ताजा सामाचार

आप यहाँ है :

इंग्लैंड में दाउद की करोड़ों अरबों की संपत्ति का पता चला

दाऊद इब्राहिम ने ब्रिटेन में अरबों रुपये की संपत्तियों में निवेश किया है। दाऊद इब्राहिम इंग्लैंड में कई होटलों, टॉवर ब्लॉक्स, महलों और घरों का मालिक है। दाऊद की ये संपति लंदन और ब्रिटेन के दूसरे हिस्सों में है। अंग्रेजी अखबार ‘द टाइम्स’ ने इस बावत एक रिपोर्ट जारी किया है। इस रिपोर्ट में दाऊद की संपत्तियों का ब्यौरा तैयार करने के लिए भारतीय अधिकारियों द्वारा तैयार किए गए डोजियर का जिक्र है। इस डोजियर का मिलान ब्रिटेन के कंपनीज हाउस के रिकॉर्ड तथा लैंड रजिस्ट्री और पनामा दस्तावेजों से किये जाने के बाद ये खुलासा हुआ है। इस अखबार द्वारा देखे गए दस्तावेजों में यह भी आरोप लगाया गया है कि दाउद की ओर से उसका दाहिना हाथ कहे जाने वाले मुहम्म्द इकबाल ‘‘मिर्ची’’ मेमन ने ब्रिटेन में व्यापक संपत्तियां अर्जित कीं जिनमें इंग्लैण्ड के दक्षिण पूर्व में होटल, मैंशन, टॉवर ब्लॉक और आवास शामिल हैं। द टाइम्स ने कहा कि 62 वर्षीय भगोड़े दाउद ने ब्रिटेन में मिडलैंड्स और साउथ-ईस्ट, भारत, संयुक्त अरब अमीरात, स्पेन, मोरक्को, तुर्की, साइप्रस और ऑस्ट्रेलिया में व्यापक संपत्तियां अर्जित कीं। बता दें कि दाऊद इब्राहिम भारत की आर्थिक राजधानी मुंबई में 1993 के सिलसिलेवार बम विस्फोटों के मास्टरमाइंड के रूप में वांछित है और मैच फिंक्सिंग तथा रंगदारी जैसे अपराधों का आरोपी है।

मुंबई में 1993 में हुए बम विस्फोटों में इकबाल मेमन भी एक संदिग्ध था और विस्फोटों के बाद उसने लंदन में शरण मांगी थी तथा भारत को उसे प्रर्त्यिपत करने के प्रयास विफल रहे। उसे कभी किसी अपराध में दोषी नहीं ठहराया गया और उसने दाऊद के गिरोह से अपने संबंध होने से इनकार किया। ब्रिटेन में वह 11 कंपनियों का निदेशक था। वर्ष 2013 में दिल का दौरा पड़ने से उसकी मौत हो गई थी। इंटरपोल के रेड कार्नर नोटिस में शामिल दाऊद पाकिस्तान के तीन पतों के साथ वर्षों से ब्रिटेन के वित्त विभाग की प्रतिबंध सूची में शामिल रहा है।

इस खुलासे के बाद ब्रिटेन में मौजूद दाऊद की संपत्तियों पर अब ब्रिटेन सरकार की निगाह होगी। ब्रिटेन में इसी हफ्ते ऐसी अवैध संपतियों पर कानूनी शिकंजा कसने के लिए ‘अनएक्सप्लेंड वेल्थ ऑर्डर’ नाम का प्रावधान लाया गया है। बता दें कि भारत खाड़ी समेत दुनिया के कई देशों में मौजूद दाऊद की संपत्तियों को जब्त करवाने के लिए लगातार प्रयास कर रहा है।

साभार- इंडियन एक्सप्रेस से



सम्बंधित लेख
 

Back to Top