आप यहाँ है :

स्वामी विवेकानंद के शिकागो भाषण की गूंज विलेपार्ले में 11 सितंबर को

भारतीय संस्कृति और सनातन धर्म परंपरा को पश्चिमी विश्व में प्रस्थापित करनेवाले स्वामी विवेकानंद अद्वितीय व्यक्तित्व रहे। भारतीय स्वाभिमान और चेतना के उनके पुनर्जागरण में ही भारतीय स्वतंत्रता संग्राम का बीजारोपण भी हैं।

यह जानकारी देते हुए दिव्य प्रेम सेवा मिशन न्यास के सरंक्षक प्रेम शुक्ला ने 11 सितंबर को विलेपार्ले पूर्व में आयोजित कार्यक्रम की जानकारी दी। स्वामी विवेकानंद के शिकागो भाषण की गूंज विलेपार्ले में 11 सितंबर को गुंजायमान होगी और उनपर आधारित एकल मंचन को पेश किया जाएगा।

मुंबई मराठी पत्रकार संघ में आयोजित प्रेस वार्ता में कार्यक्रम के संयोजक एवं विधायक पराग अलवनी, मिशन के संरक्षक प्रेम शुक्ला और अनिल गलगली ने प्रेस वार्ता को संबोधित किया। पराग अलवनी ने बताया कि 11 सितंबर की शाम 4.30 बजे विलेपार्ले पूर्व के दीनानाथ मंगेशकर सभागार में स्वामी विवेकानंद के ऐतिहासिक भाषण का वैश्विक प्रभाव पर एक व्याख्यानमाला आयोजित की गई हैं जिसके प्रथम सत्र में आयोजित व्याख्यान माला में महाराष्ट्र के मुख्यमंत्री देवेंद्र फडणवीस, उत्तर प्रदेश के उप मुख्यमंत्री केशव प्रसाद मौर्या, केंद्रीय वित्त राज्यमंत्री शिवप्रताप शुक्ला, झारखंड विधानसभा अध्यक्ष दिनेश उरांव, उत्तर प्रदेश के विधायक रघुराज प्रताप सिंह’ राजा भैया’, दिव्य प्रेम सेवा मिशन के अध्यक्ष डॉ आशीष गौतम हिस्सा लेंगे. उसके उपरांत पद्मश्री शेखर सेन कृत स्वामी विवेकानंद एकल मंचन का मंचन होगा.अनिल गलगली ने कार्यक्रम की रुपरेखा और इसके उद्देश्य पर प्रकाश डाला.

बता देंं कि दिव्य प्रेम सेवा मिशन न्यास आध्यात्म प्रेरित सेवा संगठन हैं जो गत 21 वर्षों से हरिद्वार के चण्डीघाट में कृष्ठ रोगियों के लिए अस्पताल का संचालन समाज के सहयोग से करते हैं। प्रतिदिन 150 लोगों को निःशुल्क चिकित्सालय सेवा एवं दवा उपलब्ध कराई जाती हैं। साथ ही में कृष्ठ रोगियों तथा सामान्य गरीब लोगों के बच्चों के लिए विद्यालय का संचालन किया जाता हैं। जिसमें करीब 250 बालक- बालिका शिक्षा प्राप्त करते हैं। मिशन की सेवा यात्रा के 21 वर्ष पूर्ण होने के अवसर पर देश भर में सेवा की भावना को जन-जन तक पहुँचाने तथा सेवा मिशन से लोगों को जोड़ने के लिए 21 स्थानों पर कार्यक्रम आयोजित किए गए हैं।

image_pdfimage_print


Get in Touch

Back to Top