ताजा सामाचार

आप यहाँ है :

श्री सुरेश प्रभु 9 अक्टूबर को वीडिओ काँफ्रेसिंग से नई सेवाओँ की शुरुआत करेंगे

रेल मंत्री श्री सुरेश प्रभु, मध्‍य, पश्चिम एवं उत्‍तर रेलवे पर विभिन्‍न आईटी सेवाओं का उद्घाटन 9 अक्टूबर को नई दिल्‍ली से वीडियो कॉन्‍फ्रेन्सिंग द्वारा करेंगे ।

  • 1. मध्‍य रेलवे पर मुंबई उपनगरीय सेक्‍शन के लिए कागज रहित अनारक्षित टिकट ।
    2. मध्‍य, पश्चिम एवं उत्‍तर रेलवे (नई दिल्‍ली, पलवल सेक्‍शन) पर मोबाइल फोन पर कागज रहित सीजन टिकट ।
    3. मध्‍य रेल छत्रपति शिवाजी टर्मिनस मुंबई, दादर पनवेल, ठाणे एवं लोकमान्‍य तिलक टर्मिनस पश्चिम रेल पर मुंबई सेंट्रल, बोरीवली, अंधेरी, दादर, वसई रोड़ एवं बांद्रा एवं नई दिल्‍ली तथा उत्‍तर रेलवे पर हजरत निजामुद्दीन पर कागज रहित प्‍लेटफार्म टिकट ।
    4. मध्‍य रेल पर छत्रपति शिवाजी टर्मिनस मुंबई, दादर एवं लोकमान्‍य तिलक टर्मिनस तथा पश्चिम रेल पर चर्चगेट एवं मुंबई सेंट्रल पर करेन्‍सी-कम-कॉइन-कम कार्ड आपरेटेड ऑटोमेटिक टिकट वेन्डिंग मशीनें ।
    5. आईओएस प्‍लेटफार्म पर गाड़ी पूछताछ मोबाइल एप्‍लीकेशन

यह ‘डिजिटल इंडिया’ प्रोग्राम का एक भाग है जो भारत सरकार का फ्लैगशिप प्रोग्राम है । इससे भारत को डिजिटल इम्‍पावर्ड सोसायटी एवं नालेज इकोनॉमी में बदलने का सपना है ।

रेलवे द्वारा प्रारंभ की गई यह नई तकनीक मोबाइल फोनों द्वारा कागज रहित टिकटिंग की संकल्‍पना को पूरा करने की ओर है । इस तकनीक के अंतर्गत उपयोगकर्ता मोबाइल पर मोबाइल एप्‍लीकेशन ‘यूटीएस’ को डाउन लोड कर सकते हैं । यह एप्‍लीकेशन टिकट खरीदने के लिए लाइन में प्रतीक्षा करने की परेशानी को दूर करेगा । यह केवल समय की बचत ही नहीं करेगा बल्कि टिकट के लिए कागज की भी आवश्‍यकता नहीं होगी । इस प्रकार पर्यवरण को बचाने में भी बड़ा योगदान होगा ।

‘मोबाइल पर यूटीएस’ एप्‍लीकेशन हाल ही में उपनगरीय यात्रा टिकटों के लिए मुंबई में प्रारंभ की गई थी परंतु टिकट छपाई अभी तक अपेक्षित थी । अब कागज रहित टिकट की ओर कदम उठाने की पहल की जा रही है । इसे एटीवीएम पर टिकट प्रिंट करने की आवश्‍यकता नहीं पड़ेगी । इसके बजाय यात्री मोबाइल पर एक इमेज के रूप में टिकट ले जाएंगे । यदि एप पहले स्‍थापित किया गया था, तो इसे अपडेट करना जरूरी है । मुंबई शहर का चयन किया जा चुका है । आर-वैलेट में जमा धनराशि का उपयोग करते हुए टिकट खरीद सकते हैं । आर-बैलेट में राशि किसी यूटीएस काउंटर से या www.utsonmobile.indianrail.gov.in पर आन लाइन न्‍यूनतम 100/- रू. एवं अधिकतम 5000/- तक लोड किया जा सकता है ।

