ताजा सामाचार

आप यहाँ है :

पागलपन और गतिविधियों का व्यंगात्मक नजरिया है ‘डेमोक्रेजी’ – द पाॅलीटिकल स्पूफ

नई दिल्ली, मार्च 2015; जैको पब्लिशिंग हाउस ने हाल ही में इंडिया इंटरनेशनल सेंटर, नई दिल्ली में लेखक अतुल्या महाजन द्वारा लिखित पुस्तक ‘डेमोक्रेजी – द पाॅलीटिकल स्पूफ’ का विमोचन समारोह आयोजित किया, जहां जानी-मानी स्टेंडअप काॅमेडियन नीति पाल्टा ने पुस्तक का विमोचन किया और लेखक के साथ चर्चा भी की। पुस्तक का प्राक्कथन अभिनेत्री गुल पनाग ने लिखी है।

डेमोक्रेजी आज के भारत में विद्यमान पागलपन और गतिविधियों का व्यंगात्मक नजरिया है, जहां जो जैसा दिखता है वैसा कतई नहीं है। यहां पाॅवर या सत्ता सबसे महत्वपूर्ण है और यहां सभी इसकी भाग-दौड़ में सक्रिय हैं।

रिलीज के अवसर पर नीति पाल्टा ने कहा कि आज तक जितनी भी पुस्तक मैंने पढ़ी हैं, मैं इस पुस्तक को एक सर्वश्रेष्ठ पुस्तक में शुमार करना चाहूंगी। अतुल्य ने जिस अंदाज में काल्पनिक चरित्रों के साथ आज के दौर का यथावत चित्रण किया है जो सशक्त व जबरदस्त है। इसका शीर्षक डेमो-क्रेजी अपने आप में एक क्रेजीनेस को बयां करता है।

मौके पर अतुल्य महाजन ने कहा, डेमोक्रजी पूरी तरह से फिक्शनल है, जहां किसी भी व्यक्ति अथवा व्यक्तित्व की भावना को आहत नहीं किया गया है। यह एक मनोरंजक अंदाज में हंसी-मजाक के साथ राजनैतिक चहल-पहल, उनकी प्रतीक्रिया और तैयारियों पर कटाक्ष है साथ ही यह देश की आम जनता की हर रोज की जिंदगी के कोलाहल के बारे में भी गहरा विश्लेषण है। आज जो व्यकित साधन संपन्न है उसका दिन सोशल मीडिया, तेज आवाज में टीवी, राजनैतिक डिबेट के बगैर ना तो शुरू होता है नाहीं खतम। इसी का नाम डेमोक्रेजी है।

गुल पनाग द्वारा पुस्तक के प्राक्कथन के बारे में पूछने पर अतुल्य ने बताया कि गुल बहुत शानदार व्यक्तित्व हैं। जब मैंने उन्हें पुस्तक की मेनूस्क्रिप्ट भेजी और उनकी प्रतिक्रिया मांगी, उसे पढ़ने के बाद उन्होंने यह प्राक्कथन लिखा। मैं बहुत उत्साहित हूं कि उनको यह पसन्द आयी।

कार्यक्रम के दौरान नीति व अतुल्य ने मस्ती भरे हैशटैग क्विज भी खेले और दो सर्वश्रेष्ठ उत्तर देने वाले श्रोताओं को आॅटोग्राफ पुस्तक भी भेंट की।
पुस्तक का एक और आकर्षण है किताब पर लोकप्रिय काॅमेडियन पापा सी.जे. की टिप्पणी। जिसमें उन्होंने कहा है, कि जिस तरह से एक प्रोफेशनल काॅमेडियन की तरह यह पुस्तक शुरूआती दो मिनट में आपको आकर्षित करती है और अंत तक बांधे रखती है। अतुल्य बेहद प्रतिभाशाली हैं और उनका यह दूसरा शानदार प्रयास है।

लेखक के बारे में; अतुत्य महाजन एक लेखक और व्यंग्यकार है। उनका पहला उपन्यास अमरिकनदेसी – मास्टर्स आॅफ अमेरिका 2013 में प्रकाशित हुआ था। इसके अतिरिक्त वह इसी शीर्षक से लोकप्रिय व्यंग्य ब्लाॅग व ट्वीट्स लिखते हैं। पूर्व में भी हास्य कॉलम लिखते रहे हैं।

अधिक जानकारी के लिए कृपया संपर्क करें; शैलेश नेवटिया – 9716549754

.

image_pdfimage_print


सम्बंधित लेख
 

Back to Top