आप यहाँ है :

हिंदी साहित्य परिषद् के पदाधिकारी उत्कृष्ट प्रदर्शन के लिए तैयार

राजनांदगांव। शासकीय दिग्विजय महाविद्यालय में आयोजित एक समारोह में स्नातकोत्तर हिंदी साहित्य परिषद् की घोषणा की गई। प्राचार्य डॉ. आर.एन.सिंह के मुख्य आतिथ्य और डॉ. चन्द्रकुमार जैन की अध्यक्षता में यह कार्यक्रम सोत्साह संपन्न हुआ। इस अवसर पर प्राचार्य डॉ.सिंह ने उच्च अंकों के आधार पर परिषद् के नेतृत्व का अवसर तथा गौरव प्राप्त करने वाले विद्यार्थियों को बधाई दी। उन्होंने विद्यार्थियों को अपनी क्षमता को निरंतर निखारते रहने की जरूरत समझायी और अपनी योग्यता प्रमाणित करने की सीख दी। प्रसंगवश आयोजन में हिंदी के बढ़ते दायरे और उसके विश्व वैभव पर भी चर्चा की गई। डॉ. चंद्रकुमार जैन ने सभी छात्र-छात्राओं को विभाग की अकादमिक एवं रचनात्मक गतिविधियों में सतत श्रेष्ठ प्रदर्शन की प्रेरणा दी। डॉ. बी. एन.जागृत ने परिषद् को अच्छे प्रदर्शन की शुभकामना दी।

गरिमामय कार्यक्रम में डॉ. चंद्रकुमार जैन ने हिंदी साहित्य परिषद् के पदाधिकारियों के नाम उद्घोषित किए। तदनुसार अध्यक्ष कु.यामिनी साहू, उपाध्यक्ष भूषण वर्मा, सचिव कु.मधु सेन और सहसचिव कु.गरिमा मेश्राम होंगी। कार्यकारिणी में शुभम तिवारी, धर्मेश, नागेश पठारी, काजल पांडेय, कुश्मा और संतोषी यादव को शामिल किया गया है। हिंदी साहित्य परिषद् ने सत्र की गतिविधियों में सजग रहकर प्रभावी सहयोग देने का संकल्प किया। डॉ. जैन ने बताया कि विभाग द्वारा ऐतिहासिक सफलता के साथ हुए हिंदी सप्ताह के बहुआयामी कार्यक्रमों में भी परिषद् ने सराहनीय भागीदारी करते हुए सहयोग प्रदान किया। इस अवसर पर डॉ. नीलम तिवारी, डॉ. स्वाति दुबे, डॉ. गायत्री साहू और सोमेश राठौर उपस्थित थे।



सम्बंधित लेख
 

Back to Top