ताजा सामाचार

आप यहाँ है :

सलमान को जेल भिजवाने में इन चार लोगों की भूमिका अहम रही

बॉलीवुड के सुपरस्टार सलमान खान 1998 में किए काले हिरणों के शिकार के लिए दोषी करार दिए जा चुके हैं और फिलहाल जोधपुर की सेंट्रल जेल में बंद हैं। करीब 19 सालों तक काले हिरण के शिकार का मामला अदालत में चला, लेकिन सलमान कानून के शिकंजे से बच नहीं सके। बता दें कि सलमान खान को सजा दिलाने में 4 लोगों का अहम योगदान है। ये 4 लोग हैं पूनमचंद और चुगराम बिश्नोई, हरीश दुलानी और ललित बोरा।

सलमान को गोली चलाते देखाः गौरतलब है कि पूनमचंद और चुगराम बिश्नोई ने ही वन विभाग को दिए अपने बयान में सलमान खान को जिप्सी से काले हिरणों पर गोली चलाते देखने की बात कही थी। अपने बयान में पूनमचंद ने बताया कि 2 अक्टूबर 1998 की रात उन्होंने पटाखे फूटने की आवाज सुनी, इस पर उन्होंने चुगराम को जगाया और घर से बाहर निकले। पूनमचंद ने कहा कि उन्होंने सलमान को जिप्सी से काले हिरणों पर निशाना लगाते देखा था। जब उन्होंने सलमान को रोकने की कोशिश की तो सलमान उन्हें बंदूक दिखाकर वहां से निकल गए थे। बाद में पूनमचंद और चुगराम की गवाही इस मामले में काफी अहम साबित हुई।

जिप्सी का ड्राइवरः सलमान खान ने जिस जिप्सी पर सवार होकर काले हिरणों का शिकार किया था, उस जिप्सी को हरीश दुलानी चला रहे थे। जब हरीश को हिरासत में लेकर इस मामले की पूछताछ की गई तो हरीश ने बताया कि सलमान ने काले हिरण ही नहीं बल्कि चिंकारा का भी शिकार किया था। हरीश ने अपने बयान में ये भी बताया कि जब सलमान निशाना लगाते थे, तो बाकी कलाकार किस तरह से उन्हें निशाने पर ध्यान लगाने की बात कहते थे।

जांच अधिकारी ललित बोराः ललित बोरा ही वो पहले जांच अधिकारी थे, जिन्होंने काले हिरण शिकार मामले में सलमान समेत सभी सितारों से सबसे पहले पूछताछ की थी। दरअसल ललित बोरा उस वक्त असिस्टेंट फॉरेस्ट रेंजर के तौर पर जोधपुर में तैनात थे। 3 अक्टूबर 1998 की सुबह कुछ ग्रामीणों ने काले हिरण के शिकार की शिकायत जोधपुर जिला वन अधिकारी से की थी। इसके बाद 7 अक्टूबर 1998 को इस मामले की जांच ललित बोरा को सौंपी गई थी। ललित बोरा ने शिकार में इस्तेमाल की गई जिप्सी का पता लगाकर ड्राइवर हरीश दुलानी से पूछताछ की और फिर आरोप सिद्ध होने पर सलमान समेत सभी आरोपी कलाकारों को गिरफ्तार कर लिया। बता दें कि ललित बोरा ने 2002 में नौकरी छोड़ दी थी और फिलहाल वह एक अक्षय ऊर्जा कंपनी में मैनेजर पद पर तैनात हैं।

जब सैफ बन गए थे वीरप्पनः ललित बोरा ने एक न्यूज चैनल से बात करते हुए बताया कि जब वह फिल्मी सितारों से पूछताछ कर रहे थे, तब फिल्मी सितारें काफी गुस्सा हो गए थे। खासकर सैफ तो गुस्से में सामान को इधर-उधर फेंकने लगते थे। सैफ ने ललित बोरा से कहा था कि वीरप्पन को जानते हो, जब बोरा ने हां में जवाब दिया तो सैफ ने कहा कि तुम एक वन अधिकारी हो और मैं एक वीरप्पन हूं। सलमान ने भी ललित बोरा को मामला दबाने की बात कही थी, वरना इसके गंभीर अंजाम भुगतने की धमकी दी थी।

साभार- https://www.jansatta.com/ से



सम्बंधित लेख
 

Back to Top