आप यहाँ है :

निर्भीक पत्रकार राजदेव रंजन की हत्या से पत्रकार संघ में आक्रोश

उज्जैन। बीती रात हुए दैनिक हिंदुस्तान के वरिष्ठ निर्भीक पत्रकार राजदेव रंजन के हत्या से जहाँ देश भर के पत्रकारों में आक्रोश है वहीँ फिर एक बार उनके दिलों में असुरक्षा की भावना उत्पन्न हो गयी है। पत्रकार की हत्या का विरोध करती राष्ट्रव्यापी पत्रकार संगठन ऑल मीडिया जर्नलिस्ट सोशल वेलफेयर एसोसिएशन के राष्ट्रीय अध्यक्ष अशोक लुनिया ने कहा कि ऐसा लगता है बिहार में लालू – नितीश का महागठबंधन अपराधो को जन्म देने के लिए ही हुआ है। बिहार में नितीश सरकार के अस्तित्व में आते ही एक के बाद एक हत्याकांड का मामला अस्तित्व में आ रहा है तो वहीँ नितीश सरकार के कार्यकाल में तो लोकतंत्र के चौथे स्तम्भ की नीव को ही हिलाकर रख दिया।
श्री लुनिया ने बिहार के मुख्यमंत्री नितीश कुमार को ईमेल से पत्र लिखकर दिवंगत पत्रकार हत्या कांड की जांच सीबीआई को सौपने की मांग की श्री लुनिया ने सरकार को कहा की 2 दिन के भीतर सीबीआई को जाँच नही सौपा गया तो बिहार सहित देश भर के पत्रकार बिहार सरकार के न्यायिक व्यवस्था के खिलाफ मौर्चा खोल देंगे। साथ ही श्री लुनिया ने देश के प्रधानमंत्री नरेंद्र मोदी जी को भी एक एक पत्र ईमेल के माध्यम से भेजते हुए प्रधान मंत्री श्री नरेंद्र मोदी का ध्यान निर्भीक पत्रकार राजदेव रंजन की हत्या की तरफ केंद्रित करते हुए पत्रकारो पर निरंतर हो रहे प्राणघात हमलों से अवगत करवाते हुए कहा की लोकतंत्र का चौथा स्तम्भ खतरे में है, पत्रकारो में असुरक्षा की भावना उत्पन्न हो रही
है। जिसके लिए पत्रकार सुरक्षा कानून को तुरंत प्रभाव से अस्तित्व में लाया जाना चाहिए। पत्रकार सुरक्षा कानून की मांग गत वर्ष से आपके
कार्यालय में लंबित है।
भवदीय
संदीप बनर्जी
9981966140

image_pdfimage_print


सम्बंधित लेख
 

Back to Top