आप यहाँ है :

श्री तुषार लाल के नये म्युज़िक वीडियो ‘सिफ़र’ को मिला शानदार प्रतिसाद


मुंबई।
अपने लोकप्रिय म्युज़िक वीडियो ‘जस्टिस लीग’ के ज़रिये मुंबई की झोंपड़पट्टी के वंचित बच्चों की शिक्षा के लिए पूरी दुनिया से तीन लाख रु. जुटाकर संगीत के ज़रिये समाज सेवा की अनूठी साधाना की एक उल्लेखनीय मिसाल पेश करने वाले पश्चिम रेल परिवार के प्रतिभाशाली युवा संगीतकार श्री तुषार लाल ने यू ट्यूब की दुनिया में एक और अहम उपलब्धि हासिल की है, जिसके अंतर्गत महात्मा बुद्ध के जीवन दर्शन पर आधारित तुषार के पिछले दिनों लॉन्च किये गये विलक्षण म्युज़िक वीडियो ‘सिफ़र’ को दर्शकों का शानदार प्रतिसाद मिल रहा है।

श्री तुषार पश्चिम रेलवे के प्रमुख मुख्य वाणिज्य प्रबंधक श्री राजकुमार लाल के सुपुत्र और यू ट्यूब की दुनिया के एक मेधावी संगीतकार हैं, जिनका बहुप्रतीक्षित मौलिक गीत ‘सिफ़र’ अब संगीत के प्रशंसक YouTube, Gaana.com, Apple Music, iTunes, Wynk Music तथा Idea Music सभी उपलब्ध पोर्टलों पर देख रहे हैं। इस खूबसूरत गीत की रचना हंगरी के बुडापेस्ट आर्केस्ट्रा के साथ संयुक्त रूप से हुई है और इस समय देश-विदेश के विभिन्न पोर्टलों पर यह तेजी से वायरल हो रहा है। सिफ़र न केवल हृदय को छूने वाली रचना है, बल्कि यह गहरे दार्शनिक अर्थ को भी छूती है। बुडापेस्ट आर्केस्ट्रा की सिम्फनी के साथ तुषार लाल के संगीत की यह अद्भुत रचना इसको Coke Studio जैसी गहराई प्रदान करती है। सिफ़र, जैसा कि नाम से ही पता चलता है, हमारे आपके जीवन में एक गहरे ‘कुछ न होने’ के भाव की ओर इशारा करता है, जहाँ जीवन में कोई उमंग या सार्थकता नहीं दिखती। गीत यहाँ से शुरू होकर इस पूरे संसार की ओर जीवन की व्यर्थता से बाहर निकलने का रास्ता बताता है, जिसे अपनाकर राजकुमार सिद्धार्थ अपने दु:खों से निकलकर सम्पूर्ण ज्ञान प्राप्त बुद्ध बन गये।

यह गीत यह बताता है कि अंत में इस गहरी शून्यता या सिफ़र या ‘कुछ न होने’ के भाव से ही ईश्वर या ख़ुदा का भाव मिलता है, जहाँ कुछ न होने में ही सब कुछ है। इस रूप में सिफ़र एक दु:खी, भ्रमित और इधर-उधर भटक रहे राजकुमार सिद्धार्थ के महात्मा बुद्ध बनने का विलक्षण गीत है। गीत की संगीत रचना दिल को छूने वाली है और इसके शब्द जीवन के उस अर्थ को बताते हैं, जो महात्मा बुद्ध ने महसूस किया। गीत के प्रमोटर Quiki तथा इसके संगीत पार्टनर बुडापेस्ट आर्केस्ट्रा हैं। इसके गायक संयुक्त रूप से देशभर में प्रसिद्ध मामे खान, इंडियन आयडल में प्रसिद्ध तेजिंदर सिंह और शताद्रु कबीर हैं। सिफ़र को सभी पोर्टलों पर तथा यू ट्यूब पर देखा जा सकता है, जो तेजी से वायरल हो रहा है। तुषार लाल एक जाना-पहचाना नाम बन चुका है तथा Forbes India पत्रिका ने उन्हें देश के प्रसिद्ध सेलिब्रिटी गायकों की लिस्ट में रखा है। India Today जैसे विभिन्न पत्रिकाओं तथा Online News पोर्टल पर भी श्री तुषार की उपलब्धियों का प्रमुखता से उल्लेख हुआ है।

उल्लेखनीय है कि पिछले दिनों यू ट्यूब की दुनिया के इस संगीतकार श्री तुषार लाल ने मुंबई की झोंपड़पट्टी के वंचित गरीब बच्चों की शिक्षा एवं विकास के लिए अपने म्युज़िक वीडियो ‘जस्टिस लीग’ में उनसे कार्य कराकर पूरी दुनिया से 3 लाख रुपये से अधिक की राशि एकत्रित की थी। श्री तुषार लाल यू ट्यूब पर विख्यात इंडियन ‘जैम’ ग्रुप के संस्थापक हैं। इस अभूतपूर्व सामाजिक प्रयास के लिए दुनिया भर से बहुत अच्छी प्रतिक्रियाएँ आईं और न केवल यह वीडियो यू ट्यूब पर लोकप्रिय हुआ, बल्कि यह किसी कलाकार द्वारा किया गया एक अनूठा सफल प्रयास माना गया। यू ट्यूब पर 2 करोड़ से ज्यादा बार लोगों के देखे जाने के बाद श्री तुषार लाल यू ट्यूब के उन ख्याति प्राप्त कलाकारों में से एक बन चुके हैं, जिन्होंने एक के बाद एक कई उत्कृष्ट प्रदर्शन किये। इस प्रयास से उन्होंने अपने संगीत को एक बहुत अच्छे सामाजिक सरोकार से जोड़ा है, जिसके माध्यम असल्फा की झोपड़पट्टी में रहने वाले गरीब बच्चों की पढ़ाई एवं उनको सशक्त बनाने के लिए सहायता दी जा रही है और अब अपने नये म्युज़िक वीडियो ‘सिफ़र’ के ज़रिये तुषार ने अपने संगीत को महात्मा बुद्ध् के जीवन दर्शन से जोड़ते हुए आध्यात्मिकता का प्रभावशाली पुट दिया है, जिसे व्यापक तौर पर सराहा जा रहा है।



Leave a Reply
 

Your email address will not be published. Required fields are marked (*)

You may use these HTML tags and attributes: <a href="" title=""> <abbr title=""> <acronym title=""> <b> <blockquote cite=""> <cite> <code> <del datetime=""> <em> <i> <q cite=""> <s> <strike> <strong>

सम्बंधित लेख
 

Back to Top