आप यहाँ है :

अब मोबाइल एप बताएगा डाक की लोकेशन, डाक खर्च, ब्याज दर और डाक बीमा प्रीमियम

जोधपुर। यदि आपने कोई महत्वपूर्ण डाक भेजी है और वह सही सलामत गंतव्य तक पहुंची है या नहीं ये जानकारी जानना चाहते हैं तो इसके लिए अब डाक घर का चक्कर लगाने की जरूरत नहीं है, बल्कि एक एेप के जरिए ही आप घर बैठे-बैठे इस बारे में जान सकते हैं। इस सम्बन्ध में जानकारी देते हुए राजस्थान पश्चिमी क्षेत्र के निदेशक डाक सेवाएँ कृष्ण कुमार यादव ने बताया कि डाक विभाग ने ग्राहकों की सुविधा के लिए हाल ही में ‘पोस्ट इन्फो एेप’ का अपडेट वर्जन लांच किया है, जो एंड्रॉयड और विंडोज दोनों ऑपरेटिंग सिस्टम पर काम करेगा। इस ऐप को डाक विभाग के ही सेंटर फॉर एक्सीलेंस इन पोस्टल टेक्नॉलॉजी, मैसूर ने तैयार किया है। पोस्ट इन्फो एप डाककर्मियों के साथ-साथ ग्राहकों, बचत एजेंट, डाक बीमा एजेंटों सभी के लिए सुविधाजनक है।

निदेशक डाक सेवाएँ कृष्ण कुमार यादव ने बताया कि पोस्ट इन्फो एप में 6 तरह की जानकारियाँ उपलब्ध कराई जा रही हैं। इनमें ट्रैकिंग,पोस्ट ऑफिस सर्च, पोस्टेज कैलकुलेटर, इंटरनेशनल स्पीड पोस्ट, बीमा के लिए प्रीमियम कैलकुलेटर और विभिन्न बचत योजनाओं पर ब्याज दर शामिल हैं।श्री यादव ने कहा कि ”ट्रैकिंग” के तहत ग्राहक पोस्ट आॅफिस में बुक किये गए स्पीड पोस्ट,रजिस्टर्ड पोस्ट, रजिस्टर्ड पार्सल और ई-मनीआॅर्डर के बारे में इस एप के माध्यम से जान सकता है कि इनकी लोकेशन कहाँ है और ये कब वितरित हुए। ”पोस्ट ऑफिस सर्च” में किसी भी डाकघर का नाम लिखकर उसका पिनकोड या किसी पिनकोड के अधीन कुल डाकघरों के नाम खोजे जा सकते हैं। इससे पत्र भेजने में सहूलियत होगी।

“‘पोस्टेज कैलकुलेटर” में किसी आर्टिकल का वजन, इंश्योरेंस अमाउंट, वीपी अमाउंट फीड करने के बाद उसे भेजने में कितना खर्च आएगा सब आपको बता देगा। इसके तहत -ई-मनीआॅर्डर , इंस्टेंट ई-मनीआॅर्डर और मोबाईल मनी ट्रांसफर की दरों के बारे में भी जाना जा सकता है। ”इंटरनेशनल स्पीड पोस्ट” को नए वर्जन में ही शामिल किया गया है। इसमें देश का नाम और आर्टिकल का वजन फीड करने पर यह एप उस पर आने वाले खर्च को तुरंत बता देगा। ”प्रीमियम कैलकुलेटर” बीमित राशि और बीमाधारक की उम्र फीड करने पर डाक जीवन बीमा और ग्रामीण डाक जीवन बीमा के तहत जमा किये जाने वाले प्रीमियम को तुरंत कैलकुलेट करके बता देगा। इसके अलावा डाक विभाग की बचत खाता, आवर्ती जमा खाता, टाइम डिपाजिट, मासिक आय योजना, सीनियर सिटीजन सेविंग स्कीम, पब्लिक प्रॉविडेंट फंड, राष्ट्रीय बचत पत्र, किसान विकास पत्र और सुकन्या समृद्धि योजना पर मिलने वाले ब्याज को भी गणना कर पता किया जा सकता है।

निदेशक डाक सेवाएँ कृष्ण कुमार यादव ने कहा कि आई. टी. माडर्नाइजेशन के तहत डाक विभाग में कोर बैंकिंग, कोर इंश्योरेंस और रूरल आई. सी. टी. जैसी तमाम योजनाएं आरम्भ की जा रही हैं। ऐसे में इस डिजिटल दौर में अब छोटी-छोटी जानकारियों के लिए लोगों को पोस्ट ऑफिसेज का चक्कर लगाने की जरूरत नहीं, बल्कि ”पोस्ट इन्फो एप” के माध्यम से लोग घर बैठे डाक सेवाओं के बारे में जान सकेंगें। डाकघरों के पिनकोड ढूंढने के साथ-साथ आर्टिकल को ट्रैक करने, डाक भेजने पर आने वाले खर्च, बीमा की प्रीमियम राशि, बचत योजनाओं में ब्याज दर जैसी जानकारियाँ अब खुद उनके मोबाईल में इस एप के माध्यम से उपलब्ध होंगी।

image_pdfimage_print


Get in Touch

Back to Top