आप यहाँ है :

‘शांति का दूत’ जाकिर नाईक देश के 10 बड़े चैनलों पर मानहानि का मुकदमा ठोकेगा

नई दिल्ली। मीडिया के तीखे सवालों से बौखलाया जाकिर नाईक अब खुद के मीडिया पर भड़ास निकाल रहा है। नाईक ने मीडिया में खुद पर लगाए जा रहे आरोपों पर सफाई देते हुए कहा कि मैं देश के 10 बड़े चैनलों के खिलाफ मानहानि का मामला दर्ज कराने वाला हूं। उन्होंने कहा कि मीडिया ने मेरे बयानों को तोड़ा मरोड़ा और उसे मुद्दे से बाहर ले जाकर पेश किया। मेरे भाषणों के साथ छेड़छाड़ की गई।

जाकिर नाईक ने कहा- देश के 10 बड़े चैनलों पर ठोकूंगा मानहानि का मुकदमा इस्लामिक विद्वान जाकिर नाईक ने खुद के मीडिया ट्रायल जमकर खीज निकाली। नाईक ने मीडिया में खुद पर लगाए जा रहे आरोपों पर…

×
स्काईप पर मीडिया से जुड़े जाकिर ने सभी तरह की आतंकी घटनाओं की निंदा की और कहा कि अगर मुक्त सोच और बिना किसी पूर्वाग्रह के मेरे बयानों का विश्लेषण करेंगे तो पाएंगे कि मैं शांति का दूत हूं। जाकिर की सफाई से इतर हर तरफ सवाल पूछा जा रहा था कि अगर वह सही है तो मदीना से प्रेस कॉन्फ्रेंस क्यों कर रहा है, वह वतन क्यों नहीं लौटा?

मुंबई लोकल ट्रेन सीरियल ब्लास्ट में शामिल रहे राहिल के जाकिर नाईक के फाउंडेशन से जुड़े होने की चर्चा कुछ दिनों से हो रही है। जाकिर ने कहा कि आतंकी राहिल कभी भी हमारा स्टाफ नहीं था, वो वॉलनटिअर था। जब मुझे पता चला कि वह आतंकी हमले में शामिल है, तब मैंने उसका वीडियो पीस टीवी के शो से हटाने को कहा था।

ओसामा को आतंकवादी नहीं मानने वाले बयान पर इस्लामिक विद्वान ने कहा कि यह बयान 1998 का है, जिस वक्त 9/11 नहीं हुआ था। और जो बयान दिखाया गया उसके साथ भी छेड़छाड़ की गई। उन्होंने कहा कि अमेरिका पर मैंने कहा था कि जो कोई बेगुनाहों को मारता है, गलत है। मैंने जॉर्ज बुश को आतंकी बताया था।जाकिर नाईक महिलाओं पर दिए गए अपने भाषणों से भी चर्चा में रहे हैं। उन्होंने अब कहा कि अगर दो महिलाएं सड़क पर जा रही हैं। एक हिजाब में है जबकि दूसरी पश्चिमी कपड़ों में… हमले में किसे शिकार बनाया जाएगा?

गृह मंत्रालय सूत्रों के हवाले से खबर मिली है कि जाकिर नाईक के NGO में विदेशी फंड को लेकर हो रही जांच को लेकर छानबीन का दायरा बढ़ा दिया गया है। गृह मंत्रालय ने जाकिर नाईक से जुड़ी कंपनियों से उसके इनकम टैक्स रिटर्न की पूरी जानकारी इकट्ठा करने के लिए कहा है। पिछले 10 सालों के इशानकम टैक्स रिटर्न की जानकारी इकट्ठी की जा रही है। अभी तक की जानकारी के मुताबिक जाकिर नाईक के IRF को मिले लगभग 8 मिलियन पाउंड में से एक बड़ा हिस्सा पीस टीवी के खाते में ट्रान्सफर होने की बात सामने आई है।

image_pdfimage_print


सम्बंधित लेख
 

Back to Top