Saturday, March 2, 2024
spot_img
Homeप्रेस विज्ञप्तिभाषा ही है सफलता की सारथी : प्रो. द्विवेदी

भाषा ही है सफलता की सारथी : प्रो. द्विवेदी

अमरावती। भारतीय जन संचार संस्थान (आईआईएमसी) के महानिदेशक प्रो. (डॉ.) संजय द्विवेदी ने गुरुवार को अमरावती स्थित पश्चिम क्षेत्रीय परिसर का दौरा किया। इस दौरान उन्होंने संस्थान के सभी अध्ययन कक्षाओं, कम्प्यूटर लैब, ग्रंथालय, स्टूडियो आदि का निरीक्षण किया और संस्थान में अध्ययनरत अंग्रेजी, हिंदी व मराठी पत्रकारिता पाठ्यक्रम के विद्यार्थियों के साथ संवाद भी किया। आईआईएमसी के पश्चिम क्षेत्रीय परिसर अमरावती की ओर से मराठी पत्रकारिता दिवस के मौके पर शुक्रवार 6 जनवरी, 2023 को होने वाले ‘संपादक संवाद’ कार्यक्रम में हिस्सा लेने के लिए प्रो. द्विवेदी अमरावती पहुंचे हैं।

विद्यार्थियों के साथ संवाद करते हुए आईआईएमसी के महानिदेशक ने कहा कि जीवन में प्रोत्साहन व प्रेरणा पाने के लिए बेहतरीन साहित्य का अध्ययन करें और किसी एक भाषा में निपुणता हासिल करें। उन्होंने जोर देकर कहा कि जीवन में सुगमता और सफलतापूर्वक आगे बढ़ने के लिए कम से कम तीन भाषाओं का ज्ञान हासिल करना आवश्यक है। प्रो. द्विवेदी के अनुसार लोगों पर प्रभाव स्थापित करने का भाषा एक बेहतर माध्यम है।

संवाद के दौरान प्रो. द्विवेदी ने विद्यार्थियों के साथ अपने दीर्घ पत्रकारिता एवं शैक्षणिक अनुभवों को भी साझा किया और विद्यार्थियों के सवालों का जवाब भी दिया। कार्यक्रम में पश्चिम क्षेत्रीय केंद्र, अमरावती के निदेशक प्रो. (डॉ.) वीरेंद्र कुमार भारती ने मुख्य अतिथि का पुष्प गुच्छ देकर स्वागत किया। आभार प्रदर्शन प्रो. अनिल जाधव ने किया। कार्यक्रम में डॉ. राजेश सिंह कुशवाहा, डॉ. विनोद निताले, डॉ. आशीष दुबे, संजय पाखोडे, राजेश झोलेकर एवं अन्य कर्मचारी उपस्थित रहे।

image_print

एक निवेदन

ये साईट भारतीय जीवन मूल्यों और संस्कृति को समर्पित है। हिंदी के विद्वान लेखक अपने शोधपूर्ण लेखों से इसे समृध्द करते हैं। जिन विषयों पर देश का मैन लाईन मीडिया मौन रहता है, हम उन मुद्दों को देश के सामने लाते हैं। इस साईट के संचालन में हमारा कोई आर्थिक व कारोबारी आधार नहीं है। ये साईट भारतीयता की सोच रखने वाले स्नेही जनों के सहयोग से चल रही है। यदि आप अपनी ओर से कोई सहयोग देना चाहें तो आपका स्वागत है। आपका छोटा सा सहयोग भी हमें इस साईट को और समृध्द करने और भारतीय जीवन मूल्यों को प्रचारित-प्रसारित करने के लिए प्रेरित करेगा।

RELATED ARTICLES
- Advertisment -spot_img

लोकप्रिय

उपभोक्ता मंच

- Advertisment -spot_img

वार त्यौहार