आप यहाँ है :

कोरोना काल में जनजागरूकता और मीडिया के दायित्व विषय पर संवेदीकरण वेबनार का आयोजन

भोपाल। प्रदेश में कोरोना आधारित भेदभाव और लांछन ख़त्म करने हेतु जन जागरूकता बढ़ाने हेतु संवेदीकरण वेबनार का आयोजन किया गया I यूनिसेफ, पब्लिक रिलेशन सोसायटी ऑफ़ इंडिया, नीयो -विजन सोसायटी, रेडियो चस्का और वर्किंग जर्नलिस्ट एसोसियेशन द्वारा संयुक्त रूप से यह आयोजन किया गया I आयुक्त जन संपर्क डॉ. सुदाम खाड़े कार्यक्रम के मुख्य अतिथि तथा वरिष्ठ पत्रकार एवं राजनैतिक विश्लेषक श्री गिरिजा शंकर कार्यक्रम के विशेष अतिथि थे I कार्यक्रम में श्री पुष्पेन्द्र पाल सिंह, प्रधान सम्पादक, रोजगार और निर्माण एवं चेयरमेन, पी आर एस आई, भोपाल, श्री ब्रम्ह्प्रकाश,वरिष्ठ कम्युनिटी ब्रॉडकास्टर तथा श्री विजोय पात्र वरिष्ठ कम्युनिटी रेडियो विशेषज्ञ सहित देश-प्रदेश के विभिन्न आकाशवाणी, एफ एम रेडियो, कम्युनिटी रेडियो तथा वेब मीडिया संपादकों और प्रस्तोताओं ने भाग लिया I वेबिनर का संचालन यूनिसेफ सलाहकार आशीष चौबे ने किया. स्वागत उद्बोधन डॉ. संजीव गुप्ता, सचिव, पी आर एस आई, भोपाल ने तथा आभार प्रदर्शन श्री योगेश पटेल संयुक्त सचिव, पी आर एस आई ने किया I

कार्यक्रम में डॉ सुदाम खाड़े (आई.ए.एस.), आयुक्त जनसंपर्क विभाग म.प्र., ने कहा कि समाज में पहले भी कुष्ठ और एचआईवी जैसी अन्य बीमारियों के प्रति भेदभाव और लांछन की भावना रही है I कोरोना को लेकर लोगों में डर है, लेकिन यदि डर के कारण लोग सावधानियों का पालन करते हैं तो डर अच्छा है. अभी कोरोना को लेकर लगातार शोध हो रहे हैं, ऐसे में संक्रमण के कई पहलूओं पर लोग कयास लगा लेते हैं I इन्हीं के बीच कहीं अफवाहें जन्म ले लेती हैं I इस संक्रमण से हमारी लड़ाई ने अधिक समय ले लिया है, ऐसे में सभी सेवा प्रदाताओं का धैर्य, उत्साह और मनोबल बनाये रखना पूरे समाज की जिम्मेदारी है I प्रदेश शासन अपने स्तर पर टेस्टिंग, उपचार और संक्रमण नियंत्रण के लिए हर सम्भव प्रयास कर रहा है।

कार्यक्रम के विशेष अतिथि और वरिष्ठ पत्रकार एवं राजनैतिक विश्लेषक गिरिजा शंकर ने कहा कि कोरोना संक्रमण से सुरक्षित रहते हुए जीवन को सामान्य बनाने के लिए लोगों में विश्वास जगाना होगा I जिंदगी को रफ़्तार देने के लिए सावधानियां मानते हुए चलना होगा I इसके कार्य में मीडिया को महत्वपूर्ण भूमिका निभानी होगी I आज समाज में एक तरफ चरणबद्ध ढंग से लॉक डाउन खुलने से लोग राहत महसूस कर रहे हैं, वहीँ संक्रमण के बढ़ते प्रकरणों से लोगों को चिंता भी हो रही है I भेदभाव और लांछन जैसी प्रवृतियाँ इस संक्रमण से हमारी लड़ाई को कमज़ोर बनाती हैं I संवाद से दुनिया की हर समस्या का हल खोजा जा सकता है I हमें तथ्य लिखना होते हैं लेकिन उनसे लोगों में भय न फैले इस ढंग से लिखना या दिखाना हमारा दायित्व होना चाहिए I

कार्यक्रम के प्रमुख वक्ता तथा प्रधान सम्पादक, रोजगार और निर्माण एवं चेयरमेन, पी आर एस आई, भोपाल चेप्टर श्री पुष्पेन्द्र पाल सिंह ने कहा कि अब हर कार्य में कोरोना से सुरक्षा के उपायों का समावेश करना होगा I इस सन्दर्भ में उन्होंने हाल ही में चुनाव आयोग द्वारा जारी किये गए दिशा निर्देशों का भी उल्लेख किया I उन्होंने कहा कि चुनावों के दौरान भी पत्रकारगण कोरोना संक्रमण से सुरक्षित रहते हुए अपना कार्य करें I पूरी चुनाव प्रक्रिया के दौरान संक्रमण से सुरक्षित रहते हुए चुनाव आयोजित कराने हेतु चुनाव आयोग ने विस्तृत दिशा निर्देश जारी कर दिए हैं I समाज को कोरोना आधारित भेदभाव और लांछन से मुक्त बनाने हेतु सार्थक पत्रकारिता करने की बात करते हुए उन्होंने कहा कि कम्युनिटी रेडियो और वेब पत्रकारिता की समाज के बड़े वर्ग तक पहुँच हैI उन्होंने कोरोना काल में रिपोर्टिंग हेतु संक्रमण विमुक्तिकरण के उपायों की विस्तृत जानकारी भी दी I कोरोना की वर्तमान स्थिति, लक्षण एवं बचाव के लिए आवश्यक व्यवहार के विषय में यूनिसेफ सलाहकार श्री आशीष चौबे ने प्रस्तुतीकरण किया.

कार्यक्रम में श्री विजोय पात्र, श्री ब्रह्मप्रकाश, श्री सुरेन्द्र माथुर, आर जे पीहू, आर जे सुधा, श्री संदीप कुलश्रेष्ठ, श्री जितेन्द्र शर्मा, सुश्री तूलिका शर्मा, श्री संजीव शर्मा और श्री सरमन नगेले ने भी विषय पर अपने विचार रखे I

image_pdfimage_print


सम्बंधित लेख
 

Back to Top