ताजा सामाचार

आप यहाँ है :

ग्राहकों को लूटने के लिए स्टैट बैंक के नए नियम

स्टेट बैंक ऑफ इंडिया ने लूट की एक नई योजना का श्रीगणेश किया है। अगर आपके बचत खाते मे वर्ष मे 40 व्यवहार (जमा/उपाड) से अधिक है तो 41 वे व्यवहार से हर बार ₹ 57.50 आप की जमा राशी से काट लिया जायेगा।ये व्यवहार चेक से हो,स्थायी सूचना से हो या कार्ड से बस 40 हो गए तो लूट चालू।अब सेलेरी के 12 और महीने मे दो बार भी उठाया 36 तो हो गए, अब किसी को चैक से 12 पेमेंट भी किये तो आपके खाते से ₹ 460 तो गए ही समझो।अगर आपके बच्चे बाहर पढाई कर रहे हैं, माँ बाप को हर महीने भेजना है, इनवेस्टमेन्ट करना है,डोनेशन देना है, किसी की मदद करनी है, तो इन लुटेरों का हिस्सा भी देना होगा। वाह रे मोदी सरकार!!! पहले सर्विस टैक्स से लूटा अब बैन्क के माध्यम से पगार की आय वालों को लूटेंगे। इससे तो जनता को ये संदेश जा रहा है कि रोकड बैन्क में जमा ना करें अपना व्यवहार खुद ही निपटा लें। स्टेट बैंक ऑफ इंडियाकी ये लूट सरकार को भी ले डूबेगी। माल्या जैसे भगौडे के लोन मे डूबी रकम हम लोगों से भरपाई करने की योजना — इस देश की जनताको क्या समझ के रखा है?

एटीएम से 4 बार से अधिक पैसा निकलने पर 150 रु टैक्स और 23 रुपये सर्विस चार्ज मिलाकर कुल 173 कटेंगे। 1 जून से बैंक में 4 ट्रांसेक्शन के बाद हर ट्रांसेक्शन पर 150 रुपये चार्ज लगेगा। जनता के गले पर एक बार में छुरा क्यों नहीं फेर देते?? कमाओ तो टैक्स , बचाओ तो टैक्स और तो और, बैंक में जमा कराओ तो टैक्स, फिर वापस निकालो तो टैक्स !!



सम्बंधित लेख
 

Back to Top