आप यहाँ है :

दिग्विजय महाविद्यालय में हिंदी दिवस पर हिंदी-विचार और व्यवहार की मिली प्रेरणा

राजनांदगाँव । शासकीय दिग्विजय महाविद्यालय में हिंदी दिवस पर ज्ञानवर्धक, आत्मीय तथा स्मरणीय आयोजन किया गया । हिंदी विभाग के इस गरिमामय कार्यक्रम में प्रभारी प्राचार्य डॉ. अनिता महेश्वर ने स्नातकोत्तर हिंदी साहित्य परिषद के पदाधिकारी कार्यकारिणी और सदस्यों की घोषणा कर उन्हें शुभ कामना दी । उन्होंने हिंदी को अधिक से अधिक जीवन व्यवहार में लाने का आह्वान किया ।

आरंभ में वाग्देवी पूजन, दीप प्रज्ज्वलन के साथ विद्यार्थियों की सरस्वती वंदना के स्वर गूंज उठे ।आयोजन में विभागाध्यक्ष डॉ. शंकर मुनि राय, डॉ. चन्द्रकुमार जैन, डॉ. बी.एन. जागृत, डॉ. नीलम तिवारी, डॉ. स्वाति दुबे, डॉ. गायत्री साहू, डॉ. भवानी प्रधान आदि ने हिंदी के महत्व और बढ़ते प्रभाव की चर्चा की । डॉ. राय ने विद्यार्थियों को रचनात्मक कार्यों में आगे बढ़ने की प्रेरणा दी । छात्र-छात्राओं ने अपने उद्गार के साथ-साथ कविताओं और गीतों के माध्यम से हिंदी की अभिव्यक्ति क्षमता का परिचय दिया । इस अवसर पर विभाग के प्राध्यापक डॉ. चन्द्रकुमार जैन द्वारा मुक्तिबोध और हिंदी की महत्ता पर तैयार किए गए बहु प्रसारित सारगर्भित रिकार्डिंग से विद्यार्थी खास तौर पर लाभान्वित हुए ।

हिंदी साहित्य परिषद की अध्यक्ष टुमेश्वरी, उपाध्यक्ष इंदु, सचिव टुकेश्वरी और ज़ह सचिव पूर्णिमा सहित पूरी टीम ने श्रेष्ठ कार्य का संकल्प व्यक्त किया । परिषद की प्रभारी डॉ. बी. एन. जागृत हैं । कार्यक्रम का कुशल संचालन स्नाकोत्तर अंतिम वर्ष की छात्रा रामेश्वरी टंडन ने किया
Attachments area

image_pdfimage_print


Get in Touch

Back to Top