Wednesday, February 21, 2024
spot_img
Homeखबरेंकीट नन्हीं परी लिटिल मिस इण्डियाः2022 बनी

कीट नन्हीं परी लिटिल मिस इण्डियाः2022 बनी

भुवनेश्वर। 

29दिसंबर को कीट क्रिकेट ग्राउण्ड में सायंकाल कीट नन्हीं परी लिटिल मिस इण्डियाः2022 फिनाले का अति विराट आयोजन हुआ जिसमें ओडिशा की आयना राउतराय कीट नन्हीं परी लिटिल मिस इण्डियाः2022 बनीं जबकि पहली उपविजेता मेघालय की रईसा शहनवाज तथा द्वितीय उपविजेता गोवा की शाची राजेश सावंत बनीं। आयना राउतराय को इनाम में कैश तीन लाख रुपये तथा चमचमाता कीट नन्हीं परी लिटिल मिस इण्डियाः2022 का ताज मिला जिसे अपने हाथों से पहनाया तपस्वी महान शिक्षाविद् प्रो.अच्युत सामंत,प्राणप्रतिष्ठाता कीट-कीस तथा कंधमाल लोकसभा सांसद तथा नन्हीं परी के मुख्य संरक्षक ने । 

इस मेगा ऑडिशन और फाइनल राउंड में देश भर से कुल 9 फाइनलिस्ट को हराकर आयना ने कीट मिस इण्डिया नन्हींपरी का ताज और 3 लाख रुपये का नकद पुरस्कार जीता। नन्हीं परी ऑडीशन में कुल 26 प्रतियोगी सेमीफाइनल के लिए क्वालीफाई कीं थीं और उनमें से 10 ने फाइनल राउण्ड के लिए क्वालीफाई किया। प्रतियोगिता में मेघालय की रईसा सहनवाज फस्ट रनर-अप रहीं जबकि गोवा की साची राजेश सावंत सेकेण्ड रनर-अप रहीं। दोनों उपविजेताओं को क्रमशः एक लाख तथा 50 हजार रुपये के नकद पुरस्कार से सम्मानित किया गया। फाइनल राउण्ड में प्रतियोगियों को कई चरणों से होकर गुजरना पड़ा। अलग-अलग श्रेणियों में जैसे मिस रॅपन्जेल (सुंदर बाल) के लिए आयना, लिटिल मिस फोटोजेनिक के लिए झारखंड की अभिष्यका चांद, लिटिल मिस सेल्फी के लिए सिक्किम की सिद्दीका प्रसाद (फेसबुक पर सबसे अधिक लाइक), लिटिल मिस मोनालिसा शाची राजेश सावंत, लिटिल मिस विजकिड (प्रश्नोत्तरी में सर्वाधिक अंक) सिक्किम की अन्वी बान्या, मिस सिण्ड्रेला (सर्वश्रेष्ठ व्यक्तित्व) के लिए भुवनेश्वर की कृषिता महापात्र, मिस उवर्शी (सर्वश्रेष्ठ ज्ञान) के लिए रायशा शाहनवाज, मिस पर्सनेलिटी के लिए कोलकाता की पारिजात चौधरी, मिस एक्टिव के लिए भुवनेश्वर की चिराश्री सागरिका को पुरस्कृत किया गया।

 

