ताजा सामाचार

आप यहाँ है :

मुंबई में अंतरराष्ट्रीय रामायण सम्मेलन का आयोजन 28 से 30 नवम्बर तक

मुंबई। मुंबई विश्वविद्यालय, हिंदी विभाग के 50 वे स्थापना वर्ष एवं श्री भागवत परिवार, मुंबई के प्रणेता, प्रख्यात चिंतक तथा रामकथा के मर्मज्ञ श्री वीरेन्द्र याज्ञिक के 70 वें जन्म दिवस के उपलक्ष्य में ‘वैश्विक परिदृश्य में श्री राम कथा’ पर तीन दिवसीय सारस्वत अनुष्ठान के आयोजन किया जा रहा है। सम्मेलन गुरुवार 28 नवम्बर से शनिवार 30 नवम्बर 2019 तक नैनोटेक सभागार, मुंबई विश्वविद्यालय, कलीना में होगा। सम्मेलन की पूर्णाहुति सायंकाल 30 नवम्बर 2019 को गोरेगांव स्पोर्टस क्लब, मालाड (प.) के प्रांगण में खुले अधिवेशन में होगी। श्री वीरेन्द्र याज्ञिक के 70वें जन्म दिवस पर उनके अभिनंदन समारोह भी होगा। इस अवसर पर क्लब के सदस्यों द्वारा ‘एक शाम राम के नाम’ के माध्यम से भव्य रामलीला का मंचन किया जाएगा। इस अधिवेशन में देश के मूर्धन्य संत-महात्माओं का आशीर्वाद प्राप्त होगा तथा 21 सूत्री संकल्प पत्र जारी किया जाएगा।

इस सम्मेलन का उद्देश्य केवल आध्यात्मिक, पारमार्थिक और भक्तिमय अनुष्ठान ही नहीं बल्कि अध्यात्म की पीठिका पर स्थापित रामराज्य की विविध संकल्पनाओं तथा समाज से सुचिंतित प्रशासन, प्रबंधन, सामाजिक – आर्थिक नीति के कार्यान्वयन से समतापूर्ण और ममतापूर्ण समाज की स्थापना की समझ पैदा करने और उसे वैश्विक परिदृश्य में वर्तमान की आवश्यकताओं के अनुसार व्यवहार में लाने का विनम्र प्रयास है। इस अवसर पर मानवता के कल्याण के लिए 21 सूत्री संकल्प पत्र भी जारी किया जाएगा।

इस त्रिदिवसीय सम्मेलन में उद्घाटन तथा समापन सत्रों के साथ-साथ विभिन्न विषयों पर पांच चिंतन सत्र तथा एक काव्य गोष्ठी होगी।

कार्यक्रम की विस्तृत जानकारी इस प्रकार है –

गुरुवार दि.28 नवंबर 2019 उद्घाटन – सत्र
प्रातः 10.30 बजे से दोप.11.45 बजे तक होगा महामहिम राज्यपाल, महाराष्ट्र राज्यश्री भगत सिंह कोश्यारी शुभारंभ करेंगे
पावन सानिध्य – पूज्य भाईश्री (श्री रमेश भाई ओझा) (राष्ट्रीय संत एवं भागवताचार्य)
अध्यक्षता – डॉ.सुहास पेडणेकर, कुलपति, मुंबई विश्वविद्यालय
विशिष्ट अतिथि- डॉ.रविन्द्र कुलकर्णी (प्रति कुलपति, मुंबई विश्वविद्यालय )
विशिष्ट वक्ता – श्रीमती डॉ. तोमोको किकुचि (जापान) हिन्दी भाषा विशेषज्ञ एवं राम साहित्य मर्मज्ञ
प्रस्तावना – श्री वीरेन्द्र याज्ञिक द्वारा
सूत्र संचालन -डॉ. करुणाशंकर उपाध्याय ( प्रोफेसर एवं अध्यक्ष, हिन्दी विभाग, मुंबई वि.वि.)

