आप यहाँ है :

ट्विटर के नए सीईओ पराग अग्रवाल की जिंदगी और उनकी खूबियाँ

ट्विटर के पूर्व सीईओ जैक डोर्सी के पद छोड़ने के बाद सोमवार इस पद भारतीय मूल के पराग अग्रवाल को नियुक्त किया गया है। माइक्रोब्लॉगिंग कंपनी के बोर्ड ने कंपनी के सीटीओ (मुख्य प्रौद्योगिकी अधिकारी) पराग को नया सीईओ चुना है। सैलरी की बात करें तो सोमवार को कंपनी की फाइलिंग के अनुसार, पराग अग्रवाल को एक मिलियन डॉलर (7,50,54,500 रुपये) का वार्षिक पैकेज मिलेगा। इसके अलावा उन्हें बोनस के साथ प्रतिबंधित शेयर यूनिट समेत 12.5 मिलियन डॉलर मूल्य के प्रदर्शन-आधारित स्टॉक यूनिट भी दिए जाएंगे।

पराग अग्रवाल की सफलता की कहानी परी कथा जैसी है। एक सामान्य सॉफ्टवेयर इंजीनियर से दुनिया का कथानक बदलने की क्षमता रखने वाले सोशल मीडिया प्लेटफार्म ट्विटर का सीईओ बनना असाधारण है।

जैक ने पद छोड़ने और पराग अग्रवाल को नियुक्त किए जाने के बाद अपने एक ट्वीट में उनकी जमकर तारीफ की है। जैक ने कहा है कि कहा कि पराग उनके हर महत्वपूर्ण निर्णय के पीछे रहे हैं, जिन्होंने इस कंपनी को बदलने में मदद की है। गौरतलब है कि पराग अग्रवाल को 29 नवंबर को ट्विटर के सीईओ के रूप में नियुक्त किया गया, जिसके बाद वे माइक्रोसॉफ्ट के सत्य नडेला, अल्फाबेट के सुंदर पिचाई, आईबीएम के अरविंद कृष्णा और एडोब के शांतनु नारायण जैसे भारत के वैश्विक तकनीकी सीईओ की सूची में शामिल हो गए हैं।

पराग अग्रवाल 2011 में ट्विटर के साथ जुड़े थे। इससे पहले वह याहू और माइक्रोसॉफ्ट जैसी दिग्गज कंपनियों के साथ काम कर चुके हैं। आईआईटी बॉम्बे से इंजीनियरिंग करने के बाद उन्होंने अमेरिका की स्टैनफोर्ड यूनिवर्सिटी से कंप्यूटर साइंस में पीएचडी की है। ट्विटर में उन्हें अक्तूबर 2017 में कंपनी का मुख्य प्रौद्योगिकी अधिकारी (सीटीओ) बनाया गया था। एक रिपोर्ट के अनुसार, पराग की कुल आय 1.52 मिलियन डॉलर है।

ट्विटर के नए सीईओ पराग अग्रवाल के निजी जीवन की बात करें तो उन्होंने विनीता अग्रवाल से शादी की है। पराग और विनीता अक्तूबर 2015 में सगाई करने के बाद जनवरी 2016 में शादी के बंधन में बंध गए थे। फिलहाल, पराग पत्नी के साथ कैलिफॉर्निया के सैन फ्रांसिस्को में रहते हैं और दोनों का एक बेटा भी है, जिसका नाम अंश है।

अग्रवाल ट्विटर के सह-संस्थापक और अब तक सीईओ रहे जैक डोर्सी की जगह लेंगे. डोर्सी ने सीईओ पद से इस्तीफ़ा दे दिया है. उन्होंने ट्विटर पर इसकी और पराग अग्रवाल के चुने जाने की जानकारी दी.

उन्होंने ये भी बताया कि पराग अग्रवाल को किन खूबियों की वजह से सीईओ बनाया गया है.

डोर्सी ने ट्विटर पर पोस्ट किए गए पत्र में लिखा, ”क़रीब 16 साल तक कंपनी में सह संस्थापक, सीईओ, चेयरमैन, कार्यकारी चेयरमैन, अंतरिम सीईओ, सीईओ आदि की भूमिकाएं निभाने के बाद मैंने तय किया है कि ये मेरे जाने का समय है. पर क्यों?”

”पहली ये कि पराग अग्रवाल अब सीईओ बन रहे हैं. हमारी कंपनी के बोर्ड ने सारे विकल्प खंगालने के बाद सर्वसम्मति से इसके लिए पराग को चुना है. वो कंपनी और इसकी ज़रूरतों को काफ़ी गहराई से समझते हैं, इसलिए वो काफ़ी समय से मेरी भी पसंद रहे हैं.”

पराग अग्रवाल ने ट्विटर पर पोस्ट किए पत्र में लिखा, ”शुक्रिया जैक, मैं सम्मानित महसूस कर रहा हूं. और मैं आपसे लगातार मिलने वाली सलाह और आपकी दोस्ती के लिए आभारी हूं. आपने मुझ पर जो भरोसा जताया उसके लिए भी मैं आभारी हूं. मैं पूरी टीम का आभारी हूं कि उन्होंने हमारे भविष्य में भरोसा जताने की प्रेरणा दी.”

”मैं इस कंपनी से 10 साल पहले तब जुड़ा था, जब इसमें एक हज़ार से कुछ कम कर्मचारी थे. भले ही ये एक दशक पहले की बात है पर मेरे लिए ये कल जैसा ही है. मैंने इस दौरान कई उतार-चढ़ाव, चुनौतियां, जीत और ग़लतियां देखीं. लेकिन तब भी और अब भी मैं ट्विटर का गज़ब का प्रभाव और इसकी लगातार हो रही प्रगति देखता हूं.”

पराग अग्रवाल ने लिखा, ”हमने अपने उद्देश्यों को पाने के लिए अपनी रणनीति को हाल ही में अपडेट किया है. लेकिन, हमारे सामने चुनौती है कि उसे कैसे लागू करें और नतीजे हासिल करें ताकि ट्विटर को अपने उपभोक्ताओं, शेयरधारकों और आप सभी के लिए सबसे बेहतर बनाया जा सके.”

”दुनिया हमें इस समय देख रही है बल्कि पहले से भी कहीं ज़्यादा. कई लोगों के अलग-अलग नज़रिए और विचार होंगे क्योंकि वो ट्विटर और हमारे भविष्य की फिक्र करते हैं और इससे पता चलता है कि हम जो काम कर रहे हैं वो मायने रखता है. आओ, दुनिया को ट्विटर की पूरी क्षमता दिखाएं!”

ट्वीटर पर प्रतिक्रिया
ट्वीटर पर लोगों ने पराग अग्रवाल को टैग करते हुए कुछ मांग भी कर दी है.

राजशेखर झा नामक ट्विटर यूज़र लिखते हैं, “पराग अग्रवाल तब ही सच्चे भारतीय माने जाएंगे जब वो जैक के ट्विटर अकाउंट को सस्पेंड करेंगे और कंगना के ट्विटर अकाउंट को बहाल करेंगे।

image_pdfimage_print


सम्बंधित लेख
 

Back to Top