आप यहाँ है :

फर्जी कंपनी बनाकर मारुति कुरियर्स को लगाया 70 लाख का चूना, एक गिरफ्तार

धोखाधड़ी के आरोप में मार्क कुरियर कंपनी पर छापा

मुंबई। देश की जानी मानी कुरियर कंपनी मारुति एयर कुरियर्स एन्ड कार्गो प्राइवेट लिमिटेड के साथ फर्जीवाड़े और धोखाधड़ी का मामला सामने आया है। मारुति कंपनी के नाम का गलत इस्तेमाल करने के जुर्म में मार्क एक्सप्रेस के निदेशक जेठूसिंह राठौड़ को पुलिस ने गिरफ्तार है, जबकि कोलकाता निवासी रामसिंह राठौड़ सहित कुछ मार्क कुरियर के कुछ निदेशक अब भी फरार है। पुलिस ने मार्क एक्सप्रेस के भुवनेश्वर स्थित रथ रोड़ ऑफिस से कई नकली दस्तावेज भी जब्त किए हैं। मारुति एयर कुरियर्स पर देश भर में करीब 10 हजार परिवार निर्भर है, जिसे बर्बाद करने की कोशिश को रोकने के लिए मारुति कुरियर्स के निदेशक पुखराज सिंह राजपुरोहित ने बॉम्बे हाईकोर्ट व पुलिस का आभार जताया है।

मारुति कुरियर्स के परिचालन निदेशक पुखराज सिंह राजपुरोहित ने बताया कि धोखाधड़ी होने की बात संज्ञान में आने के बाद उन्होंने बॉंबे हाईकोर्ट का दरवाजा खटखटाया। उल्लेखनीय है कि मारुति कुरियर्स भारत के विभिन्न राज्यों में फ्रेंचाइजी मॉडल पर अपना करोबार कर रही है। रामसिंह राठौड़ को मारुति कुरियर्स ने पूर्वी जोन की फ्रेंचाइजी दी थी तथा उसी की सिफारिश पर ओड़िशा की फ्रेंचाइजी जेठूसिंह को दी। लेकिन कतिपय गलतियों की वजह से पिछले साल कंपनी ने कोलकाता में रामसिंह राठोड़, राजकोट में हरीश खियानी, नई दिल्ली में लालसिंह राठौड़, गोवा में वीरेंद्रसिंह राठौड़, अहमदाबाद में रामसिंह राजपुरोहित की फ्रेंचाइजी सस्पेंड कर दी थी। इसके बाद इन सभी ने कुछ अन्य लोगों के साथ मिलकर हूबहू मिलता जुलता लोगो डिजाइन करने के साथ ही मारुति जैसी ही मार्क एक्सप्रेस नामक एक नई कंपनी बनाई। फिर कंपनी के पुराने ग्राहकों से यह कहकर नए सिरे से व्यापारिक संबंध बनाए कि मारुति का नाम बदल कर अब मार्क एक्सप्रेस हो गया है। इस तरह से इन लोगों ने यूटीआई, आइसीआइसीआइ बैंक, एक्सिस बैंक, रिलायंस आदि बड़ी बड़ी कंपनियों जैसे मारुति के ग्राहकों को बरगलाकर मारुति कुरियर्स के नाम पर उनके व्यापारिक समझौते करके कंपनी को भारी नुकसान पहुंचाया।

धोखाधड़ी के मामले में बॉंबे हाईकोर्ट ने मार्क एक्सप्रेस पर कई पाबंदियां लगा दी है। मारुति कुरियर्स मुख्य कार्यालय मुंबई में है, तथा ओड़िशा शाखा का कार्यालय भुवनेश्वर के खारवेल नगर में है। शिकायत में उल्लेख है कि मार्क एक्सप्रेस के निदेशक मारुति एयर कोरियरस एन्ड कार्गो का नाम एवं अन्य कई दस्तावेज इस्तेमाल करके ग्राहकों के साथ धोखा कर रहे हैं। फर्जीवाड़ा करके मार्क एक्सप्रेस ने मारुति कंपनी को 60-70 लाख का चूना लगाया, जिसकी रिपोर्ट भुवनेश्वर के लिंगराज पुलिस स्टेशन में रिपोर्ट दर्ज है। पुलिस ने तत्काल जेठूसिंह राठौड़ को तो 19 जून को गिरफ्तार कर लिया, मगर फरार अन्य निदेशकों की तलाश में पुलिस विभिन्न जगहों पर छापेमारी कर रही है।

image_pdfimage_print


Get in Touch

Back to Top