ताजा सामाचार

आप यहाँ है :

‘गरीब रथ’ वालों की पुकार नहीं सुनी प्रभु और उनके अधिकारियों ने

प्रभु की रेल बहुत सुरक्षित है. रेल मंत्री सुरेश प्रभु को एक tweet कर लीजिये रेल के अन्दर पलभर में सारी समस्याओं का समाधान हो जाएगा. लेकिन दावे मुंबई-जबलपुर गरीब रथ के यात्रियों की कहं कोई सुनवाई नहीं हुई।

मुंबई जबलपर गरीब रथ में 2 जनवरी की रात के तकरीबन 11 बजे से लेकर लगभग पूरी रात शराब के नशे में लोगों के साथ बदसलूकी होती रही. जिससे यात्रा कर रहे लोगों को पूरी रात दहशत में गुजारनी पड़ी. गरीब रथ के ट्रेन संख्या 12188, कोच न. G9, सीट न. 40 and 42 में टीटीई सहित कई लोग नशे कर पूरी रात यात्रियों से बदसलूकी करते रहे.

जिससे महिलाए और बच्चे बेहद खौफजदा हो गए. बाथरूम तक नही जा पा रहे थे. सब ख़ामोशी से रेल प्रशासन और प्रभु की प्रणाली स्टेशन दर स्टेशन राह ताकते रहे. कोई तो आएगा और इस नारकीय स्थति से छुटकारा दिलाएगा. लेकिन कोई नहीं आया. चूंकि प्रभु का ट्विट भी नाकामयाब साबित हुआ.

सुरेश प्रभु को tweet से लेकर मध्यप्रदेश के रलवे पुलिस डीजीपी को इस घटना की जानकारी दी गई लेकिन मामले में कोई एक्शन तक नही लिया जा सका.

घटना के तुरंत बाद ही सोशल मीडिया के जरिए खबर मिलते ही एक मीडियाकर्मी पूरी जानकारी रेल मंत्री सुरेशप्रभु के OSD को भी SMS कर दी . परन्तु ट्रेन हरदा स्टेशन क्रॉस हो गई लेकिन रेलवे का कोई भी कर्मचारी नही पहुंचा और न ही कोई कार्रवाई हुई.

image_pdfimage_print


सम्बंधित लेख
 

Back to Top