आप यहाँ है :

ज़िंदगी पर देखिये ‘इश्क़ में तेरे’ और ‘मन के मोती

जनवरी में दो टेलीविज़न नाटकों को शुरू करते हुए, ज़िन्दगी प्रस्तुत करता है ‘इश्क़ में तेरे’ शाम ६:१० पर और ‘मन के मोती -सीजन २’ रात ९ बजे। दोनों शो हर हफ्ते सोमवार से शनिवार तक प्रसारित होंगे। हरेक शो की एक अनोखी कहानी है जो ज़िन्दगी की विभिन्न चुनौतियों पर प्रकाश डालती है और बताती है कि प्यार की मिठास और रिश्तों की कड़वाहट को कैसे अपनाया जाए।

प्यार और जूनून के बीच के फर्क को उजागर करता, शाम ६:१० पर प्रसारित होनेवाला, ‘इश्क़ में तेरे’ एक रोमांटिक ड्रामा है जो एक हिम्मतवाली और स्वतंत्र लड़की, आईज़ा के चारो ओर घूमता है जिसका किरदार महविश हयात ने अदा किया है। आईज़ा के करिश्माई व्यक्तित्व की वजह से उसकी ज़िन्दगी में दो पुरुषों का प्रवेश होता है – शहरयार हमदानी एक कामयाब बिजनेसमैन है जो अपने ऊपर एक नाकाबायब शादी का बोझ लिए है और आईज़ा की सबसे अच्छी दोस्त लाइबा का पिता है और दूसरा है साद हमदानी, लाइबा का कज़न, जो शहरयार के लिए काम करता है और जिसे लाइबा चाहती है। हालाँकि, दोनों शहरयार और साद आईज़ा की और आकर्षित हैं, पर उसे चाहने के पीछे उन दोनों की दिलचस्पियाँ अलग- अलग हैं। इन उलझे हुए रिश्तों के असर से दिलों के टूटने का, अप्रत्याशित गुबारों और उलझनों का एक सिलसिला शुरू होता है। क्या आइज़ा की ज़िन्दगी में कोई नया इंसान आएगा या फिर इनमें से एक रिश्ता कोई अच्छा या बुरा मोड़ लेगा ?

‘मन के मोती-सीजन २’ एक संवेदनशील ड्रामा है। इसके पहले सीजन को दर्शकों ने बहुत सराहा था और ज़ोरदार मांग की वजह से यह ज़िन्दगी पर वापस आया है। इस सीजन में भी यह शो फारिआ की ज़िन्दगी पर केंद्रित है, उसके पति राहिल के साथ उसका रिश्ता और वो कैसे उसकी दूसरी बीवी, सायरा से निपटती है जो चाहती है कि राहिल बस उसके ही साथ रहे। एक बेहद मोहब्बत करने वाला शौहर और बाप, राहिल, अपनी दो बीवियों और उनके बच्चों के बीच बँटा हुआ है। देखिये कैसे सायरा की पसंद फारिआ और उसके बच्चों पर असर डालती हैं। क्या राहिल दोनों परिवारों के साथ कोई बीच का रास्ता ढूंढ पायेगा? क्या वह पारिवारिक कलह को सुलझा सकेगा या हालात राहिल को दोनों में से एक को चुनने पर मजबूर कर देंगे?

ज़िन्दगी के बारे में

imageभारत की प्रमुख टेलीविज़न मिडिया और मनोरंजन कंपनियों में से एक, ज़ी एंटरटेनमेंट इंटरप्राइजेज लिमिटेड (जीईईएल) ने २३ जून २०१४ को ज़िन्दगी शुरू किया था। यह एक उम्दा हिंदी मनोरंजन चैनल है जो सर्वोत्कृष्ट विषय-वस्तु के द्वारा दर्शकों का मनोरंजन करता है। २१०,००० घंटों की टेलेविज़न विषय-वस्तु वाली एक लाइब्रेरी के साथ ज़ी दुनिया के हिंदी कार्यक्रमों के सबसे बड़े निर्माताओं और समूहकों में से एक है। अग्रणी स्टुडिओं और प्रतिष्ठित फ़िल्मी सितारों के ३,५०० से अधिक मूवी टाइटल्स के अधिकार के साथ, ज़ी के पास दुनिया की सबसे बड़ी फिल्म लाइब्रेरी है। विश्व भर में अपनी ज़ोरदार उपस्थिति के माध्यम से ज़ी १६९ देशों में ९५.९ करोड़ दर्शकों का मनोरंजन करता है।

ज़िन्दगी जीईईएल के ‘वसुधैव कुटुम्बकम’ वाले कॉर्पोरेट तत्वज्ञान का एक प्रतिबिम्ब है, यानि कि, “दुनिया मेरा परिवार है। ” ‘ज़िन्दगी – जोड़े दिलों को’ चैनल के ब्राण्ड की स्थिति इस सत्य पर आधारित है कि चाहे सारी दुनिया के लोगों की संस्कृतियाँ भिन्न हैं और वे अलग त्यौहार मनाते हैं, पर हमारी ज़िन्दगियों की कहानियाँ और हमारे द्वारा महसूस किये जानेवाले जज़्बात एक जैसे हैं, जो हमें एक बंधन में बांधते और हमें करीब लाते हैं। इसी प्रस्थापना पर आधारित, ज़िन्दगी ने पाकिस्तान से कार्यक्रम प्रसारित करने के साथ शुरुआत की और इसने तुर्की से भी एक नया शो शुरू किया और अपने पहले मौलिक रिऐलिटी धारावाहिक, ‘शुक्रिया’ का निर्माण किया। कार्यक्रम निर्माण अपने दूसरे साल में, अपने दर्शकों के प्रति अपनी प्रतिबद्धता को मजबूती प्रदान करते हुए, ज़िन्दगी ने दो शोज़ – ‘भागे रे मन’ और ‘आधे अधूरे’ के साथ अपनी मूल काल्पनिक प्रोग्रामिंग श्रृंखला की शुरूआत की है – जो आधुनिक भारतीय नारी की भाबना के प्रतीक हैं।

वास्तविक, दोस्ताना, जीवंत और उत्तम कहानियाँ दिखाना ज़िन्दगी का लक्ष्य है और पुरस्कृत उपन्यासकारों और साहित्य के दिग्गजों द्वारा लिखित शोज़ के माध्यम से अपने यह दर्शकों को जोड़े रखता है और उनसे बात करता है। इनमें से बहुत सारे शो प्रसिद्ध उपन्यासों और पुस्तकों से लिए गए हैं। ज़िन्दगी २४ घंटे एनालॉग और डिजिटल (डीटीएच और डिजिटल केबल) प्लैटफॉर्म्स पर उपलब्ध है।

अधिक जानकारी के लिए

ज़िन्दगी

उषा थॉमस

[email protected]

डैनियल ग्रेसियस

[email protected]

एक्टिमीडिआ

दुर्गेश गोस्वामी

9820284823

[email protected]

अनुष्का भालेकर

9920754699

[email protected]

image_pdfimage_print


Get in Touch

Back to Top