आप यहाँ है :

जीवन के विभिन्न पहलुओं व विषयों पर आधारित चित्र-प्रदर्शनी ‘’क्रीसियन्ते’’ का अनावरण

नीफा छात्रों की 12वीं वार्षिक चित्र प्रदर्शनी में उभरते युवा कलाकारों के कला-कौशल को मिला मंच!!

नई दिल्ली। कला जगत में अपना हुनर दिखाने को तैयार 70 प्रतिभाशाली कलाकारों की पेंटिंग्स की प्रदर्शनी ‘‘क्रीसियन्ते’’ का आयोजन नई दिल्ली स्थित ऑल इंडिया फाईन आर्ट्स एंड क्राफ्ट सोसायटी (एआईएफएसी) में किया जा रहा है। नेशनल इंस्टीट्यूट ऑफ फाइन आर्ट्स (नीफा) द्वारा शो क्यूरेटर रेणु खेड़ा के मार्गदर्शन में आयोजित यह प्रदर्शनी ’क्रीसियन्ते’ 5 अक्टूबर तक जारी रहेगी, जिसमें लगभग 150 चित्रों का डिसप्ले किया गया है, जो संस्थान के छात्रों का कला-कौशल बखूबी दर्शाते हैं।

सात दिन तक चलने वाली इस प्रदर्शनी का अनावरण शुक्रवार की शाम भारत में पेरू के राजदूत श्री जॉर्ज जूआन कास्तनेदा मेंडेज़, पद्माभूषण श्री राम वी. सुतार, प्रो. प्रेम सिंह, कलाकार निलाद्री पॉल, नवल किशोर, नीफा की प्रबंध निदेशक रेणु खेरा व चेयरमैन सुनील खेरा ने किया।

सात दिवसीय यह कला प्रदर्शनी छात्रों द्वारा साल भर कला के प्रति उनके रुझान और कड़ी मेहनत को प्रदर्शित करती है। प्रदर्शनी में जीवन के विभिन्न पहलुओं व विषयों को पेन्टिंग का केन्द्र बनाया गया है। जहां प्रकृति, अध्यात्मिकता, आजादी, उम्मीद, खुशी जैसे विषयों के आधार पर छात्रों ने चित्र तैयार किये हैं। प्रदर्शनी का मूल उद्देश्य उभरते युवा कलाकारों को मंच प्रदान करना और उनके कला-कौशल का प्रसार करना है।

मौके पर श्री जॉर्ज जूआन कास्तनेदा मेंडेज़ ने कहा कि बहुत ही शानदार काम किया है सभी उभरते हुए कलाकारों ने, मैं बहुत प्रभावित हुआ हूं युवा कलाकारों की सोच व उनका कला-कौशल देखकर। नीफा व उनके छात्रों को शुभकामनायें देते हुए उन्होंने कहा कि इन कलाकारों को और मौके मिलने चाहिए एवम् नीफा का बहुत अच्छा प्रयास है यह प्रदर्शनी।

पदम्श्री श्री राम सुतार ने सभी छात्रों की भूरि-भूरि प्रशंसा करते हुए कहा। युवा कलाकारों का काम और ऐसी संकलित प्रदर्शनी अपने आप में अच्छा अनुभव है। यह इन सभी कलाकारों को आगे बढ़ने एवम् इनका मनोबल बढ़ाने में अहम् भूमिका निभायेंगे।

नीफा की इस 12वीं वार्षिक प्रदर्शनी के विषय में रेणु खेरा बताती हैं कि क्रिसियन्ते एक स्पैनिश शब्द है, जिसका अर्थ है ग्रोइंग या राईजिंग यानि आगे बढ़ना है। यह शो भविष्य के 70 कलाकारों के लिए एक मंच है जो कला के क्षेत्र में आगे बढ़ते हुए नाम बनाना चाहते हैं। रेणु खेरा ने बताया कि इस गु्रप शो में विभिन्न माध्यमों में कार्यों का प्रदर्शन किया गया है, जिनमें काग़ज़ पर चारकोल, कैनवास पर ऐक्रेलिक, कैनवास पर तेल, वाटर कलर का काम और मिक्स मिडियम शामिल हैं। प्रदर्शनी में प्रत्येक छात्र विभिन्न माध्यमों में तीन मूल, रचनात्मक कलाकृतियों का प्रदर्शन कर रहा है।

उन्होंने आगे बताया कि हम हर साल अपने छात्रों के लिए कला के क्षेत्र में प्रदर्शन और मंच देने के लिए प्रदर्शनियों का आयोजन करते हैं ताकि वे अपनी रचनात्मकता का प्रदर्शन कर सकें। इससे उन्हें बहुत आत्मविश्वास होता है और उन्हें अच्छे काम करने के लिए प्रोत्साहित होते हैं।

कला प्रेमियों व अन्य सभी जो कला के कायल हैं अथवा किसी भी तरह की लगन रखते हैं उनके लिए यह प्रदर्शनी 29 सितम्बर से 5 अक्टूबर तक सुबह 11 से शाम 7 बजे तक जारी रहेगी।

अधिक जानकारी के लिए कृपया संपर्क करेंः
शैलेश के नेवटियाः 9716549754, रितिका मामगेनः 7011600301, नीती अग्रवालः 8527002788



सम्बंधित लेख
 

Back to Top