राम नाम मनिदीप धरु…
मंगलाचरण – सत्र दोप.12 बजे से 1.30 बजे
अध्यक्ष – श्री राजेन्द्र अरुण (मॉरिशस) अध्यक्ष, रामायण सेंटर, मॉरीशस
मुख्य अतिथि एवं वक्ता – डॉ.राम सजन पांडेय ( कुलपति – मस्तनाथ वि.वि. रोहतक)
विशिष्ट वक्ता – श्रीमती डॉ. तोमोको किकुचि (जापान) (हिन्दी भाषा विशेषज्ञ एवं राम साहित्य मर्मज्ञ)
श्रीमती डॉ.नादेज्दा (रुस) (उपाध्यक्ष, भारत-रुस मैत्री संघ)
विशिष्ट अतिथि श्री सुरेश भगेरिया ( उद्यमी एवं महानगर संघचालक रा.स्व.संघ, मुंबई)
श्री सुनील केजरीवाल- उद्यमी व समाजसेवी
सूत्र संचालन -डॉ. हनुमंत धायगुडे

प्रथम सत्र- दोप. 2.30 बजे से 4.00 तक –
रामकाव्य के साहित्यिक और शैक्षणिक आयाम

अध्यक्ष – श्री जगमोहन सिंह राजपूत (शिक्षाविद एवं यूनेस्को के परामर्श मंडल में भारतीय प्रतिनिधि)
वक्तव्य – डॉ. श्रीनिवास पांडेय (पूर्व आचार्य एवं अध्यक्ष हिन्दी विभाग, बी.एच.यू.)
प्रो.देवसिंह पोखरिया पूर्व आचार्य एवं अध्यक्ष हिन्दी विभाग, कुमायूं विश्वविद्यालय
डॉ. करुणाशंकर उपाध्याय ( प्रोफेसर एवं अध्यक्ष, हिन्दी विभाग, मुंबई वि.वि)
विशिष्ट अतिथि – डॉ. विनोद टिबड़ेवाल ( कुलाधिपति, जे.जे.टी. विश्वविद्यालय, झुंझुनू)
सूत्र संचालन डॉ.बिनीता सहाय

व्दितीय सत्र- अपरान्ह 4.15 से 6.00 तक –
रामकाव्य के दार्शनिक आयाम

अध्यक्ष – डॉ. सूर्यप्रसाद दीक्षित (वरिष्ठ चिंतक एवं प्रख्यात आलोचक)
वक्तव्य – श्री आनंद प्रकाश त्रिपाठी (अध्यक्ष, हिंदी विभाग, सागर विश्वविद्यालय)
डॉ. जयप्रकाश शर्मा (प्रोफेसर एवं प्रख्यात चिंतक)
डॉ.रामेश्वर सिंह ( अध्यक्ष, भारत-रुस मैत्री संघ)
विशिष्ट अतिथि – श्री महावीर नेवटिया ( उद्योगपति, समाजसेवी एवं साहित्यकार)
श्रीनारायण अग्रवाल ( उद्योगपति एवं समाजसेवी)
सूत्र संचालन डॉ.सुनील वल्वी
सायं. 7.00 बजे श्रीराम स्तुति – बैले नृत्य श्री कालीचरण मिश्र एवं साथी, बनारस घराना की प्रस्तुत

शुक्रवार दि. 29 नवम्बर 2019 – तृतीय सत्र प्रात.10.00 बजे से दोपहर 12.00 तक
रामराज्य में कुशल प्रशासन – प्रबंधन की संकल्पना

अध्यक्ष -श्री जयंतकुमार बांठिया, पूर्व मुख्य सचिव, महाराष्ट्र शासन
मुख्य अतिथि- श्री मोतीलाल ओसवाल उद्योगपति एवं समाजसेवी
वक्तव्य – श्री विश्वनाथ सचदेव, (वरिष्ठ पत्रकार एवं संपादक ‘नवनीत’)
श्री श्यामशंकर उपाध्याय, (पूर्व विधि सलाहकार राज्यपाल उ.प्र.
विशिष्ट अतिथि – श्री सुशीलकुमार केड़िया, भोपाल (उद्योगपति एवं समाजसेवी)
सूत्र संचालन – डॉ.आलोक पांडेय

चतुर्थ सत्र दोप. 12.15 बजे से 2.00 तक –
रामकाव्य के सांस्कृतिक आयाम

अध्यक्ष – डॉ.कैलाशचंद पंत ( वरिष्ठ चिंतक, प्रधान सम्पादक ‘अक्षरा’)
मुख्य अतिथि – श्री अश्विनी लोहानी (चेयरमेन-एयर इंडिया)
वक्तव्य – डॉ.मनोज श्रीवास्तव, आई.ए.एस. (अपर मुख्य सचिव, मध्यप्रदेश शासन)
श्री विश्वनाथ सचदेव (वरिष्ठ पत्रकार एवं संपादक – नवनीत )
श्री अखिलेंद्र मिश्र – अभिनेता एवं साहित्यविद्
विशिष्ट अतिथि – श्री रामेश्वरलाल काबरा ( उद्योगपति एवं समाजसेवी)
श्री सत्यनारायण काबरा -अग्रणी उद्योगपति एवं समाजसेवी
सूत्र संचालन – डॉ.दर्शन पांडेय

