आप यहाँ है :

दीप कमल फाउंडेशन में अटलजी की कविताओं ने समाँ बाँधा

अटलजी के काव्य दीपों से जगमगाया समारोह
और खिला उनकी वाणी से निकले शब्दों का कमल

अटलजी कवि थे इसलिए संवेदनशील नेता थे और जनप्रिय नेता थे इसलिए उनकी कविताओं में आम आदमी का दर्द भी दिखता था

अटलजी के भरत समझे जानेवाले लालजी टण्डन को मिला “अटल सम्मान”

मुंबईः मुम्बई के सांस्कृतिक उपनगर विलेपार्ले में भारत रत्न अटल बिहारी वाजपेयी के जन्मदिवस पर कल हुआ भव्य समारोह कई मायनों में यादगार रहा।फ़िल्मी दुनिया की नामचीन हस्तियों द्वारा प्रस्तुत अटलजी के काव्य दीपों से पूरा समारोह जगमगा उठा तो दूसरी ओर उन पर बनी डॉक्यूमेंट्री में उनकी वाणी से निकले शब्दों के कमल से पूरा वातावरण ताजगी से भर गया था। अटलजी के भरत समझे जानेवाले लखनऊ के पूर्व सांसद लालजी टण्डन को अटलजी के कैबिनेट के साथी रहे वर्तमान रेलमंत्री सुरेश प्रभु द्वारा अटल सम्मान का स्मृति चिन्ह प्रदान करते ही सभागृह तालियों से गूंज उठा। महाराष्ट्र भाजपा के संगठन महामंत्री रविंद्र भूसारी द्वारा श्री टण्डन को महाराष्ट्र की पुणेरी साफा पहनाते ही जय भवानी के नारे से सभागृह गूंज उठा।अभिनेता शेखर सुमन द्वारा अटलजी के अंदाज में व्यक्त की गयी कविता ने तो माहौल को अटलमय बना दिया।

विले पार्ले के दीनानाथ मंगेशकर हॉल में दीप कमल फाउंडेशन संस्था द्वारा आयोजित ‘अटल गीत गंगा’ कार्यक्रम में भारत के पूर्व प्रधानमंत्री अटल बिहारी वाजपेयी का जन्मदिन फ़िल्मी हस्तियों द्वारा उनकी कविताओं के पाठ के साथ सम्पन्न हुआ। कर्यक्रम के मुख्य अतिथि रेलमंत्री सुरेश प्रभु द्वारा अटल जी के सहयोगी रहे उत्तर प्रदेश के पूर्व मंत्री लालजी टंडन को ‘अटल सम्मान’ प्रदान किया गया। लालजी टंडन ने अटल जी के साथ अपने अनुभव बांटते हुए बताया कि अटल जी उनके लिए एक मित्र, पिता, मार्गदर्शक और बड़े भाई की भांति हैं। अटल जी का शिवाजी महाराज के जीवन से तुलना करते हुए उन्होंने कहा कि जिस प्रकार छत्रपति शिवाजी ने बचपन से संघर्ष की राह पर चलकर वीरता की नयी परिभाषा गढ़ी, वैसे ही अटल जी भी कभी साईकिल, कभी बैलगाड़ी तो कभी पैदल गाँव-गाँव, शहर -शहर घूमे और लोगों का दर्द देखा और उसे दूर करने के लिए संघर्ष किया। उन्होंने कभी पद की चाह नहीं की। उन्होंने कहा कि पूर्व प्रधानमंत्री भारतरत्न अटल बिहारी वाजपेयी को केवल भारतीय जनता पार्टी ही नहीं बल्कि दूसरे सहयोगी दलों एवं विपक्षी पार्टियों के नेता भी उतना ही सम्मान और प्यार देते रहे हैं।

रेलमंत्री सुरेश प्रभु ने अटल जी की दीर्घायु की कामना करते हुए कहा कि मैं भाग्यशाली हूँ कि जिस नेता के पास खड़े होने का सपना देखता था उनके साथ मुझे काम करने का मौका मिला, उनका मार्गदर्शन मिला।

कार्यक्रम का शुभारंभ महाराज शिवाजी की प्रतिमा पर माल्यार्पण के साथ हुआ। स्कूली बालिकाओं ने अटल जी की कविताओं पर मोहक नृत्य प्रस्तुत किये। बैंगलोर से आये सेंड आर्टिस्ट ‘चित्र मित्र ‘ ने 9 मिनिट में स्टेज पर अटल जी का चित्र बना कर दर्शकों को अचंभित कर दिया।

