ताजा सामाचार

आप यहाँ है :

मोदीजी की एक पहल से रुका हजारों करोड़ का भ्रष्टाचार

पीएम नरेंद्र मोदी की डायरेक्ट बेनिफिट ट्रांसफर को लेकर चलाई गई ‘पहल’ योजना से हजारों करोड़ रुपये का लीकेज रोकने में मदद मिली है।

पीएम मोदी ने उच्च स्तरीय बैठक कर सोमवार शाम को अधिकारियों से आधार और सब्सिडी के नकद हस्तांतरण की प्रक्रिया को लेकर जानकारी ली है। पीएम नरेंद्र मोदी ने खुद ट्वीट कर डायरेक्ट बेनिफिट ट्रांसफर स्कीम से बचने वाली रकम की जानकारी दी है। पीएम मोदी ने इस बैठक में अधिकारियों को ताकीद की कि लोगों को समय पर लाभ पहुंचना चाहिए और किसी भी तरह की बाधा नहीं आनी चाहिए।

पीएम नरेंद्र के ट्विटर हैंडल से किए गए ट्वीट में कहा गया, ‘आपको यह जानकर खुशी होगी कि 2015-16 में हम 30 करोड़ से ज्यादा लाभार्थियों को 61,000 करोड़ रुपये की राशि डायरेक्ट बेनिफिट ट्रांसफर स्कीम के तहत दे चुके है।’ पीएम नरेंद्र मोदी ने बताया कि इस दौरान देश भर में करीब 1.6 करोड़ फर्जी राशन कार्डों को डिलीट किया गया है।

पीएम नरेंद्र मोदी ने ट्वीट कर कहा कि फर्जी राशन कार्डों की पड़ताल करने से करीब 10,000 करोड़ रुपये की बचत हुई है। पीएम ने कहा कि यह उदाहरण है कि किस तरह से सब्सिडी के नकद हस्तांतरण की सुविधा से फर्जी लाभार्थियों को पकड़ने में कामयाबी मिली है। इसके अलावा 2014-15 में पहल योजना के फर्जी लाभार्थियों को भी पकड़ा गया है। इससे 14,000 करोड़ रुपये की बचत हुई है।

पीएम मोदी ने अधिकारियों से बैठक के दौरान कहा कि सब्सिडी के लिए ऐसी व्यवस्था होनी चाहिए, जिससे लोगों को किसी तरह की समस्या न होने पाए और वक्त पर लाभ हासिल हो सके। पीएम ने कहा कि यह प्रयास ट्रांसफॉर्मिंग इंडिया के हमारे लक्ष्य के लिए जरूरी हैं। इससे भ्रष्टाचार का खात्मा होगा और व्यवस्था मजबूत हो सकेगी।

साभार- टाईम्स ऑफ इंडिया से

image_pdfimage_print


सम्बंधित लेख
 

Back to Top