आप यहाँ है :

मआईएफएफ ने भारत-जापान राजनयिक संबंधों की 70वीं वर्षगांठ का उत्सव मनाया

17वां मुंबई अंतरराष्ट्रीय फिल्म महोत्सव भारत-जापान राजनयिक संबंधों की 70वीं वर्षगांठ मना रहा है। इसका उत्सव मनाने और दोनों देशों के बीच संबंधों को मजबूत करने के लिए पांच लघु फिल्मों का एक विशेष पैकेज एमआईएफएफ में कल शाम 6 बजे मुंबई स्थित फिल्म डिवीजन कॉम्प्लेक्स के सभागार-I में प्रदर्शित किया जाएगा।
इस पैकेज में शॉर्ट शॉर्ट्स फिल्म महोत्सव और एशिया (एसएसएफएफ एंड एशिया) की पांच शॉर्ट फिक्शन फिल्मों को चुना गया है। यह 1999 से टोक्यो में आयोजित एक वार्षिक ऑस्कर-क्वालीफाइंग शॉर्ट फिल्म फेस्टिवल है। यह एशिया के सबसे बड़े अंतरराष्ट्रीय लघु फिल्म समारोहों में से एक है।

आइए, हम इस विशेष पैकेज के तहत प्रदर्शित होने वाली फिल्मों पर एक नजर डालते हैं

होम अवे फ्रॉम होम
निर्देशक: जेम्स जिराजू

एक टैक्सी ड्राइवर, युवा लड़की और बैकर पैकर एक विलक्षण टोक्यो की यात्रा करते हैं, जो क्रमशः अफ्रीका, यूरोप और दक्षिण-पूर्व एशिया स्थित उन हर एक के घर से जुड़ा हुआ है। अकीको एक जापानी महिला है, जो सभी यात्राओं में शामिल होती हैं।

शेक्सपियर इन टोक्यो
निदेशक : यूकू सैतो

डाउन सिंड्रोम के साथ शेक्सपियर का एक ऑस्ट्रेलियाई प्रशंसक अपने दबंग बड़े भाई से दूर होने और अपनी स्वतंत्रता प्राप्त करने के लिए टोक्यो की यात्रा करने के रूप में एक एकल साहसिक कार्य पर निकलता है। अपनी इस यात्रा में वह जिरहपोश के अपने ज्ञान, अपनी स्केचबुक और अपनी बुद्धि का उपयोग उन लोगों का दिल जीतने के लिए करता है, जिनसे वह मिलता है।

जोसेज टूर डी टोक्यो
निदेशक : किमिये तनाका

यह फिल्म एक युवा मेक्सिकन व्यक्ति जोस और उसकी टोक्यो की पहली यात्रा की कहानी है, जब वह एक सोशल मीडिया हस्ती एलेक्स के लिए काम करता है। अपने सपनों को पूरा करने के प्रयास में शहर में चारों ओर घुमते हुए जोस को शहर के आकर्षण का पता चलता है।

दिस इज टोक्यो
निदेशक : बेन सुजुकी

यह फिल्म केंटो और एलिस की कहानी है। केंटो को सिंगापुर की एक कंपनी में कर्मचारी के रूप में चुना गया है। केंटों को कंपनी के अध्यक्ष एलिस क्वांग, जो टोक्यो आए हैं, के साथ रहने का काम सौंपा गया है। उनका उत्साह हीन व्यवहार एलिस को हैरान करता है। हालांकि, जब वे एक साथ टोक्यो में दर्शनीय स्थलों की यात्रा पर जाते हैं, तो हृदय में एक परिवर्तन होता है।

शाबू-शाबू स्पिरिट
निदेशक : यूकू सैतो

एक चिंतित पिता शोजो यह देखने के लिए कि उनकी बेटी का मंगेतर उसके योग्य है या नहीं, एक पड़ताल करता है। उनकी पत्नी शाबू-शाबू भोजन के लिए एक नाबे (खाना पकाने का बर्तन) तैयार करती है।

image_pdfimage_print


Get in Touch

Back to Top