पंचम सत्र – दोप. 3.00 से 4.45 तक
रामायण के नारी पात्र – स्त्री विमर्श के संदर्भ
अध्यक्ष – डॉ. रमाकांत शर्मा ‘उदभ्रांत ‘ वरिष्ठ कवि एवं साहित्यकार
वक्तव्य – डॉ. कुमुद शर्मा ( प्रोफेसर, हिन्दी विभाग, दिल्ली विश्वविद्यालय)
स्वामी सूर्यप्रभा – लंदन परिव्राजिका डॉ.श्वेता दीप्ति – नेपाल
अध्यक्ष, हिन्दी विभाग, काठमांडू वि.वि.,नेपाल
डॉ.वीनू अरुण, मॉरिशस (उपाध्यक्ष, श्री रामायण सेंटर, मॉरीशस वाल्मीकि रामायण मर्मज्ञ)
विशिष्ट अतिथि – श्री प्रमोद कुमार बिंदलिश (पूर्व मुख्य महाप्रबंधक, सेबी)
सी.ए. श्री अनिल गोयल समाजसेवक एवं साहित्यानुरागी
सूत्र संचालन – डॉ.अंशु शुक्ला

काव्य गोष्ठी सायं 5.15 से 7.30 तक
अध्यक्षता- डॉ. रमाकांत शर्मा ‘उदभ्रांत ‘ वरिष्ठ कवि एवं साहित्यकार
कविगण- श्रीमती माया गोविंद, डॉ बुध्दिनाथ मिश्र, श्री दीक्षित दनकौरी, श्री विश्वनाथ सचदेव, श्री सुंदरचंद ठाकुर,पं. किरण मिश्र, डॉ. बनमाली चतुर्वेदी

शनिवार दि.30 नवम्बर 2019 – समापन सत्र
प्रातः10.00 बजे से दोप.1.00 बजे तक – वैश्विक परिदृश्य में रामायण की प्रासंगिकता
21 सूत्री संकल्प सूत्रों की घोषणा
पावन सान्निध्य – श्रीमद् पंचमखंडपीठाधीश्वर पूज्य आचार्य स्वामी श्री धर्मेन्द्र जी महाराज
वक्तव्य- डॉ. सत्यकेतु सांकृत, (कलासंकायाध्यक्ष अम्बेडकर वि.वि., दिल्ली)
श्री दीपक मुकादम ( कुलाधिपति नामित व्यवस्थापन परिषद सदस्य, मुंबई वि.वि.)
विशिष्ट अतिथि – श्री सुरेश चतुर्वेदी( उद्योगपति एवं समाजसेवी)
श्री सुरेश खंडेलिया (अध्यक्ष एवं मुख्य कार्यकारी अधिकारी सतलज टेक्सटाईल्स एण्ड इण्डस्ट्रीज लि.)
श्री अजय याज्ञिक सुंदरकांड मर्मज्ञ
सूत्र संचालन डॉ.सचिन गपाट

शनिवार दि.30 नवम्बर 2019 साँय. 5.00 से 7.30 बजे तक गोरेगाँव स्पोर्ट्स क्लब के प्रांगण में
एक शाम राम के नाम
पावन सान्निध्य – श्री पंचमखंडपीठाधीश्वर परमपूज्य आचार्य स्वामी श्री धर्मेन्द्रजी महाराज
मुख्य अतिथि – श्री राम नाईक पूर्व राज्यपाल, उत्तरप्रदेश
विशिष्ट अतिथि – श्री गोपाल शेट्टी सांसद, उत्तर मुंबई
श्री डी.एच.गोयानी, सूरत सुप्रसिध्द उद्योगपति एवं सेवा पुरुष

रामलीला का मंचन सायं.8.00 से 10 बजे तक

अंतरराष्ट्रीय रामायण सम्मेलन की आमंत्रण पुस्तिका यहाँ से डाउनलोड करें.

image_pdfimage_print


Leave a Reply
 

Your email address will not be published. Required fields are marked (*)

You may use these HTML tags and attributes: <a href="" title=""> <abbr title=""> <acronym title=""> <b> <blockquote cite=""> <cite> <code> <del datetime=""> <em> <i> <q cite=""> <s> <strike> <strong>

सम्बंधित लेख
 

Back to Top