आप यहाँ है :

भारतीय बच्चों के लिए अमरीका में खेली होली

कैलिफोर्निया अमेरिका में चाइल्ड राइट्स एंड यू (CRY) , अमरीकी संस्था की ऑरेंज काउंटी शाखा ने रविवार को अपने चौथे होली फण्ड रेसर कार्यक्रम का आयोजन,बोल्सा चिका स्टेट बीच पर किया। गौर तलब है कि इस संस्था (क्राय अमेरिका ) का उद्देश्य, भारत में बच्चों पर ही रहे शारीरिक और मानसिक अत्याचारों को रोकना है। यह एक लाभरहित ( ५०१ c३ नॉनप्रॉफ़िट ) संस्था है जो एक ऐसे संसार की कामना करती है कि जहाँ सारे बच्चों को,अपनी सम्पूर्ण क्षमता के साथ अपने सपनो को पूरा करने का समान अधिकार हो .करीब २५१५३ दानकर्ताओं और २००० स्वयं सेविकों की सहायता से क्राय अमेरिका भारत में ७३ परियोजनायें चला रही है। इन परियोजनाओं की सहायता से ३,३५० गाँवों और मलिन बस्तियों में रहने वाले ६९५,०७७ बच्चों के जीवन को प्रभावित किया है और उनको बेहतर बनाया है।

 

होली के इस कार्यक्रम में करीब ४५० लोगों ने भाग लिया। जब यह आयोजन पहली बार हुआ था तो ७५ लोगों ने इसमें हिस्सा लिया था। इसमें भारतीयों के आलावा मुख्य धारा के लोगों ने भी बढ़-चढ़ कर हिस्सा लिया ,मतलब कि लोग जो भारतीय नहीं है उन्होंने भी बहुत आनंद के साथ रंग लगाया । वहां मौजूद कुछ गैरभारतीयों से मैने बात की।

 

 

हिन्दी मीडिया से बात करते हुए जॉन ने बताया कि यह पहली बार है जब वह होली खेल रहे हैं। जॉन ने आगे कहा कि उनको बहुत आनन्द आ रहा है,और वह बार बार ऐसे कार्यक्रम में आना चाहेंगे। अब्राहिम अपनी पत्नी और दो बच्चों के साथ रंगो का मज़ा ले रहे थे. उनके छोटे बच्चे सभी को रंग लगा रहे थे। बच्चों ने कहा “यह सबसे अच्छा दिन है, माँ हमको खुद ही रंग लगा रही है “। बड़े और बच्चे सभी प्रेम से रंग खेलते नज़र आये। जब आयोजकों से समुद्र तट पर होली खेलने का आयोजन क्यों किया गया? पूछा तो उन्होंने कहा कि सी. आर. वाई. (CRY) अमेरिका अपना यह विशेष फण्डरेसर ऑरेंज काउंटी समुद्र पर पिछले चार सालों से करती आरही है। यहाँ कार पार्किंग की बहुत जगह है और यहाँ पहुँचना लोगों के लिए आसान भी है।

 

इस आयोजन में दाना हिल्स हाइ स्कूल के चाइल्ड राइट्स एंड यू ऑरेंज काउन्टी टीन क्लब ,कल्चरल क्लब ,हंटिंग्टन बीच के ओशन व्यू हाई स्कूल के ‘की क्लब ‘और नॉर्थवुड हाई स्कूल के बच्चों ने बहुत बढ़ चढ़ कर हिस्सा लिया। मुख्य बात तो यह है कि बच्चों को पता था कि हम होली क्यों मानते हैं। ऐसे आयोजन बच्चों में अपनी संस्कृति के प्रति जागरूकता पैदा करते हैं,और साथ में वह ये भी जानते हैं कि भारत में ऐसे कितने ही बच्चे हैं जिनको जो जीवन की भौतिक सुख सुविधाओं से वंचित हैं, जिनके आस पास का वातावरण सुविधाजनक नहीं है।

 

 

हंटिंग्टन समुद्र तट बहुत सूंदर है इस दिन का मौसम भी बहुत अच्छा था। वसंत की गुनगुनी धूप होली खेलने के लिए अत्यंत उपयुक्त थी। होली के रंगों से कोई प्रदुषण न हो इसलिए रसायन रहित और पर्यावरण को नुक्सान न पहुंचने वाले रंगों का प्रयोग किया गया, जो मीरामार कॅश एंड कैर्री ने उपलब्ध कराया था। रंगों के साथ बॉलिवुड गाने न हो ऐसा तो हो ही नहीं सकता। फ्यूज़न साउंड्स ने होली से सम्बंधित बहुत खूबसूरत गाने लगाये। लोगों का उत्साह देखते ही बनता था। यहाँ उपस्थित हर व्यक्ति नृत्य कर रहा था फिर चाहे वह भारतीय हो या गैरभारतीय। यहाँ पर भारतीय अल्पाहार का भी इन्तजाम था। जिसको अनाहम में स्थित तन्दूरी गार्डन ने उपलब्ध कराया था।

 

 

होली के इस कर्यक्रम से प्राप्त धन भारत और अमेरिका के बच्चों की सामाजिक समस्याओं को दूर करने में लगाया जायेगा जैसे बाल श्रम , बच्चों का अवैध व्यापर तथा यह धन बच्चों के भौतिक अधिकारों जैसे शिक्षा ,पोषण और सुरक्षा पर भी खर्च किया जायेगा। (CRY) अमेरिका को अपना सहयोग लिए आप www.america.cry.org पर जा कर आप (CRY) अमेरिका को अपना सहयोग दे सकते हैं और इनके द्वारा किये जा रहे नेक काम के सहभागी बन सकते हैं।

 

 

 

 

 

 

 

 

 

रचना श्रीवास्तव अमरीका में रहती हैं और वहाँ भारतीयों से जुड़े कार्यक्रमों, आयोजनों व समारोहों के बारे में नियमित रूप से लिखती हैं।



Leave a Reply
 

Your email address will not be published. Required fields are marked (*)

You may use these HTML tags and attributes: <a href="" title=""> <abbr title=""> <acronym title=""> <b> <blockquote cite=""> <cite> <code> <del datetime=""> <em> <i> <q cite=""> <s> <strike> <strong>

सम्बंधित लेख
 

Back to Top