ताजा सामाचार

आप यहाँ है :

मुख्यमंत्री देवेंद्र फडणवीस ने कहा बाबासाहेब ने वंचितों को सक्षम बनाया

मुंबई। मुख्यमंत्री देवेंद्र फडणवीस ने कहा है कि वंचितों को सक्षम बनाने के मामले में डॉ. भीमराव अंबेडकर ने समस्त विश्व में सबसे बड़ा काम किया है। उन्होंने कहा कि संविधान के माध्यम से सभी को समान अवसर देने के मामले में बाबासाहेब विश्व भर में मार्टिन लूथर से भी आगे रहे। मुख्यमंत्री मंगलवार को रेसकोर्स में मुंबई मेघवाल पंचायत के सामूहिक विवाह सम्मेलन अवसर पर बोल रहे थे। इस अवसर पर बीजेपी के वरिष्ठ विधायक मंगल प्रभात लोढ़ा ने मुख्यमंत्री का अभिनंदन किया। मंच पर राज्यसभा सांसद महंत शंभुप्रसादजी महाराज, कई साधु – संतों एवं महंतों सहित विधायक सुनिल शिंदे आदि भी उपस्थित थे।

रेसकोर्स में आयोजित इस विशाल आयोजन स्थल पर स्थापित सवरा मंडप के सत्य की डोर से मुख्यमंत्री फडणवीस ने ध्वजारोहण किया। सुबह सुबह आयोजित इस कार्यक्रम में करीब 10 हजार से भी ज्यादा लोग उपस्थित थे। विधायक लोढ़ा ने अपने वक्तव्य में मुख्यमंत्री के प्रति आभार जताते हुए कहा कि सरकार के मुखिया के रूप में मुख्यमंत्री वंचित वर्ग को आगे लाने की हर कोशिश कर रहे हैं, यह हम सभी के लिए खुशी की बात है। इस अवसर पर मुख्यमंत्री ने अनुसूचित जाति जमाती के विकास के लिए वेबसाइट का विमोचन भी किया। सामाजिक समरसता मंच की इस वेबसाइट में सरकार की विभिन्न योजनाओं का व्यापक जानकारी है।

मुख्यमंत्री ने अनुसूचित समाज के लिए सरकार के हर संभव सहयोग का आश्वासन देते हुए जाति प्रमाणपत्र में आ रही दिक्कतों के लिए नियमों में आवश्यक संशोधन की बात कही। इन्होंने कहा कि हम सभी को संविधान के माध्यम से विकास के समान अवसर मिले है, यह बाबासाहेब की देन है। इस अवसर पर मुख्यमंत्री ने बाबासाहेब आंबेडकर के लंदन आवास को महाराष्ट्र सरकार द्वारा लेने की चर्चा करते हुए मुंबई में उनके स्मारक के लिए इंदुमिल की जमीन के मामले में केंद्र के सहयोग के प्रति आभार जताया। सामाजिक समरसता मंच के तत्वावधान में आयोजित इस विशाल आयोजन को अनुसूचित एवं पिछड़े वर्ग के विकास के नए द्वार के रूप में देख जा रहा है। इस अवसर पर सभा स्थल पर सुबह 9 बजे से समरसता यज्ञ शुरू हुआ, जिसमें हजारों लोगों ने आहुति दी। सभा स्थल पर लगे करीब 30 स्टॉल पर विभिन्न सरकारी योजनाओं की जानकारी लेने के लिए अनुसूचित जाति, जनजाति एवं इतर समाज को लोगों में काफी उत्साह देखा गया। इस अवसर पर महिलाओं के लिए लगाए गए विशेष हेल्थ चेकअप कैंप में बड़ी संख्या में महिलाओं ने डाक्टरी सलाह ली। मुंबई में अनुसूचित जाति जमाती के विकास के लिए अपनी तरह का यह पहला विशाल आयोजन था।

image_pdfimage_print


सम्बंधित लेख
 

Back to Top