आप यहाँ है :

पश्चिम रेलवे के मुंबई मंडल के 23 स्‍टेशनों पर 33 बॉटल क्रशिंग मशीनों की स्‍थापना

पश्चिम रेलवे के उपनगरीय खंड के महालक्ष्मी स्टेशन पर नवस्‍थापित एक नई प्लास्टिक बॉटल क्रशिंग मशीन यात्रियों की सुविधा के लिए 8 मार्च, 2021 को उपलब्‍ध कराई गई।

पश्चिम रेलवे के मुख्य जनसंपर्क अधिकारी श्री सुमित ठाकुर द्वारा जारी प्रेस विज्ञप्ति के अनुसार, भारतीय रेलवे द्वारा स्टेशनों पर उत्पन्न प्लास्टिक कचरे को पर्यावरण अनुकूल तरीके से कम करने, रीसायकल करने और निस्‍तारण के लिए कई पहल की गई हैं। इसी क्रम में मुंबई मंडल के 23 स्टेशनों मरीन लाइन्स, चर्नी रोड, ग्रांट रोड, महालक्ष्मी, खार रोड, सांताक्रुज़, विले पार्ले, जोगेश्वरी, गोरेगाँव, दहिसर, मीरा रोड, भायंदर, नायगाँव, पालघर, बोईसर, उमरगाँव, बिलिमोरा, उदवाड़ा, वापी, वलसाड, नवसारी, उधना जंक्शन और सूरत में 33 प्लास्टिक बॉटल क्रशिंग मशीनें स्थापित किये जाने का निर्णय लिया गया है। व्यय मॉड्यूल पर प्लास्टिक बॉटल क्रशिंग मशीनों के प्रावधान के बजाय, मुंबई मंडल ने व्‍यय को कम करने और गैर-किराया राजस्‍व की आमदनी के दोहरे उद्देश्‍य के साथ आमदनी मॉड्यूल पर प्लास्टिक बॉटल क्रशिंग मशीनों को प्राप्‍त करने का निर्णय लिया है, जहाँ प्लास्टिक बॉटल क्रशिंग मशीन प्रोवाइडर को प्लास्टिक बॉटल क्रशिंग मशीनों पर विज्ञापनों के प्रदर्शन के साथ-साथ मशीन में संग्रह हुए प्लास्टिक फ्लेक की बिक्री के ज़रिये कमाई का अवसर मिलेगा।

श्री ठाकुर ने बताया कि सीएसआर के तहत कुल 17 बॉटल क्रशिंग मशीनें मुंबई मंडल के विभिन्न स्टेशनों चर्चगेट, मुंबई सेंट्रल, बांद्रा टर्मिनस, विले पार्ले, अंधेरी, बोरीवली, वापी, वलसाड, नवसारी, उधना और सूरत स्टेशनों पर पहले ही स्थापित की जा चुकी हैं। इनके अलावा जी. जी. इंजीनियरिंग लिमिटेड द्वारा मुंबई मंडल के 16 स्टेशनों चर्चगेट, मुंबई सेंट्रल, लोअर परेल, प्रभादेवी, दादर, माटुंगा रोड, माहिम, बांद्रा लोकल, बांद्रा टर्मिनस, अंधेरी, मालाड, कांदिवली, बोरीवली, वसई रोड, नालासोपारा और विरार स्टेशनों पर 25 प्लास्टिक बॉटल क्रशिंग मशीनें लगाई गई हैं। इन 25 मशीनों की स्थापना के इस अनुबंध से लाइसेंस फीस के रूप में 15,000 रु. प्रति वर्ष की आमदनी के साथ-साथ 87,50,00 रु. की बचत भी हुई है। इसी तरह 33अतिरिक्त नई मशीनों की स्थापना के फलस्‍वरूप पश्चिम रेलवे को इस आमदनी मॉड्यूल से लाइसेंस फीस के रूप में 26,800 रु. की आमदनी के साथ-साथ 1,15,50,000 रु. की बचत भी होगी।

image_pdfimage_print


सम्बंधित लेख
 

Back to Top