आप यहाँ है :

थिएटर ऑफ़ रेलेवंस की कार्यशाला 21-25 जनवरी को

विश्वविख्यात रंग चिन्तक और “ थिएटर ऑफ़ रेलेवंस ” नाट्य सिद्धांत के जनक मंजुल भारद्वाज “21-25 जनवरी,2017” तक होने वाली पांच दिवसीय आवासीय कार्यशाला “कलाकार की कलात्मक चुनौतियां और प्रतिबद्धता” को युसूफ मेहर अली सेंटर,पनवेल (मुंबई) में उत्प्रेरित करेंगें. “ थिएटर ऑफ़ रेलेवंस ” नाट्य सिद्धांत की स्वयं और समूह के आत्म अनुभव आधारित कलात्मक प्रक्रिया में सहभागी क्लासिक नाटक “अनहद नाद – Unheard sounds of Universe” से अपनी कलात्मक चुनौतियां से रूबरू होकर उनके निवारण के लिए प्रकृति के सानिद्ध्य में अपने आपको खंगोलेगें और अपने अन्दर कलात्मक व्यक्तित्व को खोजते हुए अपनी कलात्मक प्रतिबद्धता का संकल्प लेगें !

“थिएटर ऑफ रेलेवेंस” नाट्य सिद्धांत के सर्जक व प्रयोगकर्त्ता मंजुल भारद्वाज वह थिएटर शख्सियत हैं, जो राष्ट्रीय चुनौतियों को न सिर्फ स्वीकार करते हैं, बल्कि अपने रंग विचार “थिएटर आफ रेलेवेंस” के माध्यम से वह राष्ट्रीय एजेंडा भी तय करते हैं।

एक अभिनेता के रूप में उन्होंने 16000 से ज्यादा बार मंच से पर अपनी उपस्थिति दर्ज कराई है।लेखक-निर्देशक के तौर पर 28 से अधिक नाटकों का लेखन और निर्देशन किया है। फेसिलिटेटर के तौर पर इन्होंने राष्ट्रीय-अंतर्राष्ट्रीय स्तर पर थियेटर ऑफ रेलेवेंस सिद्धांत के तहत 1000 से अधिक नाट्य कार्यशालाओं का संचालन किया है। वे रंगकर्म को जीवन की चुनौतियों के खिलाफ लड़ने वाला हथियार मानते हैं। मंजुल मुंबई में रहते हैं। उन्हें 09820391859 पर संपर्क किया जा सकता है।

कार्यशाला में सहभागी होने वाले इच्छुक 9820391859 / [email protected] – पर सम्पर्क कर सकते हैं !

image_pdfimage_print


सम्बंधित लेख
 

Back to Top