आप यहाँ है :

पश्चिम रेलवे के महाप्रबंधक द्वारा राजकोट मंडल का निरीक्षण

मुंबई। पश्चिम रेलवे के महाप्रबंधक श्री आलोक कंसल ने 20 अगस्त, 2021 को राजकोट मंडल के अपने निरीक्षण दौरे के दौरान राजकोट स्टेशन पर यात्री सुविधाओं और सुविधाओं से सम्बंधित विभिन्न मापदंडों का निरीक्षण किया और मंडल में चल रहे विभिन्न विकास कार्यों की भी समीक्षा की। श्री कंसल ने रेलवे अस्पताल, राजकोट में नव विकसित ऑक्सीजन उत्पादन संयंत्र का उद्घाटन किया।

पश्चिम रेलवे के मुख्य जनसम्पर्क अधिकारी श्री सुमित ठाकुर के अनुसार, महाप्रबंधक श्री कंसल ने राजकोट स्टेशन पर खानपान स्टालों, यात्री प्रतीक्षा कक्षों, वाटर कूलर, हेरिटेज गैलरी, कॉनकोर्स हॉल, पार्सल कार्यालय आदि का निरीक्षण किया और विभिन्न चल रहे विकास कार्यों का जायजा भी लिया। इसके बाद, महाप्रबंधक ने कोठी कंपाउंड, राजकोट में स्थित मंडल रेलवे अस्पताल का दौरा किया और 500 लीटर एलएमओ प्रति मिनट की उत्पादन क्षमता वाले नवविकसित पीएसए आधारित ऑक्सीजन जनरेटर संयंत्र का उद्घाटन किया। यह संयंत्र इनडोर रोगियों को ऑक्सीजन की निरंतर आपूर्ति सुनिश्चित करेगा। श्री कंसल ने अस्पताल में भर्ती मरीजों से बातचीत कर उनके स्वास्थ्य के बारे में जानकारी ली और अस्पताल में उपलब्ध सुविधाओं का निरीक्षण किया। तत्पश्चात श्री कंसल ने राजकोट के लोको कॉलोनी स्थित फुटबॉल ग्राउंड में नवनिर्मित पवेलियन का उद्घाटन किया। इस पवेलियन में करीब 80 दर्शकों के बैठने की क्षमता है।

श्री ठाकुर ने बताया कि महाप्रबंधक ने मंडल रेल प्रबंधक और सभी शाखा अधिकारियों के साथ बैठक कर मंडल की उपलब्धियों, यात्री सुविधा से सम्बंधित उल्लेखनीय कार्यों, सुरक्षा सम्बंधी कार्यों के साथ-साथ चल रही विभिन्न ढांचागत परियोजनाओं की प्रगति और उनकी लक्षित तारीखों की समीक्षा की। विद्युतीकरण परियोजनाओं की प्रगति तथा अन्य विकास कार्यों की भी विस्तार से समीक्षा की गई।

श्री कंसल ने जोर देकर कहा कि राष्ट्रीय हित को हमेशा सर्वोच्च प्राथमिकता दी जानी चाहिए और राष्ट्र निर्माण प्रक्रिया की दिशा में उचित कदम उठाए जाने चाहिए, जिससे अर्थव्यवस्था को उल्लेखनीय बढ़ावा मिले। उन्होंने कहा कि यह लक्ष्य सामाजिक सद्भाव पैदा करके और भाईचारे की भावना विकसित करके प्राप्त किया जा सकता है। उन्होंने आगे कहा कि इस क्षेत्र में बंदरगाहों से समुचित सम्बद्धता विकसित करने पर विशेष जोर दिया जाना चाहिए और रेलवे द्वारा इन बंदरगाहों से देश के सभी कोनों में माल ढुलाई के लिए ग्राहकों को आकर्षित करने के लिए पर्याप्त कदम उठाए जाने चाहिए। इससे न केवल रेलवे के लिए विभिन्न क्षेत्रों से माल ढुलाई से राजस्व में वृद्धि सुनिश्चित होगी, बल्कि ग्राहकों को भी लाभ होगा, क्योंकि यह उनके माल को निर्धारित गंतव्य तक समय पर पहुॅंचाने का आश्वासन देगा और इसे सुनिश्चित भी करेगा।

image_pdfimage_print


सम्बंधित लेख
 

Back to Top