आप यहाँ है :

सामाजिक कार्यों के लिए इम्पैक्ट गुरु मंच का लोकार्पण

नई दिल्ली। केन्द्रीय महिला एवं बाल विकास मंत्री श्रीमती मेनका गांधी ने कहा कि आज भारत में आॅनलाइन क्राउडफंडिंग की व्यापक संभावनाएं हैं। हमारे प्रधानमंत्री डिजिटल भारत के संकल्प को लेकर आगे बढ़ रहे हैं। उनके संकल्प को आॅनलाइन क्राउडफंडिंग जैसे उपक्रमों के माध्यम से बल मिलेगा। इससे भारत ही नहीं दुनिया में दान की परम्परा को एक नयी दिशा मिलेगी क्योंकि छोटे-छोटे दान एक बड़ी सुखद घटना को अंजाम दे सकते हैं।

केन्द्रीय महिला एवं बाल विकास मंत्री श्रीमती मेनका गांधी ने आज भारत में सामाजिक कार्यों के लिए क्राउडफंडिंग मंच इम्पैक्ट गुरु का लोकार्पण करते हुए उक्त विचार व्यक्त किए। श्रीमती मेनका गांधी ने कहा कि सरकार के साथ-साथ गैर सरकारी संगठनों और आम नागरिक को सेवा और जनकल्याण के कार्यों में भागीदारी निभानी चाहिए।

इम्पैक्ट गुरु मंच हार्वर्ड इनोवेशन लैब में नवीन तकनीक से जुड़कर शुरू किया गया है। जो भारत में जनकल्याण के विविध उपक्रमों के साथ-साथ बच्चों और महिलाओं के सशक्तिकरण के लिए गैर लाभकारी संगठनांे के साथ मिलकर कार्य करेगा।

विदित हो विभिन्न रिपोर्टों के अनुसार क्राउडफंडिंग के लिए लोगों का आकर्षण बढ़ रहा है। वर्ष-2014 में 167 प्रतिशत इजाफे के साथ 16.2 करोड़ डाॅलर रहा। वर्ष-2015 में यह 34.4 करोड़ डाॅलर हो गया है जो पिछले वर्ष की तुलना में दुगना है। इन आंकड़ों से उजागर होता है कि क्राउडफंडिंग के प्रति दुनिया में न केवल बड़े दानदाताओं में बल्कि मध्यमवर्ग में भी देने की प्रवृत्ति बढ़ रही है।

इम्पैक्ट गुरु के मुख्य कार्यकारी अधिकारी श्री पीयूष जैन ने कहा कि क्राउडफंडिंग भारत के लोगों में दान की परम्परा को एक नई शक्ल देगा। बड़े दानदाता ही नहीं बल्कि छोटे-छोटे दान को प्रोत्साहन किया जा सकेगा। मध्यमवर्ग के लोगों में भी दान देने का प्रचलन बढ़ाना हमारा लक्ष्य है। विशेषतः युवकों मंे जनकल्याण एवं सामाजिक परिवर्तन के लिए दान की परम्परा के प्रति आकर्षण उत्पन्न किया जाएगा, जिसके माध्यम से सेवा और जनकल्याण के नये उपक्रम संचालित हो सकेंगे।

श्री पीयूष जैन ने जानकारी देते हुए बताया कि इम्पैक्ट गुरु बच्चों से जुड़े उपक्रमों के लिए 19 सितम्बर 2015 को दान उपलब्धता के लिए एक अभिनव आयोजन करने जा रहा है जिसके लिए हार्वर्ड क्लब आॅफ मुम्बई और आईवी प्लस नेटवर्क के साथ भागीदारी सुनिश्चित हुई है। बच्चों से जुड़ंे अधिकारों और उनके उन्नत शिक्षा के लिए पैसे जुटाने की यह भारतीय परिप्रेक्ष्य में अनूठी घटना होगी।

श्री पीयूष जैन ने आगे जानकारी देते हुए बताया कि सोशल मीडिया की आम आदमी के जीवन में एक महत्वपूर्ण भूमिका है। आज हर आदमी फेसबुक से जुड़ा हुआ है और उसकी स्वतंत्र डिजिटल जीवनशैली भी है, जो उसे अधिक सामाजिक बनाती है। इम्पैक्ट गुरु दुनिया का पहला ऐसा डिजिटल मंच होगा जो जनकल्याणकारी कार्यों के लिए पैसा जुटाने और ऐसे ही उपक्रमों के लिए साझेदारी निभाने के लिए तत्पर है। फेसबुक के प्रत्येक सदस्य द्वारा सामाजिक भलाई हेतु एक न्यूनतम दान को प्रोत्साहित किया जाएगा जो कुछ शर्तों के साथ 1000 रुपये तक हो सकता है। इस योजना को इम्पैक्ट गुरु ने ‘मुस्कान’ या ‘सामाजिक मीडिया साझेदारी’ नाम दिया गया है।

इम्पैक्ट गुरु मंच की कोशिश से भारत में 33 लाख गैर लाभकारी संगठनों से जुड़ी समस्याओं को सुलझाया जा सकेगा। क्योंकि इन गैर लाभकारी संगठनों के सम्मुख धन उगाने के परम्परागत तरीकें बहुत खर्चीले हैं, जो कुल धन का खर्च 35 प्रतिशत तक है, जिसे नई तकनीक के अंतर्गत 5 प्रतिशत तक किया जाएगा। इससे एक बड़ी समस्या का समाधान इम्पैक्ट गुरु के द्वारा संभव हो सकेगा।
इम्पैक्ट गुरु काॅलेज और उच्च शैक्षणिक संस्थानों के साथ-साथ युवा प्रोफेशनल के बीच व्यापक पहुंच स्थापित कर उनमें क्राउडफंडिंग की शक्ति के माध्यम से उन्हें सोशल मीडिया के लिए जागरूक किया जा रहा है।

फोटो परिचयः
केन्द्रीय महिला एवं बाल विकास मंत्री श्रीमती मेनका गांधी भारत में सामाजिक कार्यों के लिए क्राउडफंडिंग मंच इम्पैक्ट गुरु का लोकार्पण करते हुए साथ में हैं इम्पैक्ट गुरु के मुख्य कार्यकारी अधिकारी श्री पीयूष जैन।
संपर्क
(ललित गर्ग)
ए-56/ए, प्रथम तल, लाजपत नगर-2
नई दिल्ली-110024
मो. 9811051133

image_pdfimage_print


सम्बंधित लेख
 

Back to Top