कागज रहित टिकटिंग के लिए अच्‍छी जीपीएस कवरेज एवं जीपीआरएस कनेक्टिविटी उपलब्‍ध होनी चाहिए । टिकट बुकिंग के लिए जिओ-फेन्सिग क्षेत्र चिह्नित किया जा चुका है अर्थात व्‍यक्ति को प्रारंभिक स्‍टेशन से 2 कि.मी. के अंदर एवं प्रारंभिक स्‍टेशन परिसर/ट्रैक से 30 मीटर के बाहर होना चाहिए।

बुकिंग प्रक्रिया के दौरान यात्री को गाइड करने के लिए ऑन-स्‍क्रीन एलर्टस एप्‍लीकेशन उपलब्‍ध कराया गया है । एक बार बुक किए गए कागज रहित यात्रा टिकट इनक्रिप्‍टेड फार्म में लोकल मोबाइल एप्लीकेशन डाटाबेस में स्‍टोर हो जाएंगे एवं इसमें हेराफेरी नहीं की जा सकेगी । उपनगरीय सेक्‍शनों के लिए पालिसी के अनुसार यात्री को 1 घंटे के भीतर यात्रा प्रारंभ करना है । कागज रहित मोड में बुक किए गए टिकट को यात्रा करने के पश्‍चात रिफंड के दावे के लिए निरस्‍त नहीं किया जा सकता ।

टिकट प्रत्‍येक दिन के लिए अलग-अलग रंग के होंगे और त्‍वरित प्रतिक्रिया (क्‍यूआर) कोड के साथ इसे जोड़ा गया है । इसे दूसरे मोबाइल को फारवर्ड या जोडा़ या प्रिन्‍ट नहीं किया जा सकता। पुराने इनवैलिड टिकटों को एप में साइनक फीचर के द्वारा मोबाइल डिवाइस से हटा दिया जाएगा।

टिकटों की जांच के लिए एप्‍लीकेशन में विभिन्‍न फीचर्स दिए गए हैं जैसे कि कलर स्‍कीम, शो टिकट फीचर्स, दिन का सीक्रेट कोड, टिकट का बुकिंग समय एवं लीजेन्‍ड का स्‍क्रोलिंग ‘आईआर अनारक्षित टिकटिंग’।

करेंसी-कम-कॉइन-कम स्‍मार्ट कार्ड आपरेटेड आटोमैटिक टिकट वेन्डिंग मशीन (कोटीवीएम)

कोइन/कैश/स्‍मार्ट कार्ड आपरेटेड आटोमैटिक टिकट वेंडिग मशीन एक मानव रहित स्‍वयं परिचालित किओस्‍क है जिससे यात्री करेंन्‍सी/कोइन द्वारा स्‍मार्ट कार्ड के अनुसार अनारक्षित टिकटों को खरीद सकता है। किओस्‍क 5 रू. और इससे अधिक के सभी करेंसी/कोइन स्‍वीकार करता है। मशीन ठोस/कट/ग्‍लूड/टेंप्‍ड/रंगीन नोटों को स्‍वीकार नहीं करती है एवं गांधी सीरीज के करेंसी नोटों को स्‍वीकार करती है ।

कोटीवीएम मे निम्‍नलिखित सुविधाएं है :-

  • 1. गैर उपनगरीय के लिए गैर रियायती द्वितीय श्रेणी यात्रा टिकटों एवं उपनगरीय सेक्‍शन के लिए द्वितीय/प्रथम श्रेणी यात्रा/वापसी टिकटों को जारी करना ।
    2. प्‍लेटफार्म टिकटों को जारी करना ।
    3. गैर रियायती सीजन टिकटों का नवीनीकरण
    4. स्‍मार्ट कार्डों का रू. 20/-, 50/- 100- एवं 500/- के रीचार्ज ।

एटीवीएम एवं कोटीवीएम में फर्क यह है कि एटीवीएम स्‍मार्ट कार्ड के द्वारा टिकट जारी कर सकता है जबकि कोटीवीएम नकद (नोट्स एवं कोइन्‍स) का भुगतान, स्‍मार्ट कार्ड एवं रिचार्ज स्‍मार्ट कार्ड के द्वारा टिकट जारी कर सकता है ।

image_pdfimage_print


सम्बंधित लेख
 

Back to Top