अभिनेता शेखर सुमन ने अटल जी के साथ अपना अनुभव साझा करते हुए बताया कि कैसे अटल जी एक कार्यक्रम से जाते समय शेखर सुमन को देख कर अपनी गाड़ी से उतरे और उन्हें गले लगा लिया। उन्होंने कहा कि ये मेरे लिए हर फिल्म फेयर और ऑस्कर से बड़ा अवार्ड था।

शेखर सुमन ने अटल जी की ही आवाज और अंदाज़ में अटल जी की एक ओजपूर्ण कविता “हिन्दू तन मन हिन्दु जीवन रग रग हिन्दु मेरा परिचय॥“ का वीररस अंदाज में पाठ कर श्रोताओं में जोश भर दिया।

डॉ राही मासूम रजा की बहू व गायिका पार्वती खान ने भी अटल जी के साथ अपने अनुभव बताते हुए अटल जी का लिखा गीत ‘उन्हें याद करें’ गाया जो अटल जी ने स्वयं पार्वती खान को उनकी अलबम के लिए भेंट किया था। दिलवाले दुल्हनिया ले जायेंगे जैसी सुपर डुपर हिट फिल्म के संगीतकार श्री ललित पंडित ने ‘आजादी का दिन नहीं मना गुलामी बीच’ अपने अंदाज में प्रस्तुत की।हूबहू लता मंगेशकर की आवाज में गानेवाली शास्त्रीय गायिका मिष्टु वर्धन और भोजपुरी गायक सुरेश शुक्ल ने भी अपनी जादुई आवाज में अटल जी की कविताओं को स्वर प्रदान कर देर रात तक दर्शकों को बांधे रखा। मुम्बई बीजेपी के अध्यक्ष आशीष शेलार ने अटल जी को जन्मदिन की बधाई देते हुए उन्हें युगपुरुष और भारतीय राजनीति का मार्गदर्शक कहा।उन्होंने समारोह के संयोजक अमरजीत मिश्र द्वारा सतत 7 वर्षों से अटल गीत गंगा का आयोजन किये जाने की सराहना की। कार्यक्रम के अंत में दीप कमल फाउंडेशन के अध्यक्ष और कार्यक्रम के संयोजक श्री अमरजीत मिश्र ने सभी अतिथियों को धन्यवाद ज्ञापित करते हुए अटल जी के अच्छे स्वास्थ्य की कामना की और कहा कि अटल जी भारतीय राजनीति के आकाश का वो ध्रुव तारा हैं जो अपने व्यक्तित्त्व और कृतित्व से पूरी दुनिया में चमक रहे हैं।केंद्रीय रेलमंत्री सुरेश प्रभु व लालजी टण्डन समेत सभी नेताओं ने दीप कमल फाउंडेशन के संस्थापक अमरजीत मिश्र द्वारा अटलजी के जन्मदिन पर आयोजित “अटल गीत गंगा” के अनोखे कार्यक्रम की जमकर सराहना की।दिल्ली और मुम्बई की तरह देश भर में ऐसे ही आयोजन किये जाने की इच्छा भी सभी ने जताई।

कार्यक्रम में मुम्बई बीजेपी के संगठन मंत्री सुनील कर्जतकर, उपाध्यक्ष विनायक कामत,एडवोकेट दीनानाथ तिवारी,हैदर आजम,महामंत्री सुमंत घैसास,महाराष्ट्र बीजेपी के संगठन महामन्त्री रविन्द्र भुसारी, पूर्व उपमहापौर अरुण देव,अनिल मुरारका समेत कई प्रमुख लोग मंच पर उपस्थित थे। जबकि संचालन आनंद सिंह ने किया।

फोटो परिचय
उत्तरप्रदेश के पूर्व मंत्री व लखनऊ के पूर्व सांसद लालजी टण्डन को अटल सम्मान से सम्मानित करते हुए केंद्रीय रेलमंत्री सुरेश प्रभु,प्रदेश के संगठन महामन्त्री रविन्द्र भुसारी, मुंबई बीजेपी अध्यक्ष आशीष शेलार,संयोजक व बीजेपी के महामन्त्री अमरजीत मिश्र, अभिनेता शेखर सुमन,पार्वती खान, ललित पण्डित, सुरेश शुक्ल ।



सम्बंधित लेख
 

ईमेल सबस्क्रिप्शन

PHOTOS

VIDEOS

Back to Top