आप यहाँ है :

सामाजिक बिखराव रोकना आज सबसे बड़ी जरूरत-भैयाजी जोशी

मुंबई। राष्ट्रीय स्वयं सेवक संघ के सर कार्यवाह भैयाजी जोशी ने कहा है कि राष्ट्र की अखंडता के लिए समाज के बिखराव को रोकना आज सबसे बड़ी जरूरत है। उन्होंने कहा कि हम लोकतांत्रिक रूप से स्वतंत्र है और संवैधानिक रूप से भी सब समान है। लेकिन हमारे बीच समता नहीं है, यह गंभीर स्थिति है। उन्होंने कहा कि लगातार बढ़ती विषमता की खाई को पूरी कठोरता के साथ समाप्त करना होगा। भैयाजी जोशी सामाजिक समरसता मंच की विशाल धर्मसभा को संबोधित कर रहे थे। इस सभा में बौद्ध धर्मगुरू भंते राहुल बोधीजी, विभिन्न तीर्थों के पीठाधीश्वरों सहित राज्यसभा सांसद महंत शम्भूप्रसाद महाराज, समरसता मंच के केंद्रीय संयोजक भिकूजी इदाते, बीजेपी के वरिष्ठ विधायक मंगल प्रभात लोढ़ा, कई संत – महंत व बौद्ध भिक्षुगण भी मंच पर उपस्थित थे। रेसकोर्स के विशाल ग्राउंड में देर रात तक चली इस धर्मसभा में 50 हजार से भी ज्यादा लोग उपस्थित थे।

धर्मसभा को संबोधित करते हुए भैयाजी जोशी ने कहा कि सामाजिक विषमता समाप्त किए बिना विकास की कल्पना व्यर्थ है। उन्होंने कहा कि हमारा धर्म एक, हमारे संस्कार एक, हमारी जीवन पद्धति एक, हमारे भगवान भी एक और हमारे सिद्धांत भी एक, लेकिन फिर भी हमारे आपस के बीच ही व्यवहार में बहुत फर्क है, इसे समाप्त करना है। एक ही भगवान को माननेवाले आज शत्रु बनते जा रहे हैं, यह हमारा अज्ञान है। उन्होंने कहा कि आज जब समस्त भारतीय समाज को एकजुट होने की सबसे ज्यादा जरूरत है, तभी हमारे समाज को बांटने की कोशिशें भी ज्यादा हो रही हैं। ऐसी स्थिति में देश के लिए एक सोच और एक दिशा सबसे महत्वपूर्ण है। इस सोच के साथ भेदभाव को मिटाए बिना सामाजिक समरसता हो ही नहीं सकती। उन्होंने कहा कि हम सब मिलकर एक शक्ति बनें, और आगे बढ़े। सामाजिक बिखराव को रोकने के लिए भैयाजी ने इस तरह की धर्मसभाओं की आवश्यकता बताते हुए कहा कि हमारा देश लाखों वर्षों की परंपरा की भूमि है, जहां हमेशा से शस्त्र को नहीं, बल्कि शास्त्र को सर्वोपरि माना गया है। भैयाजी जोशी ने डॉ भीमराव आंबेडकर के कार्यों को भी याद किया। उन्होंने कहा कि हम राष्ट्र को मां मानते हैं, इस मां के सम्मान के लिए आज समाज के बिखराव को रोकना हमारे लिए सबसे बड़ी चुनौती है।

रेसकोर्स में संपन्न 50 हजार लोगों के इस विशाल आयोजन की सफलता में महत्वपूर्ण भूमिका निभानेवाले भाजपा विधायक मंगल प्रभात लोढ़ा का नागरिक अभिनंदन किया गया। इस अवसर पर मोहन साळेकर, प्रेमभाई गोहिल, विधायक भाई गिरकर का भी अभिनंदन किया गया। इस अवसर पर मुम्बई मेघवाल पंचायत द्वारा आयोजित समूह लग्न आयोजन में 39 जोड़े परिणय सूत्र में बंधे। धर्मसभा में बड़ी संख्या में लोग सपरिवार आए थे। 

संपर्क .. Niranjan Parihar / 09821226894. 

image_pdfimage_print


सम्बंधित लेख
 

Back to Top