Thursday, April 18, 2024
spot_img
Homeपुस्तक चर्चाडॉ.प्रभात सिंघल और अनुज कुच्छल की पुस्तक का मंडल रेल मंडल...

डॉ.प्रभात सिंघल और अनुज कुच्छल की पुस्तक का मंडल रेल मंडल प्रबंधक द्वारा विमोचन

कोटा । मंडल रेल प्रबंधक मनीष तिवारी ने आज कार्यालय सभागार में ” भारत दर्शन को सुगम बनाती रेल” पुस्तक का विमोचन किया। पुस्तक सूचना एवं जनसंपर्क विभाग के पूर्व संयुक्त निदेशक डॉ.प्रभात कुमार सिंघल और रेलवे के सीनियर सेक्शन इंजीनियर अनुज कुमार कुच्छल ने संयुक्त रूप से लिखी है।

इस अवसर पर मंडल प्रबंधक तिवारी ने कहा के बहुसांस्कृतिक देश भारत में अनेक ऐतिहासिक और सांस्कृतिक महत्व के पर्यटन स्थल हैं। इनकी पर्यटकों तक पहुंच बनाने में ऐसी पुस्तकें महत्वपूर्ण होती हैं। भारत दर्शन को सुगम बनाती रेल पर्यटन को बढ़ावा देने में सहायक बनेगी। उन्होंने दोनों लेखकों को शुभकामनाएं दी।
लेखक अनुज कुच्छल ने सभी का स्वागत कर बताया कि पुस्तक में पर्यटन में रेल, उपनगरीय और मेट्रो सहित रेल विभाग की भूमिका, पर्यटकों को रेलवे की सुविधाएं, पर्यटन को बढ़ावा देने के लिएआईआरसीटीसी के नवाचार और भावी परियोजनाएं, पैकेज टूर, रेल तंत्र का विकास, खूबसूरत रेलवे स्टेशन और रेल मार्ग, रेलवे की धरोहर रेल संग्रहालय , पर्यटक स्थलों के नजदीकी रेलवे स्टेशन आदि की जानकारी देने का प्रयास किया गया है।

लेखक डॉ. सिंघल ने पुस्तक के बारे में बताया कि रेल की भारत दर्शन में भूमिका के साथ – साथ रेलवे के इतिहास, विकास और किए जा रहे प्रयासों को रेखांकित करने का प्रयास किया गया है। पुस्तक की भूमिका दिल्ली के वरिष्ठ लेखक, पत्रकार और स्तंभकार ललित गर्ग ने लिखी है। पुस्तक का प्रकाशन वी एसआरडी एकेडमिक पब्लिकेशन, कानपुर द्वारा किया गया है। यह पुस्तक पर्यटकों और आम जन के साथ – साथ स्वयं रेलवे विभाग के लिए महत्वपूर्ण सिद्ध होगी।
साहित्यकार विजय जोशी ने कहा यह पुस्तक रेल और यात्रा के सन्दर्भों को उभारती है जिसमें पर्यटन एवं रेल, मेट्रो , पर्यटक और रेलवे की सुविधाआएँ, आईआरसीटीसी के नवाचार के साथ परियोजनाएँ , पैकेज टूर, रेल तंत्र का विकास, रेलवे स्टेशन, रेल मार्ग, रेल संग्रहालय इत्यादि की महती जानकारी है जो यात्रियों को दिशा प्रदान करेगी।

सूचना एवम जनसंपर्क विभाग के उपनिदेशक हरिओम गुर्जर ने कहा कि पर्यटन में सहायक इन पुस्तक में रेलवे के विकास की गाथा को भी खूबसूरती से रोचक शैली में प्रस्तुत किया गया है।

एडवोकेट अख्तर खान अकेला ने कहा कि डॉ.सिंघल निरंतर पर्यटन के विभिन्न पहलुओं पर लिख रहे हैं। बहुत कम लेखक हैं जो पर्यटन पर पुस्तकों की रचना करते हैं। उन्होंने बताया कि पर्यटन पर यह इनकी 20 वीं पुस्तक है जो रेल को आधार बना कर लिखी गई है।

विमोचन कार्यक्रम में एडीआरएम मनोज कुमार, वरिष्ठ मंडल इंजीनियर समन्वय संजय यादव, उप निदेशक जनसंपर्क हरिओम गुर्जर, एडवोकेट अख्तर खान ‘ अकेला ‘, भूगोलविद प्रो.प्रमोद कुमार सिंघल, , साहित्यकार विजय जोशी, पूर्व रेलवे अधिकारी राम मोहन कौशिक, पत्रकार नियाज़ मोहम्मद, के. डी.अब्बासी और अन्य रेलवे अधिकारी मौजूद थे।

विमोचन के उपरांत भारत दर्शन को सुगम बनाती रेल पुस्तक का पूरे देश में स्वागत किया गया। लोगों का लेखकों को बधाई देने का सिलसिला शुरू हो गया। जयपुर, उदयपुर, भरतपुर, भोपाल, झालावाड़, देहरादून, पंचकुला, गुरुग्राम, मुंबई, कोलकाता,नई दिल्ली, नोएडा, अंबाला, कानपुर, बैंगलुरू, हैदराबाद, मुजफ्फरनगर, अंबाला सहित सम्पूर्ण राजस्थान से लोगों में पुस्तक के प्रति उत्साह देखने को मिला है। कोटा शहर के साहित्यकारों, पत्रकारों, समाजसेवियों, शिक्षाविदों और गणमान्य नागरिकों ने लेखकों को बधाइयां प्रेषित की हैं।

image_print

एक निवेदन

ये साईट भारतीय जीवन मूल्यों और संस्कृति को समर्पित है। हिंदी के विद्वान लेखक अपने शोधपूर्ण लेखों से इसे समृध्द करते हैं। जिन विषयों पर देश का मैन लाईन मीडिया मौन रहता है, हम उन मुद्दों को देश के सामने लाते हैं। इस साईट के संचालन में हमारा कोई आर्थिक व कारोबारी आधार नहीं है। ये साईट भारतीयता की सोच रखने वाले स्नेही जनों के सहयोग से चल रही है। यदि आप अपनी ओर से कोई सहयोग देना चाहें तो आपका स्वागत है। आपका छोटा सा सहयोग भी हमें इस साईट को और समृध्द करने और भारतीय जीवन मूल्यों को प्रचारित-प्रसारित करने के लिए प्रेरित करेगा।

RELATED ARTICLES
- Advertisment -spot_img

लोकप्रिय

उपभोक्ता मंच

- Advertisment -spot_img

वार त्यौहार