHOTOS

VIDEOS

Back to Top