Saturday, March 2, 2024
spot_img
Homeखेल की दुनियाकीट-कीस की ओर से मिनी मैराथन का भव्य आयोजन

कीट-कीस की ओर से मिनी मैराथन का भव्य आयोजन

भुवनेश्वर। 29 जनवरी को सुबह साड़े छः बजे भुवनेश्वर कीट-कीस की ओर से मिनी मैराथन स्थानीय सैण्डीटावर होटल से कीट-कीस के प्राणप्रतिष्ठाता तथा कंधमाल लोकसभा सांसद प्रो. अच्युत सामंत,रग्बी इंडिया के अध्यक्ष और बॉलीवुड अभिनेता राहुल बोस, भुवनेश्वर उत्तर के विधायक सुशांत कुमार राउत, बीएमसी मेयर सुलोचना दास, ओलंपियन दुती चांद और अनुराधा बिस्वाल, भारतीय स्प्रिंटर अमिय मल्लिक, ऑलिवुड अभिनेता सब्यसाची मिश्रा, अभिनेत्री अर्चिता साहू, डीआईजी अनिरुद्ध सिंह आदि ने हरी झण्डी दिखाकर मैराथन को रवाना किया। समर्थन में ओडिशा,भारत समेत पूरी दुनिया के लाखों लोग ‘एजुकेशन फॉर ऑल’ के लिए दौड़े।

यह मिनी मैराथन ओडिशा के 30 जिला मुख्यालयों सहित राजधानी भुवनेश्वर सहित 35 स्थानों पर आयोजित की गई, जबकि बांग्लादेश, नेपाल, श्रीलंका, कैमरून, केन्या और जिम्बाब्वे सहित भारत के 25 शहरों और दुनिया के 25 देशों में शिक्षा के समर्थन में आयोजित की गई।भुवनेश्वर में 20 हजार छात्रों, खिलाड़ियों और विभिन्न क्षेत्रों के लोगों ने इसमें हिस्सा लिया। लगभग दो किलोमीटर तक प्रतिभागियों की लंबी लाइन देखने को मिली। कीट-कीस कई सालों से मिनी मैराथन आयोजित कर रहा है। यह मिनी मैराथन पिछले दो वर्षों से कोरोना महामारी के कारण स्थगित था।

इस वर्ष का यह विशेष मिनी-मैराथन आयोजित किया गया था क्योंकि कीट डीम्ड विश्वविद्यालय,भुवनेश्वर इस वर्ष 2023 में रजत जयंती मना रहा है। इस मिनी मैराथन का आयोजन ‘एजुकेशन फॉर ऑल’ के बारे में जागरूकता पैदा करने के लिए किया गया था। यह मिनी मैराथन भुवनेश्वर के सैंडी टावर होटल के से आरंभ होकर कीट प्रांगण में संपन्न हुआ।उसके उपरांत कीट में एक समारोह आयोजित किया गया जिसको रग्बी एसोसिएशन के अध्यक्ष राहुल बोस,पूर्व विधायक प्रियदर्शी मिश्रा, और कीट डीम्ड विश्वविद्यालय की कुलपति प्रो. सस्मिता सामंत और कुलसचिव प्रो. ज्ञान रंजन महंती ने हिस्सा लिया और अपने-अपने संबोधन में कीट-कीस के प्राणप्रतिष्ठाता प्रो.अच्युत सामंत तथा कीट की पिछली 25 वर्षों की असाधारण उपलब्धियों को सराहा। कीट-कीस के प्राणप्रतिष्ठाता तथा कंधमाल लोकसभा सांसद प्रो. अच्युत सामंत ने सभी के प्रति आभार जताया।

image_print

एक निवेदन

ये साईट भारतीय जीवन मूल्यों और संस्कृति को समर्पित है। हिंदी के विद्वान लेखक अपने शोधपूर्ण लेखों से इसे समृध्द करते हैं। जिन विषयों पर देश का मैन लाईन मीडिया मौन रहता है, हम उन मुद्दों को देश के सामने लाते हैं। इस साईट के संचालन में हमारा कोई आर्थिक व कारोबारी आधार नहीं है। ये साईट भारतीयता की सोच रखने वाले स्नेही जनों के सहयोग से चल रही है। यदि आप अपनी ओर से कोई सहयोग देना चाहें तो आपका स्वागत है। आपका छोटा सा सहयोग भी हमें इस साईट को और समृध्द करने और भारतीय जीवन मूल्यों को प्रचारित-प्रसारित करने के लिए प्रेरित करेगा।

RELATED ARTICLES
- Advertisment -spot_img

लोकप्रिय

उपभोक्ता मंच

- Advertisment -spot_img

वार त्यौहार