आप यहाँ है :

तीसरी लहर को गम्भीरता से लेते हुए सभी विभाग समन्वय से कार्य करें- एडीजी

कोटा। अतिरिक्त पुलिस महानिदेशक गोविन्द गुप्ता ने कहा कि कोविड-19 की तीसरी लहर को गम्भीरता से लेकर सभी विभाग आपसी समन्वय से कार्य करते हुए आम लोगों को जागरूक कर सरकार द्वारा जारी गाईडलाईन की पालना कराना सुनिश्चित करें।

अतिरिक्त पुलिस महानिदेशक सोमवार को कोटा प्रवास के दौरान कलेक्ट्रेट स्थित राजीव गांधी सेवा केन्द्र के वीसी कक्ष से जिले के प्रशासनिक, पुलिस, चिकित्सा एवं कोविड प्रबन्धन में शामिल विभागों के अधिकारियों से रूबरू हो रहेे थे। उन्होंने कहा कि कोविड की तीसरी लहर को भी सभी विभागों को गम्भीरता से लेकर आपसी समन्वय से कार्य करना होगा। उन्होंने कहा कि आम नागरिकों को जागरूक करने के साथ-साथ सरकार द्वारा जारी गाईडलाईन की पालना भी सख्ती से करानी होगी जिससे संक्रमण की रफ्तार को रोका जा सकें। उन्होंने कहा कि गाईडलाईन का उल्लंघन करने वाले लोगों पर प्रतिबन्धित कार्यवाही करने के साथ-साथ मास्क वितरण का कार्य भी स्थानीय निकायों, स्वयंसेवी संस्थाओं के सहयोग से किया जायें। उन्होंने पुलिस, प्रशासनिक अधिकारियों को संयुक्त रूप से कार्ययोजना बनाकर समय-समय पर लोगों को जागरूक करने, धार्मिक, सामाजिक संगठनों का सहयोग लेकर टीकाकरण को भी बढ़ाने के निर्देश दिए।

उन्होंने कहा कि 15 से 18 वर्ष के प्रत्येक विद्यार्थी को स्कूल नामांकन के आधार पर टीकाकरण करया जाना सुनिश्चित किया जाये जिससे शिक्षण संस्थाओं में शिक्षण कार्य प्रभावित नहीं हों तथा आगामी समय में परीक्षाएं निर्बाध रूप से सम्पन्न हो सकें। उन्होंने अभिभावकों को भी परीक्षाओं के मध्यनजर विद्यार्थियों को टीकाकरण के लिए प्रेरित करने के निर्देश दिए। उन्होंने नगर निकायों में जागरूकता कार्यक्रम, मास्क वितरण तथा सरकार द्वारा जारी निर्देशों की पालना के लिए संयुक्त रूप से कार्यवाही करने के निर्देश दिए। उन्होंने कहा कि फ्रंटलाईन वकर्स एवं वरिष्ठ नागरिकों को बूस्टर डोज लगाने में भी अभियान के रूप में कार्य करें।

अतिरिक्त पुलिस महानिदेशक ने अस्पतालों में कोविड रोगियों के इलाज के लिए की जा रही व्यवस्थाओं की जानकारी लेते हुए कहा कि सभी स्थानों पर ऑक्सीजन सप्लाई की पुख्ता व्यवस्था हो, कोविड रोगियों के लिए सरकार द्वारा निर्धारित प्रोटोकॉल के अनुसार समय पर दवाओं की उपलब्धता सुनिश्चित की जाये। उन्होंने बाजारों में बिकने वाली कोविड जांच किट के आधार पर जांच करने वाले नागरिकों का डाटा संकलित रखने तथा होम आइसोलेट रहने वाले नागरिकों को अनावश्यक बाहर नहीं घूमने के लिए पाबंद करने के निर्देश दिए। उन्होंने कहा कि कोविड जांच का दायरा बढ़ाकर लोगों को प्रोटोकॉल की पालना के लिए भी घर-घर जाकर प्रेरित करें।

पुलिस महानिरीक्षक कोटा रेंज रविदत्त गौड़ ने सभी विभागों को पूर्व की भांति टीम के रूप में कार्य करते हुए संक्रमण रोकने के लिए सुधारात्मक एवं प्रतीबन्धात्मक कार्यवाही करने के निर्देश दिए। उन्होंने कहा कि लोगों को जागरूक भी करे तथा नियम तोड़ने वालों के खिलाफ कार्यवाही भी करें।

जिला कलक्टर उज्ज्वल राठौड़ ने बताया कि जिले में टीकाकरण के क्षेत्र में कोटा प्रदेश के अग्रणी जिलों में हैं, 15 से 18 आयु वर्ग के विद्यार्थियों के लिए भी सभी विभागों को समन्वय से कार्य करना होगा। उन्होंने बताया कि अस्पतालों में ऑक्सीजन प्लांट की स्थापना में बेहतर स्थिति में हैं, नियंत्रण कक्ष स्थापित कर, इन्सीडेण्ट कमाण्डर थानेवार नियुक्त कर दिए गए हैं, कंटेटमेंट जोन बनाकर गाईडलाईन की पालना कराई जा रही हैं। उन्होंने सांगोद एवं चेचट ब्लॉक में टीकाकरण को गति प्रदान करने के लिए अधिकारियों को टीम भावना से कार्य करने के निर्देश दिए।
पुलिस अधीक्षक शहर केसर सिंह शेखावत, ग्रामीण कावेन्द्र सिंह सागर ने पुलिस व्यवस्थाओं की जानकारी दी। प्रचार्य मेडिकल कॉलेज डॉ. विजय सरदाना ने बताया कि 362 बेड कोविड रोगियों के लिए रिजर्व किए हुए हैं, पर्याप्त आईसीयू बेड हैं। अस्पतालों में ऑक्सीजन की प्रत्येक बेड पर आपूर्ति की व्यवस्था कर ली गई हैं, दवाएं एवं ऑक्सीजन कंसट्रेटर पर्याप्त मात्रा में हैं।

सीएमएचओ डॉ. भूपेन्द्र सिंह तंवर ने ग्रामीण क्षेत्रों में अस्पतालों की व्यवस्था एवं कोविड टीकाकरण के बारे में जानकारी दी। उन्होंने बताया कि टीकाकरण के लिए घर-घर सम्पर्क किया जा रहा हैं, जिले में होम आइसोलेट नागरिकों को चिकित्सा टीम द्वारा समय-समय पर जांच कर दवाएं दी जा रही है।

इस अवसर पर आयुक्त नगर निगम उत्तर वासुदेव मालावत, यूआईटी सचिव राजेश जोशी, अतिरिक्त पुलिस अधीक्षक शहर प्रवीण जैन, ग्रामीण पारस जैन, उप निदेशक स्थानीय निकाय दीप्ति मीणा, आरसीएचओ रमेश कारगवाल, सीडीईओ हजारी लाल शिवहरे सहित संबंधित विभागों के अधिकारी उपस्थित रहें।

image_pdfimage_print


सम्बंधित लेख
 

Back to Top