आप यहाँ है :

विदेशी धरती पर पाकिस्तानियों से उसने कहा, बाप बाप होता है

जर्मनी के फ्रैंकफर्ट का एक वीडियो सोशल मीडिया पर वायरल हो रहा है। जिसमें एक भारतीय कुछ पाकिस्‍तानियों और खालिस्‍तान समर्थकों का अकेले सामना करता नजर आ रहा है।

इस वीडियो में एक अकेला भारतीय पाकिस्‍तानियों से भिड़ा हुआ है और उनकी बोलती बंद कर दी है। ये घटना है जर्मनी के फ्रैंकफर्ट की और मौका था भारत के स्‍वतंत्रता दिवस यानी 15 अगस्‍त का। पाकिस्‍तान और खालिस्‍तान के समर्थक कुछ उपद्रवी भारत और प्रधानमंत्री नरेंद्र मोदी के विरोध में आपत्तिजनक नारेबाजी कर रहे थे। वहां मौजूद एक भारतीय से यह सहन नहीं हुआ और वह उनसे भिड़ गए। उस शख्‍स का नाम है प्रशांत वेंगुर्लेकर और वह फ्रैंकफर्ट में ही रहते हैं।

प्रशांत के मुताबिक, वह फ्रैंकफर्ट में स्‍वतंत्रता दिवस मनाने गए थे जहां उन्‍हें कुछ लोग भारत के खिलाफ प्रदर्शन करते दिखे। प्रशांत ने कुछ देर तक तो वीडियो रिकॉर्ड किया, जिसके बाद उन्‍होंने गालियां देना शुरू कर दिया। पाकिस्‍तानी लोग लगातार भारत तथा पीएम मोदी के लिए काफी बुरे शब्‍दों का प्रयोग कर रहे थे। एक समय तो उन्‍होंने प्रशांत के साथ हाथापाई तक करने की कोशिश की। अकेले होने के बावजूद प्रशांत डटे रहे और कहा कि ‘बाप बाप होता है।’ उन्‍होंने दावा किया कि एक प्रदर्शनकारी ने उनके हाथ से तिरंगा छीनकर फाड़ दिया।

प्रशांत ने टाइम्‍स नाउ से बातचीत में कहा कि “2019 के बाद से, खासतौर से आर्टिकल 370 खत्‍म होने के बाद से उन्‍हें नहीं पता कि कश्‍मीर मुद्दे को कैसे हैंडल करें। उन्‍होंने और प्रदर्शन करने शुरू किए लेकिन इंटरनैशनल कम्‍युनिटी में उनकी कोई पूछ नहीं। उनकी प्रासंगिकता खत्‍म हो गई है।” प्रशांत ने कहा कि वह उन प्रदर्शनकारियों को यही समझा रहे थे कि ‘शांति से चले जाओ क्‍योंकि पूरी दुनिया यही चाहती है। नफरत फैलाने का कोई मतलब नहीं।’

image_pdfimage_print


सम्बंधित लेख
 

Back to Top