आप यहाँ है :

‘स्वच्छता ही सेवा’ पखवाड़े का दूसरा दिन पश्चिम रेलवे पर ‘स्वच्छ संवाद’ की संकल्पना पर मनाया गया

फोटो कैप्शन: पहली पंक्ति की प्रथम तस्वीर में माननीय सामाजिक न्याय एवं अधिकारिता मंत्री श्री थावरचंद गेहलोत, पश्चिम रेलवे के महाप्रबंधक श्री ए. के. गुप्ता तथा रतलाम मंडल के मंडल रेल प्रबंधक श्री आर. एन. सुनकर के साथ रतलाम स्टेशन पर पौधारोपण करते हुए दिखाई दे रहे हैं। दूसरे चित्र में श्री गुप्ता बांद्रा टर्मिनस स्टेशन पर एक वरिष्ठ नागरिक को कपड़े का बैग देते हुए दिखाई दे रहे हैं तथा तीसरे चित्र में चर्चगेट स्टेशन पर सिंगल यूज़ प्लास्टिक के खिलाफ जागरूकता को दर्शाते नुक्कड़ नाटक का एक दृश्य। दूसरी पंक्ति के प्रथम एवं द्वितीय चित्र में विरार एवं उधना स्टेशन पर किये गये श्रमदान तथा अंतिम चित्र में पश्चिम रेलवे के प्रमुख मुख्य परिचालन प्रबंधक श्री शैलेन्द्र कुमार मुंबई सेंट्रल स्टेशन पर यात्रियों को कपड़े का बैग देते हुए दिखाई दे रहे हैं।

स्वच्छता ही सेवा पखवाड़े का दूसरा दिन सिंगल यूज़ प्लास्टिक को खत्म करने के विरुद्ध जागरूकता पैदा करने तथा प्लास्टिक के मुकाबले पर्यावरण मित्रवत वस्तुएँ अपनाने पर केन्द्रित रहा। 17 सितम्बर, 2019 को ‘स्वच्छता ही सेवा’ पखवाड़े का दूसरा दिन ‘स्वच्छ संवाद’ संकल्पना पर आधारित रहा, जिसमें पश्चिम रेलवे के महाप्रबंधक श्री ए. के. गुप्ता ने बांद्रा टर्मिनस स्टेशन पर विभिन्न यात्रियों से बातचीत की तथा उन्होंने स्वच्छता के महत्त्व से सम्बंधित संदेश दिया। उन्होंने बांद्रा टर्मिनस स्टेशन के कॉनकोर्स हॉल में विभिन्न रेल कर्मियों के साथ संवाद भी किया। श्री गुप्ता ने विभिन्न यात्रियों को कपड़े के बैग बाँटे तथा प्लास्टिक का इस्तेमाल न करने की अपील की। श्री गुप्ता ने बांद्रा टर्मिनस स्टेशन के परिसर में खाली पड़ी जमीन पर पौधारोपण भी किया। इस अवसर पर उन्होंने कोच केयर सेंटर सहित स्टेशन के विभिन्न क्षेत्रों का निरीक्षण भी किया। सिंगल यूज़ प्लास्टिक को समाप्त करने के उद्देश्य से पश्चिम रेलवे द्वारा बांद्रा टर्मिनस स्टेशन पर यात्रियों को 300 से ज्यादा कपड़े के बैग बाँटे गये।

पश्चिम रेलवे के मुख्य जनसम्पर्क अधिकारी श्री रविंद्र भाकर द्वारा जारी प्रेस विज्ञप्ति के अनुसार महाप्रबंधक श्री गुप्ता ने अपर महाप्रबंधक श्री वी. के. त्रिपाठी, प्रमुख मुख्य यांत्रिक इंजीनियर श्री अशेष अग्रवाल तथा मुंबई सेंट्रल मंडल के मंडल रेल प्रबंधक श्री सुनील कुमार एवं अन्य वरिष्ठ रेल अधिकारियों के साथ सफाई अभियान के विभिन्न पहलुओं पर चर्चा की। मुंबई उपनगरीय खंड पर प्रमुख विभागाध्यक्षों के नेतृत्व में अभियान चलाये गये। चर्चगेट स्टेशन पर प्रमुख मुख्य वाणिज्य प्रबंधक श्री राज कुमार लाल, मरीन लाइन्स स्टेशन पर प्रमुख मुख्य कार्मिक अधिकारी श्री संजय सूरी, चर्नी रोड स्टेशन पर प्रमुख वित्त सलाहकार श्रीमती उमा रानाडे, ग्रांट रोड स्टेशन पर प्रमुख मुख्य सिगनल एवं दूरसंचार इजीनियर श्री आदित्य कुमार, मुंबई सेंट्रल स्टेशन पर प्रमुख मुख्य परिचालन प्रबंधक श्री शैलेन्द्र कुमार, महालक्ष्मी स्टेशन पर प्रमुख मुख्य भंडार प्रबंधक श्री जे. पी. पांडेय, बांद्रा स्टेशन पर प्रमुख मुख्य यांत्रिक इंजीनियर श्री अशेष अग्रवाल, अंधेरी स्टेशन पर मुख्य प्रशासनिक अधिकारी (निर्माण) श्री यू. एस. एस. यादव, बोरीवली स्टेशन पर प्रमुख मुख्य बिजली इंजीनियर श्री संजीव भूटानी, वसई रोड स्टेशन पर प्रमुख मुख्य चिकित्सा निदेशक डॉ. विलास गुन्डा तथा विरार स्टेशन पर प्रमुख संरक्षा अधिकारी श्री नरेश लालवानी ने बृहद पैमाने पर श्रमदान का आयोजन किया गया। उल्लेखनीय है कि पश्चिम रेलवे पर 100 से अधिक गैर-सरकारी संगठनों तथा यूनियनों के सदस्यों के साथ 1 लाख से अधिक रेलवे अधिकारियों एवं कर्मचारियों ने 17 सितम्बर, 2019 को आयोजित श्रमदान में भाग लिया।

