आप यहाँ है :

ओएनजीसी ने आज़ादी का अमृत महोत्सव के तहत अनेक गतिविधियों का आयोजन किया

देश की आज़ादी के 75वें वर्ष के समारोहों के एक हिस्से के रूप में पेट्रोलियम एवं प्राकृतिक गैस मंत्रालय के तत्वाधान में ऊर्जा क्षेत्र की महारत्न कंपनी तेल एवं प्राकृतिक गैस निगम लिमिटेड (ओएनजीसी) ने देश के विभिन्न हिस्सों में स्थित अपने तेल क्षेत्रों के बारे में जानकारी देने के लिए केन्द्रीय विद्यालय एवं इंजीनियरिंग कॉलेज के छात्रों के लिए अध्ययन संबंधी दौरों का आयोजन किया। इन अध्ययन दौरों से देश के तेल एवं गैस व्यवसाय के प्रति युवा पीढ़ी में रूचि पैदा हुई है, जो भारत की ऊर्जा स्वतंत्रता का महत्वपूर्ण तत्व है। इन सभी अधययन दौरों के आयोजन में कोविड संबंधी प्रोटोकॉल का अनुपालन किया गया था।

ओएनजीसी ने इस आज़ादी के अमृत महोत्सव के तहत सितंबर 2021 से जनवरी 2022 के बीच 25 समूहों के अध्ययन दौरों के आयोजन की विस्तृत योजना बनाई है और प्रत्येक समूह में लगभग 100 छात्र शामिल है। इस योजना के तहत ओएनजीसी पहले ही छात्रों के पांच समूहों के फील्ड विजिट को पूरा कर चुका है। ये अध्ययन दौरे ओएनजीसी के पांच विभिन्न परिसर क्षेत्रों अहमदाबाद, मेहसाणा, अंकलेश्वर, कैम्बे और कावेरी में 1 से 15 सितंबर की अवधि में आयोजित किए गए थे। इन अध्ययन दौरों में छात्रों को ऊर्जा कारोबार की विभिन्न बारीकियों तथा विज्ञान एवं प्रौद्योगिकी क्षेत्र की विभिन्न पहलों से अवगत कराया गया।

उत्तर गुजरात के मेहसाणा स्थित ओएनजीसी परिसर में पाटन सरकारी इंजीनियरिंग कॉलेज के 96 छात्रों को 4 समूहों में शोभासन सेंट्रल टैंक फार्म ले जाकर तेल क्षेत्र के अभियानों से अवगत कराया गया। ओएनजीसी के वरिष्ठ तकनीकी कार्यकारी अधिकारियों ने इन छात्रों से बातचीत करते हुए अभियान की बारीकियों से अवगत कराया। यह अध्ययन दौरा 13 से 14 सितंबर तक आयोजित किया गया था।

ओएनजीसी कैम्बे परिसर ने कक्षा 8, 9 और 10 के विद्यार्थियों के तीन समूहों के लिए लुनेज म्यूजियम और अखोलजुनी के लिए दौरे आयोजित किए। ये अध्ययन दौरे 13 से 15 सितंबर तक आयोजित किए गए और प्रत्येक समूह में छात्रों की संख्या 30 थी। ओएनजीसी अंकलेश्वर परिसर ने अंकलेश्वर केन्द्रीय विद्यालय के छात्रों के लिए अध्ययन दौरे का आयोजन किया और छात्रों को तेल कुओं, सीटीएफ तथा अन्य कार्यों के बारे में जानकारी दी।

ओएनजीसी कावेरी परिसर ने कोविड महामारी की स्थिति को देखते हुए 1 से 15 सितंबर तक 100 छात्रों के अध्ययन दौरे का आयोजन किया और इन्हें 10-10 छात्रों के समूहों में बांटा गया था। इस अध्ययन दौरे में पुद्दुचेरी इंजीनियरिंग कॉलेज के छात्रों ने हिस्सा लिया और प्रत्येक बैच में कॉलेज संकाय के सदस्य भी थे। छात्रों को कुथालम और नरीमानम संयंत्रों में ले जाकर विभिन्न गतिविधियों से अवगत कराया गया।

image_pdfimage_print


सम्बंधित लेख
 

Back to Top