आप यहाँ है :

अब केबीसी में आएँगे कुछ चौंकाने वाले सवाल!


कौन बनेगा करोड़पति के आने वाले एपिसोड में कई चौंकाने वाले सवाल पूछे जा सकते हैं। विश्वसनीय सूत्रों का दावा है कि इन सवालों को वही हल कर सकेगा जिसको देश में ड्रग माफिया, भ्रष्टाचार, रिश्वत के लेन-देन आदि की पुख़्ता जानकारी होगी।

ड्रग को लेकर ये सवाल पूछे जा सकते हैं। फिल्मी दुनिया में कितने हीरो-हीरोईन हैं। कौन किस खेमे से है। उस हीरोईन का नाम बताओ जिसने सबसे पहले ड्रग ली। किस हीरोईन ने ड्रग न मिलने की वजह से आत्मत्या की? आत्महत्या की वजह ड्रग का नहीं मिलना था या फिल्म के निर्देशक द्वारा उसे धोखा देना। धोखा देने वाले फिल्म निर्दशक की कितनी बेटियाँ है? इसकी बेटियों ने कितनी फिल्मों में काम किया है? कितनी फिल्में फ्लॉप हुई है और कितनी हिट हुई है? वो कौनसा खानदान है जिसने अपने घर की बहू बेटियों को फिल्मों में लाने से परहेज किया? इस खानदान की कौन सी बहू बेटियाँ हैं जिन्होंने घर वालों से बगावत करके फिल्मों में काम किया?

फिल्मी दुनिया की थाली में छेद करने वालों को लेकर भी कई सवाल होंगे। ये भी पूछा जा सकता है कि फिल्मी दुनिया की जिस थाली में छेद होता है वो सोने की है, चांदी की है या ड्रग की? थाली में कितने छेद हैं और किस-किस ने कितने छेद किए हैं।

फिल्मी दुनिया में कितने कलाकार ड्रग लेते हैं और हर साल ड्रग का कितने का कारोबार फिल्मी दुनिया के लोगों की वजह से होता है। देश की जीडीपी में ड्रग लेने वालों और बेचने वालों का क्या योगदान है?

फिल्मी दुनिया के वो कौन से हीरो और हीरोईनें हैं जिन्होंने शादी के बाद तलाक दिया है और कितनों ने शादी के पहले ही तलाक दे दिया? वो कौनसे हीरो हीरोईन हैं जिन्होंने तलाक के बाद फिर शादी की और शादी के बाद फिर तलाक दिया। वो कौन से हीरो, निर्देशक और निर्माता हैं जिन पर मीटू के आरोप लगे और और वो कौन हैं जो अपनी होशियारी से इन आरोपों से बच गए।

फिल्मी दुनिया के किन बच्चों को अपने माँ या बाप की दूसरी शादी में बाराती बनकर जाने का मौका मिला?

सुशांत की हत्या पर सबसे ज्यादा रोचक, मजेदार, सनसनीखेज, चौंकाने वाले, हँसाने वाले, रुलाने वाले, सिर फोड़ लेने वाले खुलासे किस चैनल ने किए? देश की सबसे गंभीर समस्या क्या है- सुशांत की आत्महत्या, रिया का ड्रग लेना, किसान द्वारा आत्महत्या करना या कोरोना से लोगों का मरना?

अगर स्कूल में कोई बच्चा सबसे ज्यादा शरारत करता है तो उसे सजा देने के लिए कौनसा न्यूज़ चैनल दिखाया जाना चाहिए?

चैनलों की टीआरपी के हिसाब से देश के पागलखानों में भर्ती होने वाले मनोरोगियों की संख्या का अनुपात क्या है?

किसी पागलखाने में अगर टीवी लगा दिया जाए तो क्या उससे पागल ठीक हो जाएंगे, और भी पागल हो जाएंगे, पागलखाना छोड़कर भाग जाएंगे या टीवी फोड़ देंगे?

देश का सबसे तेज, सबसे घटिया, सबसे बकवास और सबसे झूठा चैनल कौन सा है?

अगर आपको किसी न्यूज चैनल का एंकर बना दिया जाए तो आप किन खबरों को दिखाकर उन पर बहस कराएँगे- पान की दुकान पर खड़े अवारा छोकरों की बातों पर, नल पर पानी भरने वाली औरतों के लड़ाई-झगड़ों पर, देशी दारु की कलाली पर शास्त्रार्थ करने वाले पियक्क्डों पर, स्कूल में झगड़ने वाले बच्चों पर या संसद की कार्रवाई पर?

राजनीति और प्रशासनिक व्यवस्था को लेकर भी चौंकाने वाले सवाल पूछे जाएंगे। कुछ सवाल इस प्रकार हैं। एक विधायक अपनी पार्टी का टिकट लेने के लिए 5 करोड़ रुपये देता है, विधायक बनने के बाद वह कितना भ्रष्टाचार करे कि अपने 5 करोड़ रुपये एक साल में, दो साल में, तीन साल में, चार साल में या पाँच साल में वसूल सके। अगर किसी विधायक को भ्रष्टचार करने का मौका नहीं मिल रहा हो तो इसके लिए कौन जिम्मेदार होगा। विधायक खुद, उसकी पार्टी, उुसके आसपास के नेता, प्रशासनिक अधिकारी या उसकी पत्नी? अगर किसी विधायक को अपनी पार्टी छोड़कर दल बदलना हो तो उसे कितने रुपये में बिकना चाहिए।

सांसदों को लेकर भी ऐसे ही सवाल पूछे जाएँगे और इसमेंटिकट की राशि दस करोड़ के हिसाब से बाकी के सवालों के जवाब देना होंगे।

कोई सांसद या विधायक अगर बिकने या दल बदलने के बाद वापस अपनी पार्टी में आना चाहे तो उसे अपने दल बदलने की राशि पुरानी पार्टी को वापस देना चाहिए, कुछ कमीशन काटकर देना चाहिए या ईमानदारी से पूरी राशि लौटा देनी चाहिए। ऐसी स्थिति में उसे वापस अपनी पुरानी पार्टी से ही वही रकम माँगनी चाहिए। दलबदल की सही परिभाषा क्या है- ह्रदय परिवर्तन, बिकाऊ, आयाराम गयाराम या दोगला?