दूसरे दिन गैर-सरकारी संगठनों, चैरिटेबल संस्थाओं, स्काउट एंड गाइड, यूनियन तथा रेल कर्मचारियों को सम्मिलित करते हुए आसपास के रेलवे स्टेशनों पर स्वच्छता अभियान चलाने के लिए स्वच्छता तथा स्टेशनों का रख-रखाव विषय पर सेमिनारों का आयोजन किया गया। मुंबई मंडल में महालक्ष्मी स्थित ईएमयू वर्कशॉप में बड़े पैमाने पर श्रमदान का आयोजन किया गया। करीब 400 से अधिक अधिकारियों, सुपरवाइज़रों तथा रेल कर्मियों ने प्लास्टिक वेस्ट को इकट्ठा करने के इस अभियान में भाग लिया। वर्कशॉप में आयोजित इस कार्यक्रम में शंटिंग एरिया से 70 किलोग्राम प्लास्टिक कलेक्ट एवं सेगरीगेट किया गया। इस आयोजन में रेल कर्मियों को सिंगल यूज़ प्लास्टिक के स्वास्थ्य तथा पर्यावरण पर बुरे प्रभाव के बारे में जागरूक किया गया। महालक्ष्मी वर्कशॉप में मेसर्स बिसलेरी इंटरनेशनल प्राइवेट लिमिटेड के सहयोग से ‘बॉटल फॉर चेंज’ के प्रयासों के तहत प्लास्टिक वेस्ट मैनेजमेंट पर कार्यशाला का आयोजन किया गया। उल्लेखनीय है कि महालक्ष्मी वर्कशॉप ने ‘ज़ीरो स्क्रैप’ मिशन को पूरा किया है तथा भारतीय रेलवे पर ऐसा करने वाली यह पहली वर्कशॉप है।

गैर-सरकारी संगठनों, रेस्क्यू ऑर्गेनाइजेशन, ब्रह्मकुमारी, मानस फाउंडेशन तथा ओम प्रकाश फाउंडेशन के सहयोग से चर्चगेट, मरीन लाइन्स, चर्नी रोड, मुंबई सेंट्रल, दादर, अंधेरी, बोरीवली, विरार, पालघर, वलसाड तथा उधना स्टेशनों पर वरिष्ठ अधिकारियों, पर्यवेक्षकों तथा रेल कर्मियों द्वारा बृहद पैमाने पर श्रमदान का आयोजन किया गया। सिंगल यूज़ प्लास्टिक के इस्तेमाल के खिलाफ लोगों को जागरूक करने के लिए चर्चगेट तथा दादर स्टेशनों पर नुक्कड़ नाटक आयोजित किये गये। प्लास्टिक बैगों की अपेक्षा इको प्रें€डली विकल्प को प्रोत्साहित करने के लिए यात्रियों को कपड़े तथा जूट के बैग वितरित किये गये। श्री भाकर ने बताया कि रतलाम मंडल पर माननीय सामाजिक न्याय एवं अधिकारिता मंत्री श्री थावरचंद गेहलोत ने पश्चिम रेलवे के महाप्रबंधक श्री ए. के. गुप्ता तथा रतलाम मंडल के मंडल रेल प्रबंधक श्री आर. एन. सुनकर एवं वरिष्ठ रेल अधिकारियों के साथ रतलाम स्टेशन पर पौधारोपण किया। राजकोट मंडल में मंडल रेल प्रबंधक श्री परमेश्वर फुंकवाल ने मंडलीय कार्यालय के शाखा अधिकारियों तथा कर्मचारियों के साथ रेलवे कॉलोनियों, रेलवे क्रिकेट स्टेडियम तथा राजकोट स्टेशन पर लोगों तथा रेल कर्मियों को प्लास्टिक का इस्तेमाल न करने को मोटिवेट करने के लिए बृहद जागरूकता अभियान चलाया तथा श्रमदान भी किया। प्लास्टिक की पॉलिथीन का इस्तेमाल करते हुए पाये गये लोगों को इको प्रें€डली बैग दिये गये। ‘प्लास्टि को न कहें’ पर जोर देते हुए इससे सम्बंधी पैम्फलेट भी वितरित किये गये। इसके अतिरिक्त रेल सुरक्षा बल कर्मियों को बैरक में ट्रैक पर किसी भी प्रकार का प्लास्टिक वेस्ट न पें€कने के लिए समझाइश दी गई। ऐसी ही समझाइश लिनन केयर के कर्मचारियों को दी गई। आरआरसी कर्मचारियों को यह भी सलाह दी गई कि डॉक्यूमेंट वेरीफिकेशन के लिए आने वाले अभ्यर्थियों से अपने साथ प्लास्टिक की बोतलें तथा चिप्स के रैपर्स वापस ले जाने के लिए कहा जाये।

image_pdfimage_print


सम्बंधित लेख
 

Back to Top