ताजा सामाचार

आप यहाँ है :

“मेरी क्रिकेट की कहानी दंगल फिल्म से बहुत मेल खाती है”— जेमिमा रॉड्रिग्स

हम सभी जानते हैं कि फिल्म दंगल फोगाट बहनों के वास्तविक जीवन की कहानी है। लेकिन हम यह नहीं जानते कि इन बहनों का सफर भारतीय महिला क्रिकेट टीम की ऑलराउंडर और उभरते हुए सितारे जेमिमाह रॉड्रिग्स से कितनी मिलती जुलती है। रॉड्रिग्स के पिताजी ने बचपन में उनके कोच की भूमिका निभाई और दंगल के पिता का सख्त अनुशासन वाला प्यार बिल्कुल वैसा ही था जैसे इन्होंने बड़े होते हुए अनुभव किया।

रॉड्रिग्स याद करते हुए बताती हैं कि, “जब मैं बड़ी हो रही थी तब वे बेहद सख्त कोच थे। वे प्रैक्टिस को लेकर बहुत सख्त थे– हमेशा से रहे। यदि उनकी सख्ती नहीं होती तो मैं भी वो नहीं होती जो मैं आज हूँ।”

रॉड्रिग्स सीनियर हां–में–हां मिलाते हुए कहते हैं, “जब मैं उसे कोचिंग दे रहा होता हूँ– तब मैं उसका कोच होता हूँ। स्ट्रिक्ट और फोकस्ड। और जैसे ही मैदान के बाहर आता हूँ, उसका गुरु बन जाता हूँ।”

ऐसे समय में जब महिला क्रिकेट को बहुत कम महत्व दिया जाता था, इवान रॉड्रिग्स ने कैसे अपनी बेटी को भारत के लिए खेलने को प्रशिक्षित किया?

वे बताते हैं, “जेमिमाह परिवार में सबसे छोटी हैं। इसलिए शुरुआती दिनों में मैं सिर्फ इसके बड़े भाईयों को ही मुख्य रूप से प्रशिक्षित कर रहा था। लेकिन मुझे फील्डिंग के लिए किसी की जरूरत थी– और यहीं पर जेमिमाह की इंट्री होती है। जब उसके भाई प्रैक्टिस कर रहे होते थे, तब उसे घंटों तक फील्डिंग करनी पड़ती थी और फिर उसे 15 मिनट के लिए बैटिंग मिलती थी। इसमें कोई दो राय नहीं है कि आज वह भारतीय टीम की सबसे अच्छी फील्डर्स में से एक है!”

हालांकि विश्व–स्तरीय क्रिकेट का उनका ये सफर बेहद थका देने वाला और चुनौतियों से भरा रहा है, लेकिन उन्हें इसके लिए पूरा सम्मान भी मिला। जेमिमाह के पिता कहते हैं, “ मुझे इसका दक्षिण अफ्रीका का पहला टूर याद है। भारत 160 रनों के लक्ष्य का पीछा कर रहा था— विदेशी जमीं पर इनके द्वारा पीछा किया जाने वाला सर्वाधिक स्कोर, जब जेमिमाह मैदान पर उतरी तब स्थिति बहुत खराब थी। उसने सत्ताइस गेंदों में सैंतीस रन बनाए और मिताली राज के साथ साठ से अधिक रनों की साझेदारी की। भारत वह मैच जीत गया था।”

“मुझे याद है जब मैच खत्म हुआ और स्प्रिंकलर्स की बौछार होने लगी, मैं रोने लगा और जी भर के रोया। भारत के लिए खेलना मेरे जीवन का सपना था और पच्चीस साल के बाद, मेरी बेटी ने मेरे लिए यह सपना साकार किया। वह बिल्कुल सपने जैसा था।”

रॉड्रिग्स के शानदार सफर के बारे में अन्य मज़ेदार किस्सों के लिए देखें क्रिकबड़ के स्पाइसी पिच शो का लेटेस्ट एपिसोड। इस श्रृंखला का सीज़न फिनाले एपिसोड क्रिकबज़ की वेबसाइट और एप पर शनिवार, 27 जून से उपलब्ध है।

लिंक: Jemimah Rodrigues Episode

Attachments area

image_pdfimage_print


सम्बंधित लेख
 

Back to Top