आप यहाँ है :

यात्रियों के छूटे हुए सामान को लौटाने में पश्चिम रेलवे के रेल सुरक्षा बल की तत्‍परता

वर्ष 2021 में लगभग 2 करोड़ मूल्‍य का सामान उनके असली मालिकों को लौटाया गया

पश्चिम रेलवे का रेल सुरक्षा बल अपने यात्रियों की सुविधा और सुरक्षा को बढ़ाने के लिए लगातार प्रयासरत है। रेल सुरक्षा बल यात्रियों के सामान की सुरक्षा सुनिश्चित करने में महत्वपूर्ण भूमिका निभा रहा है। इसी दिशा में पश्चिम रेलवे के रेल सुरक्षा बल ने जनवरी से अक्टूबर 2021 तक यात्रियों का लगभग 2 करोड़ रुपये मूल्‍य का सामान उन्‍हें लौटाया है। पश्चिम रेलवे के महाप्रबंधक श्री आलोक कंसल ने न केवल यात्रियों बल्कि उनके सामान की सुरक्षा के लिए आरपीएफ कर्मियों के परिश्रम, सत्यनिष्ठा और काम के प्रति समर्पण की सराहना की है। महाप्रबंधक ने प्रशंसा और प्रोत्साहन के रूप में कई अवसरों पर ऐसे कर्मचारियों को उनके अनुकरणीय कार्य के लिए मौके पर ही नकद पुरस्कार प्रदान करने की घोषणाएँ भी की हैं।

पश्चिम रेलवे के मुख्य जनसम्पर्क अधिकारी श्री सुमित ठाकुर द्वारा जारी प्रेस विज्ञप्ति के अनुसार चालू वर्ष में अक्टूबर 2021 तक रेल सुरक्षा बल कर्मियों ने लगभग 1037 मामलों में 2 करोड़ रुपये मूल्‍य के गुम या छूटे हुए सामान को उनके मालिकों के सुपुर्द किया है। ट्रेनों और स्टेशनों पर यात्रियों की बढ़ती संख्या को देखते हुए सुरक्षा की दृष्टि से नई पहल की जा रही है, जैसे कि रेल सुरक्षा बल, पश्चिम रेलवे के अधिकार क्षेत्र में आने वाले स्टेशनों और परिसरों में हाई डेफिनेशन सीसीटीवी कैमरे लगाना। पश्चिम रेलवे की रेल सुरक्षा बल टीम द्वारा तकनीक की मदद से यात्रियों की संपत्ति को सुरक्षित कर उन्हें सौंपा जा रहा है। पश्चिम रेलवे को अपने सुरक्षा कर्मियों पर गर्व है, जो हमारे सम्‍माननीय यात्रियों की सुरक्षा सुनिश्चित करने के लिए अपनी जान जोखिम में डालने की सीमा तक तक जाकर हरसंभव कदम उठाने को तैयार रहते हैं।

image_pdfimage_print


सम्बंधित लेख
 

Back to Top