आप यहाँ है :

डाकघर आपके द्वार : अब घर बैठे मिलेगा डाक टिकट और पोस्टकार्ड व लिफाफा

पोस्टमैन डाक विभाग का सबसे मुखर चेहरा है क्योंकि वह तमाम लोगों से रोज संवाद करता है। ऐसे में डाकिया की भूमिका सिर्फ डाक वितरण तक ही नहीं बल्कि उससे भी आगे है। भले ही अब कंप्यूटर और ई-मेल का जमाना आ गया हो पर, डाकिया अभी भी उतनी ही संजीदगी से लोगों की डाक का वितरण करता है। डाकिया केवल संदेश-दाता नहीं, मनीऑर्डर के माध्यम से अर्थ दाता भी है। डाकिया आज भी समाज में एक विश्वसनीय व्यक्ति माना जाता है, ऐसे में डाक विभाग द्वारा संचालित तमाम सेवाओं के बारे में उनसे अच्छा ब्राण्ड अम्बेस्डर नहीं हो सकता। उक्त उद्गार राजस्थान पश्चिमी क्षेत्र, जोधपुर के निदेशक कृष्ण कुमार यादव ने जोधपुर प्रधान डाकघर में 23 जून को आयोजित “घर-घर जाकर पोस्टमैन द्वारा डाक का एकत्रीकरण, स्पीड पोस्ट की बुकिंग एवं डाक टिकट व डाक स्टेशनरी की बिक्री” का शुभारम्भ करते हुए कहा।

डाक निदेशक श्री कृष्ण कुमार यादव ने कहा कि लोगों को बेहतर डाक सेवा देने के लिए डाक विभाग ने डोर टू डोर डाक एकत्रित करने का निर्णय लिया है। इसके तहत डाकिया डाक वितरण के साथ-साथ लोगों से उनकी डाक भी एकत्र करेगा और इसे लाकर डाकघर में देगा। साधारण डाक के साथ-साथ पोस्टमैन 200 ग्राम तक के स्पीड पोस्ट अर्टिकल भी बुक करेगा। इसके लिए पोस्टमैन तत्काल कच्ची रसीद देगा और अगले दिन अाकर कम्प्यूटर जनरेटेड पक्की रसीद देगा। श्री यादव ने कहा कि जब भी पोस्टमैन विभिन्न मोहल्ले या कॉलोनी में डाक वितरण के लिए जाएगा तो लोग उसे भेजने वाली पाती-पोस्टकार्ड, अंतर्देशीय पत्र, लिफाफे इत्यादि भी दे सकेंगे। वह डाक घर मे आकर उस डाक को गंतव्य स्थान के लिए रवाना करवा देगा। इसके लिए डाक विभाग द्वारा कोई अतिरिक्त शुल्क नहीं लिया जायेगा।

डाक निदेशक श्री कृष्ण कुमार यादव ने इसी क्रम मेंं कहा कहा कि लोगों को अब डाक से संबंधित स्टेशनरी खरीदने के लिए भी डाकघर नहीं अाना पड़ेगा। पोस्टमैन अपने साथ विभिन्न मूल्य वर्ग के डाक टिकट, अंतर्देशीय पत्र, पोस्टकार्ड, लिफाफा, आदि भी साथ रखेगा। जब पोस्टमैन डाक वितरण करने जायेगा तो कोई भी व्यक्ति उससे डाक टिकट और स्टेशनरी खरीद सकेगा।

जोधपुर मण्डल के प्रवर डाक अधीक्षक श्री पी॰आर॰ कडेला ने कहा कि इस सेवा को जोधपुर के सभी 55 वितरण डाकघरों और शाखाडाकघरों में आरम्भ किया जायेगा और इसके माध्यम से डाक विभाग अपने ग्राहकों के और करीब आ सकेगा। प्रधान डाकघर के सीनियर पोस्टमास्टर श्री एल॰एस॰ पटेल ने बताया कि प्रत्येक पोस्टमैन को अारंभ मेंं न्यूनतम 500 रुपए के डाक टिकट व स्टेशनरी बिक्री हेतु उपलब्ध कराये जायेंगे।

51212e71-35b2-42e6-ae1b-50a4a8dc9f26

डाक निदेशक श्री कृष्ण कुमार यादव ने कहा कि डाक विभाग की इस योजना से आमजन के समय और पैसे दोनों की बचत होगी। एक तरफ उन्हें पोस्ट ऑफिस तक चलकर आने वाले खर्च से निजात मिलेगी, वहीं लंबी कतार में भी नहीं खड़ा होना पड़ेगा। इससे विभाग के राजस्व में भी वृद्धि होगी। उन्होंने बताया कि यह सेवा राजस्थान पश्चिमी क्षेत्र के अधीन सभी 13 जिलों में आरम्भ होगी। इनमें जोधपुर, जैसलमेर, बाडमेर, बीकानेर, चुरू, झुञ्झुनू, नागौर, पाली, सीकर, सिरोही, जालोर, हनुमानगढ़ एवं श्रीगंगानगर जिले शामिल है।

इस अवसर पर विभिन्न डाक सेवाओं के बारे में पावर प्वाइंट द्वारा प्रस्तुति देकर डाकियों को अद्यतन व प्रोत्साहित किया गया। डाक निदेशक श्री यादव ने प्रधानमंत्री द्वारा अरम्भ की गई सुकन्या समृद्धि योजना, अटल पेन्शन योजना, प्रधनमंत्री जीवन ज्योति बीमा योजना और प्रधानमंत्री सुरक्षा बीमा योजना से लोगो को जोड़ने के लिए भी डाकियों का आव्हान किया।

इस अवसर पर सहायक अधीक्षक श्री गोपीलाल माली, श्री बी. अार. राठौड, डाक निरीक्षक श्री राजेन्द्र सिंह भाटी, सुदर्शन सामरिया, श्री विनय तातेड़ सहित तमाम डाककर्मी, विभिन्न डाकघरों के पोस्टमैन इत्यादि उपस्थित रहे।

संपर्क
– एल.एस. पटेल
सीनियर पोस्टमास्टर
प्रधान डाकघर, जोधपुर -342001

image_pdfimage_print


1 टिप्पणी
 

  • Amitabh Tripathi

    जून 25, 2016 - 10:24 pm

    लाल डिब्बा बहुत याद आता है। मुहल्ले से निकलने पर मुख्य सड़क पर एक मकान की दीवार पर टँगा था। बचपन में उस तक पहुँच नहीं पाता था। घर से कोई पत्र (प्रायः पोस्ट कार्ड) मिलता लैटर बॉक्स में डालने के लिए तो यातो बगल वाली खिड़की के सीखचे पकड़ कर पत्र डालता था नहीं तो किसी बड़े से डालने के लिए कहता था।
    बहुत दिनों तक था वह लैटर बॉक्स लेकिन एक दिन गायब हो गया और उसके साथ की कस्बे में लगे और भी कई अदृष्य हो गए। अब एक लैटर बॉक्स डाक खाने पर बचा है।
    आई मिस यू लैटर बॉक्स। ????

Comments are closed.

Get in Touch

Back to Top