आप यहाँ है :

श्रीराम जन्मोत्सव का भव्य आयोजन 1 से 10 अप्रैल तक

कोटा के सबसे पुराने 99 वर्षों से स्थापित एवं प्रितिष्ठत श्रीराम मंदिर कोटा पर एक अप्रैल से दस अप्रैल तक श्रीराम जन्म महोत्सव के भव्य आयोजन होंगे। यह मंदिर धर्म के अलावा सामाजिक सरोकार से जुड़ा हुआ है। यहां रोजाना अनेकों धर्म के लोग उपचार के लिए आते हैं।प्रेसवार्ता को सम्बोधित करते हुए अध्यक्ष ऋषि कुमार शर्मा ने कहा कि इस आयोजन में एक अप्रैल को क्षेत्र अमावस्या शुक्रवार से दिनांक 9 अप्रैल चैत्र शुक्ल अष्टमी, शनिवार तक साथ 7:00 से 11.00 बजे तक प्रतिदिन माधव सत्संग भवन, श्रीराम मंदिर कोटा जं. पर श्रीराम चरित मानस नवाहन पारायण का सामुहिक अनुष्ठान आयोजित किया जा रहा है। इस अनुष्ठान में सैकड़ो साधक भाग लेंगे। साधकों को आयोजन के उपरान्त उपहार स्वरूप अभिमंत्रित महामृत्युन्जय यंत्र संस्था द्वारा भेंट किये जायेंगे। महामंत्री परमानन्द शर्मा ने पत्रकारों जानकारी देते हुए कहा कि पूर्णाहुति 31 कुण्डीय यज्ञ नवमी 10 अप्रैल रविवार को प्रात: 8.00 बजे होगा। श्रीराम जन्मोत्सव पर सम्पूर्ण श्रीराम मंदिर में भव्य विद्युत सज्जा की जा रही है। दोपहर 12.00 बजे महाआरती, फूलमालाओं, बैंड बाजा- शहनाई वादन और आतिशबाजी के साथ प्रभू श्रीराम जी का जन्मोत्सव मनाया जायेगा।

समापति महेश वर्मा ने बताया कि अपनी स्थापना के 99 वर्षों में श्रीराम मंदिर, कोटा जं. का धार्मिक और सामाजिक सेवा के क्षेत्र से वैभवशाली स्वरूप एवं स्वर्णिम काल खण्ड रहा है। वर्तमान में श्रीराममंदिर परिसर में रजत सुसज्जित मुख्य गर्भगृह प्रभू श्रीराम, माता जानकी लक्ष्मण जी महाराज, हनुमान जी महाराज और श्री अर्थव गणपति महाराज विराजमान है, इसके अतिरिक्त मंदिर परिसर में शक्ति स्वरूपा माँ भगवती, भगवान शिव परिवार, लक्ष्मीनारायण जी शनि महाराज, गैरूनाथ महाराज इत्यादि के भी मंदिर स्थापित है। श्रीराम मंदिर अपने नियमित धार्मिक अनुष्ठानों के अतिरिका श्रीराम जन्मोत्सव, भागवत कथा, श्रीराम चरित मानस कथा, तुलसी जयन्ती समारोह धनवन्तरी जयन्ती, अन्नकूट महोत्सव, श्री कृष्ण जन्माष्टमी, डोल ग्यारस यात्रा एवं प्रत्येक पूर्णिमा एवं अमावस्या को जन सहयोग से निःशुल्क भण्डारे का आयोजन करता है। श्री राम मंदिर प्रतिवर्ष हिन्दू धर्म और भारतीय संस्कृती की शिक्षा के लिये श्रीराम चरित मानस प्रतियोगिता का भी आयोजन करता है। जिसमें सभी जाति धर्म वर्ग के हजारों परीक्षार्थी भाग लेते है। उल्लेखनीय है कि कोरोना महामारी के समय भी श्रीराम मंदिर प्रबन्ध समिति द्वारा जनसहयोग से निरन्तर 63 दिनों तक प्रतिदिन लगभग एक हजार अभावग्रस्त नागरिकों को निःशुल्क भोजन की व्यवस्था की गई।

श्रीराम जन्म महोत्सव कार्यक्रम के संयोजक दुर्गा प्रसाद अग्रवाल ने बताया कि श्रीराम जन्म महोत्सव के उपलक्ष्य में एक से दस तक स्टेशन क्षेत्र के प्रमुख बाजारों और श्री राम मंदिर मार्ग को विद्युत सज्जा एवं स्वागत द्वार, भगवा ध्वजाओं और बेनरों से सुसज्जित किया जा रहा है। श्रीराम नवमी के शुभ अवसर पर श्रीराम मंदिर परिसर में दोपहर 1.00 बजे से 5.00 बजे तक हजारों धर्मालु विशाल भण्डारे में भोजन प्रसादी गृहण करेंगे।

image_pdfimage_print


सम्बंधित लेख
 

Back to Top