अगर किसी अधिकारी के घर छापा पड़ा हो और उसके घर से 5 करोड़ या अधिक की राशि जप्त हुई है तो उस अधिकारी के ऊपर के अधिकारी, उस क्षेत्र के सरपंच, विधायक, सांसद, मंत्री और जिले के अधिकारियों की आमदनी क्या होगी।

अगर किसी क्षेत्र में 500 करोड़ रुपये के विकास कार्य हुए हैं तो उस विकास योजना से जुड़े अधिकारियों, बाबुओं, कर्मचारियों, सत्तारुढ़दल के नेताओँ, विधायकों, सांसदों, संबंधित विभाग के मंत्री, मुख्यमंत्री की आमदनी क्या होगी?

अगर किसी क्षेत्र में 1 हजार करोड़ के विकास कार्य होना है तो इसमें से कितनी राशि का घोटाला किया जाए कि ऊपर से नीचे तक के अधिकारी, कर्मचारी, मोहल्ले के नेता, दादा गुंडों, विधायक सांसद, जिला अधिकारी, संभाग के अधिकारी, राज् के अधिकारी आदि में से हर एक को कम से कम दो दो लाख रुपये कमीशन के मिल सकें? अगर कमीशन की रकम स्वीकृत योजना के बजट से ज्यादा हुई तो इस काम को कैसे अंजाम दिया जाएगा।

किसी क्षेत्र में अगर एक किसान आत्महत्या करता है तो उस क्षेत्र के विधायक , सांसद , कृषि अधिकारी, सरपंच, जिलाधिकारी की अतिरिरक्त आमदनी क्या होगी?

एक सरकारी अधिकारी का मासिक वेतन 50 हजार रुपये हैं और वह अपने बच्चों को जिस निजी स्कूल में पढाता है उसकी फीस ही 50 हजार रुपये महीना है तो उस क्षेत्र में कितने करोड़ की विकास योजनाएँ चल रही होगी? इस योजना के आधार पर ये बताईये कि कितने और सरकारी अधिकारियों के बच्चे इस निजी स्कूल में इतनी ही फीस देकर पढ़ सकते हैं?

एक अधिकारी को अपने बच्चे को विदेश में पढ़ने भेजने के लिए तत्काल दस लाख रूपये की आवश्यकता है, उसे अपने भेत्र के लिए कितने करोड़ की विकास योजनाएँ स्वीकृत कराना चाहिए

किसी भी क्षेत्र में विकास के लिए जो बजट आता है उसका बँटवारा, सांसद, विधायक व मंत्री से लेकर संबंधित अधिकारियों में किस अनुपात मे होता है?

अगर किसी प्रदेश के मंत्रिमंडल के सभी मंत्री भ्रष्ट हैं तो उस प्रदेश के मुख्यमंत्री की आमदनी क्या होगी?

वन विभाग द्वारा खाली पड़ी एक बंजर भूमि पर हर साल हजारों पेड़ लगाए जाते हैं-पेड़ों की संख्या के आधार पर भूमि का क्षेत्रफल और वन अधिकरियों की आमदनी का अनुपात निकालें। साथ ही ये भी बताईये कि इस बंजर भूमि पर कितने साल तक कितने पेड़ लगाए जाते रहें ताकि ये बंजर बनी रहे और हर साल वृक्षारोपण किया जा सके।

किसी सरकार ऑफिस में अगर चपरासी के एक पद के लिए नियुक्ति होनी है और दस हजार आवेदन आए हों तो इस पद पर नियुक्ति देने वाले अधिकारी और मंत्री की आमदनी बताईये।

कोई भ्रष्ट अधिकारी या कर्मचारी अगर दस हजार की रिश्वत लेते हुए पकड़ा गया है तो वो कितने की रिश्वत देगा कि वह इस आरोप से बच जाएगा।

ताज़ा आँकड़ों के अनुसार अगर हमारे देश में कोरोना के केस 57,32,518 मरीज हैं और 91,149 मौतें हो चुकी है, तो इसके लिए कौन जिम्मेदार है? कोरना वायरस, मरीज, उसके घरवाले, डॉक्टर, सरकार या मरीज खुद।

देश में अगर कोरोना से दस लाख लोग मर जाएँ तो देश की जीडीपी में कितनी वृध्दि होगी। किसी क्षेत्र में कोरोना के 100 मरीज प्रतिदिन मिल रहे हैं और ये संख्या लगातार बढ़ती ही जा रही है तो उस क्षेत्र के अस्पतालों, डॉक्टरों और मेडिकल वालों की आमदनी किस अनुपात में बढ़ेगी? अगर इलाज के दौरान किसी मरीज की मौत हो जाती है और अस्पताल वाले तीन चार दिन तक उसकी मौत की जानकारी नहीं देते तो अस्पताल वाले कितने का बिल बनाएँगे? किसी अस्पताल में कोरोना के कितने मरीज भर्ती किए जाएँ कि अस्पताल का मालिक और हर डॉक्टर मर्सीडिज़ खरीद लें और बाकी का स्टाफ मारुति और सबसे छोटे कर्मचारी स्कूटर खरीद सकें।

साभार- अमर उजाला से

image_pdfimage_print


सम्बंधित लेख
 

Back to Top