ताजा सामाचार

आप यहाँ है :

राष्ट्रीय डाक सप्ताह’ के तहत डाक निदेशक कृष्ण कुमार यादव ने किया ‘डाक जीवन बीमा दिवस’ का शुभारम्भ

जोधपुर। डाक विभाग पत्रों के वितरण के साथ-साथ जीवन बीमा के क्षेत्र में भी एक लम्बे समय से कार्यरत है। 1 फरवरी 1884 को आरंभ ‘डाक जीवन बीमा’ भारत में सरकारी व अर्द्ध सरकारी कर्मचारियों के लिए सबसे पुरानी बीमा योजना है। उक्त उद्गार राजस्थान पश्चिमी क्षेत्र, जोधपुर के निदेशक डाक सेवाएं श्री कृष्ण कुमार यादव ने ‘राष्ट्रीय डाक सप्ताह’ के तहत 14 अक्टूबर को जोधपुर में आयोजित ”डाक जीवन बीमा दिवस” पर व्यक्त किए।

निदेशक डाक सेवाएं श्री कृष्ण कुमार यादव ने कहा कि जीवन बीमा आज के दौर की एक अनिवार्य आवश्यकता है। डाक विभाग अपने विस्तृत नेटवर्क के माध्यम से सुदूर क्षेत्र में रह रहे लोगों को भी बीमित करने के लिए संकल्प है। ‘डाक जीवन बीमा’ के अलावा ग्रामीण क्षेत्रों के लिए डाक विभाग ने ‘ग्रामीण डाक जीवन बीमा’ भी आरम्भ की हुई है। डाक जीवन बीमा में अधिकतम बीमित सीमा 50 लाख और ग्रामीण डाक जीवन बीमा में 20 लाख है।

डाक जीवन बीमा के अन्तर्गत लाभों की चर्चा करते हुए डाक निदेशक श्री कृष्ण कुमार यादव ने कहा कि निवेश की सुरक्षा पर सरकार की गांरटी, धारा 88 के तहत आयकर में छूट, कम प्रीमियम व अधिक बोनस, पालिसी पर लोन की सुविधा, देश के किसी भी डाकघर में प्रीमियम जमा करने की सुविधा और अग्रिम प्रीमियम पर छूट दी जाती है। जमा प्रीमियम पर किसी तरह का किसी प्रकार के एजेन्ट कमीशन का भार प्रस्तावक पर नहीं पड़ता है।

डाक निदेशक श्री कृष्ण कुमार यादव ने कहा कि बीमा के क्षेत्र में भी डाक विभाग नित नये आयाम स्थापित कर रहा है। राजस्थान पश्चिमी क्षेत्र, जोधपुर में वर्तमान में कुल 7 लाख, 88 हजार 131 पॉलिसियाँ संचालित हैं, जिनमें डाक जीवन बीमा और ग्रामीण डाक जीवन बीमा में क्रमश : 76, 548 और 7,11,583 पॉलिसियाँ हैं। वर्तमान वित्तीय वर्ष में कुल 3,500 पॉलिसियाँ जारी की गईं, जिनमें कुल बीमित राशि 1 अरब 25 करोड़ के सापेक्ष 1 करोड़ 90 लाख रूपये का नया प्रीमियम और 65 करोड़ रूपये का कुल प्रीमियम अर्जित किया गया।

श्री यादव ने कहा कि अधिकाधिक लोगों को बीमित करने हेतु हर डाक मण्डल में गाँवों को चिन्हित करके उन्हें ग्रामीण डाक जीवन बीमा ग्राम के रूप में कवर किया जा रहा है वही शहरों में प्रमुख सरकारी विभागों को डाक जीवन बीमा संगठन के तहत लाया जा रहा है। सामाजिक सरोकारों के तहत चयनित गाँवों में डाक विभाग स्वच्छता अभियान के तहत स्कूलों में शौचालय भी बनवा रहा है।

जोधपुर मंडल के प्रवर डाक अधीक्षक श्री बी. आर. सुथार ने कहा कि डाकघरों में लोगों की आयु और आवश्यकता के हिसाब से जीवन बीमा की तमाम योजनायें हैं, जिनमें सुरक्षा, संतोष, सुविधा, युगल सुरक्षा, सुमंगल व चिल्ड्रेन पालिसी शामिल हैं।

इस अवसर पर डाक निदेशक श्री यादव ने लोगों को बीमा बॉण्ड सौंप करके उनके समृद्ध भविष्य की कामना कीI इस दौरान राजस्थान पश्चिमी क्षेत्र, जोधपुर के अंतर्गत विभिन्न जगहों पर डाक बीमा मेले का आयोजन किया गया, जिसमें लोगों को इसके बारे में जागरूक किया गया और लोगों का बीमा भी किया गया। इस अवसर पर सीनियर पोस्टमास्टर एल.एस. पटेल, सहायक अधीक्षक उदय शेजू, विनय कुमार खत्री, निरीक्षक रमेश जांगिड़, देवी चंद्र कटारिया, सहित डाक विभाग के तमाम अधिकारी-कर्मचारी, व नागरिकजन उपस्थित रहे।



सम्बंधित लेख
 

ईमेल सबस्क्रिप्शन

PHOTOS

VIDEOS

Back to Top