ताजा सामाचार

आप यहाँ है :

पुण्य प्रसून वाजपेयी को मिला नया ठिकाना, लोकमत समूह लाएगा नया चैनल

वर्ष 2019 जहां देश के लिए नई केंद्रीय सरकार का चुनाव करेगा, दूसरी ओर हिंदी मीडिया इंडस्ट्री में भी बूम लाएगा। ‘रिपब्लिक भारत’ और ‘टीवी9’ के आगामी हिंदी चैनल की घोषणा के बाद अब खबर है कि प्रतिष्ठित मराठी मीडिया समूह ‘लोकमत’ भी नए साल में एक हिंदी न्यूज चैनल लॉन्च करने की योजना पर काम कर रहा है।

लोकमत समूह प्रिंट मीडिया का बड़ा नाम है और ‘नेटवर्क18’ के साथ मराठी टीवी न्यूज चैनल ‘लोकमत’ का भी संचालन करता है। अब समूह अपना विस्तार करते हुए टीवी मीडिया में अपनी पहचान मजबूती के साथ दर्ज कराने की प्लानिंग लगभग पूरी कर चुका है।

जानकारी के मुताबिक, इन नए चैनल का चेहरा पिछले कई महीनों से टीवी मीडिया की दुनिया से दूर ‘वनवास’ काट रहे एंटी मोदी पत्रकारिता का पर्याय बन चुके वरिष्ठ टीवी पत्रकार पुण्य प्रसून बाजपेयी हो सकते हैं। उल्लेखनीय है कि कई सालों पहले पुण्य प्रसून लोकमत के साथ काम कर चुके हैं।

अब देखना होगा कि लोकमत जैसे प्रतिष्ठित ब्रैंड के साथ पुण्य प्रसून की टीवी पारी कितना आगे बढ़ पाएगी, क्योंकि उनकी पिछली चार पारियां- ‘आजतक’, ‘जी न्यूज’ ‘सहारा मीडिया’ और ‘एबीपी न्यूज’ विवादों के चलते ही खत्म हुई थी। ‘जी न्यूज’ ‘एबीपी न्यूज’ और ‘सहारा’ के साथ उनके विवाद सर्वविदित हैं, पर ‘आजतक’ के साथ भी जिस तरह उन्होंने आखिरी दिनों में छलावा किया, वह भी मीडिया गलियारों में चर्चा का विषय बना था।

हालांकि ‘लोकमत’ की अपनी ब्रैंड वैल्यू के चलते अब उम्मीद है कि कुछ अच्छे पत्रकार भी इस नए वेंचर से जुड़ सकते हैं। पिछले पखवाड़े तक सिर्फ पुण्य प्रसून के नए चैनल को लेकर मीडिया गलियारों में चर्चा चल रही थी, ऐसे में रिक्रूटमेंट की दृष्टि से मीडिया वर्ल्ड से सकारात्मक प्रतिक्रिया नहीं मिली। उस वक्त अपने चैनल से असंतुष्ट या फिर नौकरी पर खतरे का आभास करने वाले पत्रकार ही इससे जुड़ने की बात कर रहे थे, लेकिन अब उम्मीद है कि ‘लोकमत’ की विश्वसनीयता के चलते शायद मीडिया के कुछ बड़े और अच्छे नाम इस नए चैनल की ओर रुख कर सकते हैं।

साभार- http://www.samachar4media.com/ से



सम्बंधित लेख
 

Back to Top