आप यहाँ है :

इम्पैक्ट गुरु ने अपोलो हाॅस्पिटल समूह एवं वेंचर कैटलिस्ट्स के सह-नेतृत्व में 13 करोड़ जुटाए

नई दिल्ली। क्राउडफंडिग मंच इम्पैक्ट गुरु ने ए सीरिज में 13 करोड़ रुपए जुटाए जाने की घोषणा की है जिसका अपोलो अस्पताल समूह एवं वेंचर कैटलिस्ट्स के सह-नेतृत्व में उपयोग किया जाएगा। विदित हो कि इम्पैक्ट गुरु देश का स्वास्थ्य सेवाओं के लिए, गैर लाभकारी और व्यक्तिगत जरूरतों के लिए दान जुटाने का प्रमुख क्राउडफंडिंग मंच है। 2014 में हाॅवर्ड इनवेशन लैब के नवीन खोजकारी उद्यम एवं प्रोत्साहन कार्यक्रम से प्रेरणा एवं प्रशिक्षण पाने के पश्चात भारत में यह कंपनी नवीन उपक्रम संचालित कर रही है। भारत का यह पहला एकीकृत इनक्यूबेटर है। जुटाये गयी पूंजी का उपयोग बिक्री, विपणन एवं प्रौद्योगिकी विकास में होगा। इसके अलावा इस पूंजी का उपयोग कृत्रिम होशियारी, मशीनी ज्ञान, सूचनाओं का संकलन और स्थानीय भाषा समर्थन के लिए किया जाएगा। भारत में बड़े पैमाने पर जनजागृति, विपणन एवं प्रौद्योगिकी विकास की अपेक्षाओं को पूरा करने में इम्पैक्ट गुरु डाॅट काॅम सक्षम है।

सिंगापुर की प्रमुख निवेशक आरबी इन्वेस्टमेंट जो कि पहले से एक मौजूदा निवेशक है, वह भी भारत की सबसे बड़ी स्वास्थ्य सेवाओं के लिए कोष और उसके उपयोग और विस्तार के उपक्रम में शामिल हैं। इन निवेशकों में अमेरिका और दक्षिणपूर्व एशिया भी शामिल हैं।

स्वास्थ्य सेवाओं के लिए क्राउडफंडिंग एक सामाजिक दान का आॅनलाइन स्वरूप है जिसमें चिकित्सा सेवा और चिकित्सा बिलों का भुगतान करने के लिए सोशल मीडिया का उपयोग किया जाता है। भारत की 25 करोड़ मजबूत मध्यवर्गीय जनसंख्या के लिए क्राउडफंडिंग भावी पीढ़ी की वित्तीय पोषण की प्रभावी प्रक्रिया है जबकि कुल आबादी का अस्सी प्रतिशत आज भी स्वास्थ्य बीमा से वंचित हैं। भारत में बीमारियां एवं रोगियों की संख्या तेजी से बढ़ रही हैं। इन स्थितियों में अपोलो अस्पताल समूह के मरीजों के लिए इम्पैक्ट गुरु देश का प्रभावी क्राउडफंडिंग मंच होगा। अपोलो अस्पताल समूह इम्पैक्ट गुरु में रणनीतिक निवेश को प्रोत्साहन देगा ताकि विशेष रूप से कैंसर, प्रत्यारोपण, बाल चिकित्सा मामलों में एक समाधान के रूप में जन सहयोग के बारे में जागरूता के स्तर को बढ़ाने में मदद कर सके।

वेंचर कैटलिस्ट्स भारत के पहले एकीकृत इनक्यूबेटर ने भारत सहित दक्षिणपूर्व एशिया और मध्य पूर्व में एक महत्वपूर्ण भूमिका निभाई है। निवेश की सुविधा के अलावा वेंचर कैटलिस्ट्स स्टार्टअप में सहायता कर रहा है। वह स्टार्टअप को प्रोत्साहन देने और दान की संरचना करने का धरातल तैयार कर रहा है।

इम्पैक्ट गुरु डाॅट काॅम अमेरिका और ब्रिटेन के प्रमुख क्राउडफंडिंग मंच ग्लोबलगिविंग का भारत में प्रतिनिधित्व कर रहा है। जो दुनिया का पहला और सबसे बड़ा गैर लाभकारी जन-सहयोग का क्राउडफंडिंग मंच है जिसने भारत में निवेश करने वाले अंतरराष्ट्रीय दानदाताओं को टैक्स में छूट की पेशकश की हैं। इम्पैक्ट गुरु और ग्लोबलगिविंग ने मिलकर भारत के विभिन्न सामाजिक कारणों व जरूरतांे के लिए 105 करोड़ रुपये जुटाए हैं।

पीयूष जैन, इम्पैक्ट गुरु डाॅट काॅम के सह-संस्थापक और मुख्य कार्यकारी अधिकारी ने कहा कि इम्पैक्ट गुरु डाॅट काॅम अपोलो अस्पताल समूह, वेंचर कैटलिस्ट्स, कुरारे हैल्थटेक फंड और आरबी इन्वेस्टमेंट का समर्थन प्राप्त कर रोमांचित है। भारत में सभी के लिए चिकित्सा सुविधा किफायती बनाने में और चिकित्सा सहायता हेतु वित्त पोषण जुटाने में क्राउडफंडिंग मंच की महत्वपूर्ण भूमिका होगी। इससे हर सामाजिक कारण को सफल होने का मौका मिलेगा। आधुनिक प्रौद्योगिकी जिसमें स्मार्ट फोन, इंटरनेट और डिजिटल भुगतान के नये-नये तरीकों से क्राउडफंडिंग जुटाने में सहयोग मिलेगा।

(ललित गर्ग)
ए-56/ए, प्रथम तल, लाजपत नगर
नई दिल्ली-110024
मो. 9811051133



सम्बंधित लेख
 

Back to Top