Wednesday, July 24, 2024
spot_img
Homeविशेषउत्कल अनुज हिंदी वाचनालय में स्वरचित कविता पाठ आयोजित

उत्कल अनुज हिंदी वाचनालय में स्वरचित कविता पाठ आयोजित

भुवनेश्वरः स्थानीय उत्कल अनुज हिंदी वाचनालय में समारोह के अध्यक्ष सुभाष भुरा के नेतृत्व में स्वरचित कविता पाठ आयोजित हुआ। आयोजन की आरंभिक जानकारी अशोक पाण्डेय ने दी।आगत कवियों में मुरारीलाल लढानिया, कुलदीप गुप्ता, आशीष कुमार, विक्रमादित्य सिंह,सुधीर कुमार, विनोद कुमार, रामकिशोर शर्मा,सीए अनूप अग्रवाल, रश्मि गुप्ता, पूनम सिंह,शालिन अग्रवाल और किशन खण्डेलवाल आदि ने अपनी अपनी स्वरचित कविताओं का पाठ किया। कविता पाठ में भारत-पाक युद्ध, चीन-भारत विवाद, प्रेम के वियोग पक्ष, संयोग पक्ष, राजनीति तथा समसामयिक घटनाओं पर प्रकाश डाला गया। वाचनालय के मुख्य संरक्षक तथा समारोह के अध्यक्ष सुभाष भुरा ने सभी के प्रति आभार व्यक्त करते हुए आनेवाले दिनों में भी वाचनालय को इसी प्रकार सहयोग देने की सभी से अपेक्षा की।

अपनी अपनी कविताओं का पाठ किया आरंभ में आयोजन की जानकारी अशोक पांडे ने दी और यह बताया यह बताया कि काफी लंबे अंतराल के बाद वाचनालय मैया का भी संध्या जिसका एकमात्र भगवान जगन्नाथ की रथ यात्रा और जिसकी शुरुआत अक्षय तृतीया से हुई उनकी चंदन यात्रा से हुई है इस उपलक्ष में सजीवन पर आधारित कविताएं प्रस्तुत की जानी चाहिए मंच संचालन किशन खंडेलवाल ने किया तथा मुरारीलाल लगा लिया अनूप अग्रवाल विनोद कुमार आदित्य नारायण सिंह रामकिशोर शर्मा किशन खंडेलवाल आदि ने अपनी अपनी कविताओं का पाठ किया। अवसर पर अर्जुना गोयल, सीमा अग्रवाल, नमिता गलीर और दीप्ति साहू आदि उपस्थित थे।

image_print

एक निवेदन

ये साईट भारतीय जीवन मूल्यों और संस्कृति को समर्पित है। हिंदी के विद्वान लेखक अपने शोधपूर्ण लेखों से इसे समृध्द करते हैं। जिन विषयों पर देश का मैन लाईन मीडिया मौन रहता है, हम उन मुद्दों को देश के सामने लाते हैं। इस साईट के संचालन में हमारा कोई आर्थिक व कारोबारी आधार नहीं है। ये साईट भारतीयता की सोच रखने वाले स्नेही जनों के सहयोग से चल रही है। यदि आप अपनी ओर से कोई सहयोग देना चाहें तो आपका स्वागत है। आपका छोटा सा सहयोग भी हमें इस साईट को और समृध्द करने और भारतीय जीवन मूल्यों को प्रचारित-प्रसारित करने के लिए प्रेरित करेगा।

RELATED ARTICLES
- Advertisment -spot_img

लोकप्रिय

उपभोक्ता मंच

- Advertisment -

वार त्यौहार