आप यहाँ है :

म.प्र. में सपाक्स ने नींद हराम की भाजपा और कांग्रेस की

गांधी जयंती पर सपाक्स पार्टी की विधिवत घोषणा, पूर्व आईएएस हीरालाल त्रिवेदी बने अध्यक्ष, 8 और पदाधिकारियों की घोषणा

सभी वर्गों के हितों के लिए पार्टी प्रदेश की सभी 230 सीटों पर लड़ेगी चुनाव, लोकसभा और नगरीय निकाय चुनावों में भी लेंगे हिस्सा

भोपाल। गांधी जयंती पर सपाक्स ने नई पार्टी के गठन की घोषणा की है। पार्टी का नाम सपाक्स समाज पार्टी रखा गया है। पार्टी प्रदेश की सभी 230 विधानसभा सीटों पर चुनाव लड़ेगी। पार्टी का पहला अध्यक्ष हीरालाल त्रिवेदी को बनाया गया। साथ ही, चार उपाध्यक्ष बनाए गए। पार्टी ने अपना झंडा भी लांच किया।

रविवार को भोपाल में सपाक्स की महाक्रांति रैली हुई थी। उसमें ऐलान किया था कि 2 अक्टूबर को पार्टी का गठन किया जाएगा। ऐसे में अब सपाक्स संगठन से राजनीतिक दल बन गया। सपाक्स ने प्रदेश कार्यकारिणी का भी गठन किया गया है। भाजपा नेता राजीव खंडेलवाल ने सपाक्स ज्वाइन की है, उन्हें उपाध्यक्ष बनाया गया है। वहीं, मप्र भूमि सुधार आयोग की सदस्य डॉ. वीणा घाणेकर आईएएस ने सपाक्स में जाने के लिए आयोग से इस्तीफा दे दिया है।


एससीएसटी एक्ट विरोध मुख्य मुददा:
सपाक्स ने ऐलान किया है कि वो प्रदेश की सभी 230 सीटों पर अपने प्रत्याशी उतारेगी। एससीएसटी एक्ट और प्रमोशन में आरक्षण का विरोध इनका प्रमुख चुनावी मुद्दा होगा। चुनाव आयोग की मंजूरी के बाद चुनाव चिन्ह तय होगा।

रविवार 30 सितंबर को महाक्रांति रैली के बाद सपाक्स ने सरकार पर आरोप लगाया था कि उसने रैली को नाकाम करने के लिए हर तरीके के हथकंडे अपनाए। 18 ट्रेन रद्द करने के साथ-साथ भोपाल शहर में सभा की अनुमति नहीं दी। बावजूद इसके सवर्ण समाज के सैकड़ों लोग रैली में शामिल होने भोपाल आए।

करणी सेना समेत कई संगठनों का समर्थन: एससीएसटी एक्ट की चौसर पर मध्य प्रदेश की सियासत में कई खिलाड़ी मैदान में कूद चुके हैं। सपाक्स भी अपना पूरा दम दिखा रही है। सपाक्स की सियासत मजबूत पार्टियों के लिए आखिर कितनी मुश्किल पैदा करेगी ये आने वाला वक्त ही बताएगा।

सपाक्स के 30 सितंबर को आयोजित क्रांति सभा में की गई घोषणानुसार गांधी जयंती के अवसर पर आज सपाक्स पार्टी का गठन कर दिया गया। मप्र के पूर्व आईएएस श्री हीरालाल त्रिवेदी नवगठित सपाक्स पार्टी के अध्यक्ष होंगे। इसके अलावा पार्टी में तीन उपाध्यक्ष, एक संयोजक, दो महासचिव, कोषाध्यक्ष तथा सह सचिव के पदाधिकारियों की प्रथम कार्यकारिणी की भी घोषणा की गई। डॉ. के.एल. साहू, उपाध्यक्ष, डॉ. वीणा घाणेकर, उपाध्यक्ष, श्री विजय वाते, उपाध्यक्ष, श्री राजीव खंडेलवाल, उपाध्यक्ष, इंजी. पी.एस. परिहार, संयोजक, श्री सुरेश तिवारी, महासचिव(संगठन), श्री हरीओम गुप्ता, महासचिव(कार्यालय), श्रीकांत घाणेकर, कोषाध्यक्ष, श्री पी.के. मंजूरे, सह-सचिव।

सपाक्स पार्टी की घोषणा के समय अध्यक्ष श्री हीरालाल त्रिवेदी, उपाध्यक्ष डॉ. वीणा घाणेकर, श्री राजीव खंडेलवाल, डॉ. केएल साहू, महासचिव श्री सुरेश तिवारी द्वारा महात्मा गांधी के चित्र पर सूत की माला अर्पण करते हुए उनका स्मरण किया गया। इसके बाद सभी पदाधिकारियों ने पार्टी के ध्यज का अनावरण किया।

सपाक्स पार्टी का झंडा जो ऊपर एंव नीचे लाल एंव मध्य में पीला रखा गया है जिस पर सपाक्स पार्टी लिखा गया है का लोकार्पण उपस्थिति सपाक्स पदाधिकारियों, जनसमूह एवं मीडिया के समक्ष किया गया। पार्टी के प्रथम अध्यक्ष श्री हीरालाल त्रिवेदी ने मीडिया से चर्चा में बताया कि सपाक्स पार्टी का गठन विधिवत रूप से राजनैतिक क्षेत्र में कार्य करने एवं आगामी विधानसभा चुनाव में मप्र की सभी 230 विधानसभा सीटों से चुनाव लड़ने के लिए किया गया है। उन्होंने कहा कि विधानसभा के साथ—साथ सपाक्स पार्टी आगामी लोकसभा और आने वाले नगरीय निकाय चुनावों में भी अपने प्रत्याशी उतारेगी। पार्टी के प्रमुख मुद्दों के बारे में श्री त्रिवेदी ने बताया कि एट्रोसिटी एक्ट में माननीय उच्चतम न्यायालय के दिशा निर्देशों का पालन होना चाहिए। पदोन्नति में आरक्षण पूर्णत: समाप्त करने, आरक्षण के लाभ हेतु क्रिमीलियर का निर्धारण करने एंव जाति, धर्म, संप्रदाय, वर्ग लिंग के आधार पर भेदभाव करने की राजनीति को पूर्णत: समाप्त करना है। इसके अलावा सभी वर्गो के सर्वांगीण विकास, भेदभाव रहित समाज, प्रदेश एंव देश में सामाजिक समरसता एवं सद्भावना बनाने का भी निर्णय लिया गया।

सपाक्स पार्टी की आज पहली कार्यकारिणी बैठक का भी आयोजन किया गया। बैठक में विधानसभा चुनाव के लिए सभी संभागों के प्रभारी गठित किए गए। पार्टी अध्यक्ष श्री हीरालाल त्रिवेदी की अध्यक्षता में हुई बैठक में निर्णय लिया गया कि प्रदेश भर में गांव—गांव तक पार्टी का विस्तार किया जाएगा। पार्टी पदाधिकारी दौरे कर पार्टी को मजबूती प्रदान करने का कार्य करेंगे। बैठक में यह भी निर्णय लिया गया कि पार्टी के मुद्दों को प्रदेश के हर वर्ग तक पहुंचाया जाएगा।



Leave a Reply
 

Your email address will not be published. Required fields are marked (*)

You may use these HTML tags and attributes: <a href="" title=""> <abbr title=""> <acronym title=""> <b> <blockquote cite=""> <cite> <code> <del datetime=""> <em> <i> <q cite=""> <s> <strike> <strong>

सम्बंधित लेख
 

Back to Top