पुरस्कारों में नकद, नन्हीं पर क्राऊन और प्रमाणपत्र शामिल थे। कुल पुरस्कार राशि 12 लाख रुपए की थी। उनमें से कीट नन्हीं परी वितेजा को कीट डीम्ड विश्वविद्यालय,भुवनेश्वर में किसी भी पाठ्यक्रम में नामांकन के लिए अकादमी फीस में अधिकतम 18 लाख रुपये की छूट होगी। साथ ही साथ उन्हें अपने पिता अथवा माता के साथ एक सप्ताह के लिए दक्षिण कोरिया जाने का अवसर कीट की ओर से मुफ्त प्रदान किया जाएगा। प्रतियोगिता में कुल 21 लाख रुपये का पुरस्कार दिया गया। इसी प्रकार, प्रथम उपविजेता के लिए कुल पुरस्कार की राशि 10 लाख के साथ एक लाख रुपए की नकद राशि और कीट में नामांकन कराने के लिए अकादमी फीस में 50 प्रतिशत शुल्क फ्री होगा अर्थात् अधिकतम 9 लाख रुपए की फीस माफ रहेगी। द्वितीय उपविजेता को 50,000 रुपए और कीट में नामांकित होने पर 50 फीसदी शुल्क माफ होगा अर्थात् अधिकतम 9 लाख रुपए अकादमी शुल्क की माफी की व्यवस्था है । 

इस अवसर पर अन्य श्रेणियों में सर्वश्रेष्ठ आने प्रतिभागियों को भी पुरस्कृत किया गया। आयोजित इस कार्यक्रम में कीट नन्हींपरी के मुख्य संरक्षक तपस्वी महान शिक्षाविद् अच्युत सामंत, संरक्षक मलय महापात्र, नन्हीं परी कोर कमेटी के सदस्य डॉ सुचेता प्रियबादिनी, डॉ श्रद्धाजंलि नायक आदि प्रमुख रूप से उपस्थित थे। इस वर्ष कीट नन्हीं परी का विशेष आकर्षण कोरिया के ग्लोरिया कोरियन डांस ग्रुप और सीरियन म्यूजिक एफ्रो डांस, सिनालिज और एम जोन डांस स्टूडियो द्वारा नृत्य प्रदर्शन रहा।

 कार्यक्रम में अतिथि के रूप में फेमिना मिस इंडिया वर्ल्ड 2020 की मोनसा बरनासी, फेमिना मिस इंडिया रनर अप 2020 मान्या सिंह, मिस दीबा सुप्रा नेशनल इंडिया प्रज्ञा अयांगरी, इंटरनेशनल ह्यूमैनिटी जनरल गवर्नर ची युके चोंग, कोरिया – इंडिया कल्चरल एक्सचेंज एसोसिएशन के अध्यक्ष नाम-सुक – यंग, सियोल स्थित मोनारेटेक कंपनी के अध्यक्ष जेआर जोसेफ चो, ओलंपियन दुती चांद, फिल्म अभिनेत्री अर्चिता साहू, फिल्म अभिनेता सब्यसाची महापात्र और फैशन डिजाइनर सनलिसा पटेल प्रमुख रूप से उपस्थित थे। इसप्रकार कीट द्वारा आयोजित ‘कीट नन्ही परी लिटिल मिस इंडिया 2022’ का फाइनल और मेगा राउण्ड गत गुरुवार को समाप्त हो गया।। 

image_print

एक निवेदन

ये साईट भारतीय जीवन मूल्यों और संस्कृति को समर्पित है। हिंदी के विद्वान लेखक अपने शोधपूर्ण लेखों से इसे समृध्द करते हैं। जिन विषयों पर देश का मैन लाईन मीडिया मौन रहता है, हम उन मुद्दों को देश के सामने लाते हैं। इस साईट के संचालन में हमारा कोई आर्थिक व कारोबारी आधार नहीं है। ये साईट भारतीयता की सोच रखने वाले स्नेही जनों के सहयोग से चल रही है। यदि आप अपनी ओर से कोई सहयोग देना चाहें तो आपका स्वागत है। आपका छोटा सा सहयोग भी हमें इस साईट को और समृध्द करने और भारतीय जीवन मूल्यों को प्रचारित-प्रसारित करने के लिए प्रेरित करेगा।

RELATED ARTICLES
- Advertisment -spot_img

लोकप्रिय

उपभोक्ता मंच

- Advertisment -spot_img

वार त्यौहार